रविवार, 18 अगस्त 2019

महिला जनप्रतिनिधि स्वयं कार्य करें - पटवारी व ग्रामविकास अधिकारी मुख्यालय पर 9 से 6-30 तक काम करें



20 सूत्री कार्यक्रम के लक्ष्यों को पूरा करे : शिक्षा राज्यमंत्री


श्रीगंगानगर, 17 अगस्त 2029. शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि ग्राम स्तर पर सेवारत पटवारी व ग्राम विकास अधिकारियों को मुख्यालय पर रहकर प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से सायं 6.30 बजे तक कार्यालयों में उपस्थित रहना होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कर्मिक एक प्रमुख कड़ी हैं। 

श्री डोटासरा ने कलैक्ट्रेट सभाहॉल में 20 सूत्री कार्यक्रम की समीक्षात्मक बैठक में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिक मुख्यालय पर नही रहेंगे तो, जो विकास का सपना हम देख रहे हैं वह पूरा नहीं  होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिकों का नियमित निरीक्षण किया जाए तथा ग्राम पंचों से उपस्थिति के संबंध में फीडबैक लिया जाए। उन्होंने कहा कि चुनी हुए महिला जनप्रतिनिधियों तथा राजकीय सेवा में सेवारत महिला कार्मिक स्वयं ही अपने कार्य को पूरा करें तथा वे सक्षम भी है, लेकिन कई स्थानों पर महिलाओं के पति कार्य करते हैं  या कार्य में दखलांदाजी करते हैं जो उचित नही है। उन्होने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में मेट को रोटेशन के अनुसार लगाए, अगर प्रशिक्षण की आवश्यकता है, तो उन्हे प्रशिक्षित किया जाए। 

राज्यमंत्री श्री डोटासरा ने कहा कि सम्बल ग्राम योजना के तहत जो 1409 गांव चिन्हित है, उनमें योजना के अनुसार मूलभूत सुविधाएं विकसित की जाए। ये वो गांव है, जिनमे सर्वाधिक अनुसूचित जाति के परिवार निवास करते है। उन्होंने  कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों के सम्पर्क में रहे तथ विकास से संबंधित कार्यो में किसी तरह का विलम्ब नहीं  होना चाहिए। उन्होने पर्यावरण की रक्षा के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के इस कार्य में आमजन की भागीदारी भी होनी चाहिए। उन्होने कहा कि जिन वृद्धजनों की पैंशन बंद है, उसे चालू की जाए तथा जो पात्र है, उनके नये आवेदन प्राप्त किए जाएं।  उन्होंने जिले में संचालित वृद्धाश्रम का लगातार निरीक्षण करने व उनकी सुविधाओं का ध्यान रखने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि इन केन्द्रों में पीड़ित मानव की सेवा होती है , उन्हें और उसे और बेहतर बनाना है।

श्रीर डोटासरा ने जिले में विद्युत आपूर्ति नियमित रखने, खराब मीटरों को बदलने तथा विद्युत छिजत में कमी लाने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि शिक्षण कार्य में लगे शिक्षकों, प्रधानाचार्यो से शिक्षा का कार्य ही लिया जाए। किसी कार्यालय में कार्मिकों के अभाव में कार्य प्रभावित हो रहा हो तो मंत्रालयी कार्मिकों  की सेवा ली जाए। उन्होंनेे कहा कि माननीय मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप अधिकारी जनता की समस्याओं को सुने तथा उसका समाधान करने का पूरा प्रयास करें।  हमारा दायित्व है कि हम जनता की आशाओं पर खरे उतरें।  उन्होने स्वीकृत विकास कार्यो को पूर्ण करने तथा पूर्ण कार्यो की यूसी व सीसी जारी करने में विलम्ब न करने के निर्देश दिए। 

गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़ ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में श्रमिकों को पूरी मजदूरी मिले, इसके लिए अधिकारी उनसे टॉस्क पूरा करवाए। उन्होंने शहर में सीवरेज कार्यो में तेजी लाने का सुझाव दिया। श्री गौड ने कहा कि सीवरेज के अधूरे कार्यो से आमजन को परेशानी हो रही है, जो सड़के, नालियां अधूरी है, उन्हे पूरा किया जाए। 

सादुलशहर विधायक श्री जगदीश जांगिड ने सुझाव दिया कि महात्मा गांधी नरेगा में जो मेट लम्बे समय से चल रहे है, उन्हे बदला जाए। मेट के नये पेनल के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाए। उन्होने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन गांव में ही बांटने का आग्रह किया। उन्होने विद्युत आपूर्ति तथा विद्युत ट्रिपिंग की समस्या भी बैठक में रखी। 

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि 20 सूत्री कार्यक्रम में रोजगार सृजन के लिए 22 लाख के  विरूद्ध 45 लाख रूपये की राशि युवाओं को उपलब्ध करवाई गई है। जिले में महिला समूहों का गठन किया जाकर उन्हें बैंको से वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई गई है। जिले में आयोजित रात्रि चौपालों में पात्र  नागरिकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ दिया जाता है। जो आवेदन पत्र लम्बित हैं उनका निस्तारण विकास अधिकारियों के माध्यम से करवाया जाएगा। प्रधानमंत्री आवास निर्माण में जिला राज्य में प्रथम स्थान पर है। 

जिला कलक्टर ने बताया कि वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित कर पौधे लगाने का कार्य वन विभाग के अलावा शिक्षा विभाग तथा अन्य विभागों द्वारा किया जा रहा है। गरीब परिवारों को बिजली उपलब्ध करवाने के 1071 के लक्ष्य के विपरित 1462 गरीब परिवारों को बिजली दी गई है।

पुलिस अधीक्षक हेमन्त शर्मा ने जिले की कानून व्यवस्था की जानकारी दी। 

बैठक में सूरतगढ विधायक  रामप्रताप कासनिया, मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ स्वामी, एडीएम प्रशासन  ओ.पी. जैन, एडीएम सतर्कता राजवीर सिंह, उपवन संरक्षक पयोंग शशि, विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता  के.के. कस्वा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता सुशील बिश्नोई, पेयजल विभाग के अधीक्षण अभियन्ता बलराज शर्मा सहित विभिन्न विभागों अधिकारी उपस्थित थे। 

----------




शुक्रवार, 16 अगस्त 2019

अटल बिहारी वाजपई अमर रहे अमर रहे- सूरतगढ़ में श्रद्धांजलि



 - करणीदानसिंह राजपूत -

 सूरतगढ़ 16 अगस्त 2019.

 अटल बिहारी वाजपेई की प्रथम पुण्यतिथि पर यहां महाराणा प्रताप चौक पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित हुआ।

 विधायक रामप्रताप कासनिया के नेतृत्व और गौरव बलाना के संयोजन आह्वान पर शाम को 6:30 बजे भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी कार्यकर्ता व बाजपेयी तथा भाजपा समर्थक लोग एकत्रित हुए। 

वाजपेई के चित्र पर पुष्प अर्पित किए गए।  इस अवसर पर अटल बिहारी वाजपई अमर रहे अमर रहे के नारे लगाए जाते रहे नारों के साथ वाजपेयी के चित्र पर पुष्पांजलि दी जाती रही।

 विधायक रामप्रताप कासनिया, पूर्व पालिकाध्यक्ष श्रीमती आरती शर्मा, जिला महामंत्री मुरलीधर  पारीक,भाजपा महिला नेता श्रीमती रजनी मोदी, अशोक आसेरी,सुभाष सैनी, टंडन,गिरी,पालिका उपाध्यक्ष पवन औझा, तुलसी राम, सुभाष सोनी, कृष्ण छींपा,मोर्चों के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं  ने पुष्पांजलि अर्पित की।

श्रीगंगानगर मेंअखिल भारतीय ज्योतिष सम्मेलन एवं सम्मान समारोह

श्रीगंगानगर, 16 अगस्त 2019.

अभिज्ञान वैदिक संस्थान श्रीगंगानगर की ओर से पहला अखिल भारतीय ज्योतिष सम्मेलन एवं सम्मान समारोह 17 व 18 अगस्त को श्रीगंगानगर के एल ब्लॉक हनुमान मंदिर में आयोजित होगा।
संस्थान के अध्यक्ष एडवोकेट राजेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि श्रीगंगानगर के इतिहास में पहली बार होने वाले इस सम्मेलन में देश के ख्याति प्राप्त ज्योतिषाचार्य, वास्तुविद् एवं विद्वान शामिल होंगे।
सम्मेलन में अन्य प्रदेशों से आने वाले विद्वानजन ज्योतिष, वास्तु एवं हस्तरेखा पर वक्तव्य देगें।
संस्थान के सचिव डॉ. एस.के. त्रिपाठी ने बताया कि सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य स्थानीय ज्योतिष आचार्यों, वास्तुशास्त्रियों के ज्ञान में बढोतरी करना, समय-समय पर इस प्रकार के सम्मेलन आयोजित कर समाज, देश के लिये काल की गणना कर उसकी सटीक भविष्यवाणी करने का है। 
संस्थान के कोषाध्यक्ष नरेश जैन ने बताया कि सम्मेलन के उद्घाटन सत्र के मुख्य अतिथि ओद्यौगिक न्यायाधिकरण और श्रम न्यायालय श्रीगंगानगर के न्यायाधीश श्री रवि प्रकाश शर्मा, विशिष्ट अतिथि फोनिक्स हाईट्स लिमिटेड न्यू मुम्बई के चेयरमेन राजेन्द्र सत्यनारायण व परिवार कल्याण समिति के पूर्व अध्यक्ष वीरेन्द्र वैद होगें। 
कार्यक्रम की अध्यक्षता समाजसेवी विजय गोयल करेगे। सम्मेलन के दौरान होने वाली भजन संध्या में नई दिल्ली के भजन गायक मांगेराम अत्री अपनी प्रस्तुतियां देगें। 
इस सम्मेलन में भाग लेने के इच्छुक वास्तुशास्त्री, हस्तरेखा विशेषज्ञ व ज्योतिष संस्थान के कार्यालय शर्मा कम्प्यूटर्स10 लक्कड़ मंडी रोड टी प्वाईंट श्रीगंगानगर पर अपना पंजीयन करवा सकते है। 
-------------

माइक्रोवेव ओवन स्वास्थ्य का दुश्मन - कारण जान दंग हो जाएंगे

जापान सरकार ने इस वर्ष के अंत से पहले देश में सभी  *माइक्रोवेव ओवन*  का निपटान करने का फैसला किया है और सभी नागरिक और संगठन जो आवश्यकता को पूरा नहीं करते हैं, उन्हें जुर्माना और जेल की शर्तों के साथ धमकी दी जाती है।

राइजिंग सन की भूमि में "माइक्रोवेव ओवन" पर प्रतिबंध का कारण हिरोशिमा विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा किया गया एक शोध था, जहां उन्होंने पाया कि "रेडियो तरंगें" 20 वर्षों में नागरिकों के स्वास्थ्य को अधिक नुकसान पहुंचाती हैं, खासकर जब माइक्रोवेव ओवन का उपयोग करना जो 1945 में हिरोशिमा एन नागासाकी पर अमेरिकी परमाणु बमों की तुलना में अधिक हानिकारक है।विशेषज्ञों के अनुसार, माइक्रोवेव ओवन में गर्म किए गए भोजन में बहुत ही अस्वास्थ्यकर कंपन और विकिरण होते हैं।

दरअसल, जापान में "माइक्रोवेव ओवन" के सभी सबसे बड़े निर्माताओं को बंद किया जा रहा है, जहां यह उत्पाद निर्मित होता है।

2021 में, "माइक्रोवेव ओवन" का उत्पादन रोक दिया जाएगा, जैसा कि दक्षिण कोरिया में घोषणा की गई है, और चीन ने 2023 में इस प्रकार की तकनीक को छोड़ने की योजना बनाई है।

*********

काशीरा कैंसर केंद्र में कैंसर की रोकथाम पर एक सम्मेलन आयोजित किया गया था, सम्मेलन के अंत में की गई सिफारिशों के अनुसार, इन खाद्य पदार्थों से बचा जाना चाहिए:


1. परिष्कृत तेल

2. पशु उत्पत्ति का दूध (अनुशंसित सोया दूध)

3. खाद्य क्यूब्स (चिकन शोरबा मसाले जैसे मैगी और जैसे)

4. सोडा (प्रति लीटर चीनी के 32 टुकड़े)

5. *परिष्कृत चीनी*

6. माइक्रोवेव ओवन

7. इकोकार्डियोग्राफी को छोड़कर जन्म से पहले मैमोग्राम न करें

8. बहुत संकीर्ण अंडरवियर n ब्रा

9. शराब

10. आइस्ड फूड को डिसाइड करना और फिर उसे रिफ्रीज़ करना

11. प्लास्टिक की बोतलों में रेफ्रिजरेटर से पीने का पानी

12. गोलियां क्योंकि यह महिलाओं में हार्मोनल सिस्टम को बदलती है और कैंसर का कारण बनती है

13. शेविंग के बाद उपयोग किए जाने विशेष डिओडोरेंट क्योंकि वे कैंसर का कारण बनते हैं

14. *व्हाइट शुगर* किसी भी रूप में (कैंसर कोशिकाओं को मुख्य रूप से चीनी पर फ़ीड)। कैंसर के रोगियों को अपने आहार में चीनी से बचना चाहिए।



*सम्मेलन की सिफारिशों के अनुसार, वे इन्हें अपने आहार में शामिल करने की सलाह देते हैं*


1. सब्जियाँ

2. शहद का उपयोग चीनी के बजाय मध्यम रूप से किया जाता है

3. प्लांट प्रोटीन (मांस के बजाय सेम)

4. दांत ब्रश करने से पहले खाली पेट पर शरीर के तापमान पर दो कप पानी

5. भोजन गर्म होना चाहिए और बहुत गर्म नहीं होना चाहिए

6. एलोवेरा जूस + अदरक + अजमोद + अजवाइन + ब्रोमेलिन। हम उन्हें मिश्रण करने और उन्हें खाली पेट पीने की सलाह देते हैं

7. प्रतिदिन गाजर का रस

8. भोजन के साथ टमाटर, लहसुन n प्याज



ध्यान दें : *अमेरिकन फिजिशियन एसोसिएशन ने पाया कैंसर के कारण*


1. प्लास्टिक के कप में चाय, कॉफी या कुछ भी गर्म न पीएं

2. कागज या कार्डबोर्ड या प्लास्टिक की थैली में लिपटे हुए कुछ भी न खाएं (उदाहरण के लिए: तले हुए आलू)

3. प्लास्टिक या माइक्रोवेव के व्यंजन न खाएं


😇

*निम्नलिखित नोट करना चाहते हैं:*


जब प्लास्टिक गर्मी के संपर्क में होता है, तो रासायनिक यौगिक जो 52 प्रकार के कैंसर का कारण बन सकते हैं।


इस प्रकार, आपको सभी प्रकार के शीतल पेय जैसे "कोला, पेप्सी, एवी, फांटा एन सभी केंद्रित रस पीने से बचना चाहिए।


ताजा अनानास खाएं और कोला के साथ अनानास के रस के मिश्रण से बचें क्योंकि यह मिश्रण घातक है क्योंकि यह लोगों को मौत का कारण होगा क्योंकि उन्हें लगता है कि इसका कारण विषाक्तता है और वे इस घातक कॉकटेल के अपने अज्ञान का शिकार हैं!


बाएं कान के माध्यम से कॉल का जवाब दें और हेडफ़ोन का बेहतर उपयोग करें


ठंडे पानी से दवा न पिएं


शाम 7 बजे के बाद भारी भोजन न करें


सुबह में पानी पीएं शाम को कम,

खाने के तुरंत बाद एक क्षैतिज स्थिति (लेट / नींद) न लें


जब आपकी फोन की बैटरी लगभग मृत हो जाए, तो फोन को न उठाएं, क्योंकि यह रेडिएशन चार्ज बैटरी से 1000 गुना ज्यादा मजबूत है।


गुरुवार, 15 अगस्त 2019

जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति- बसंत विहार कालोनी पार्क में बैंचें भेंट


* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 15-8-2019.

स्वतंत्रता दिवस पर 15 अगस्त 2019 को आज वसंत विहार पार्क में स्वर्गीय जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति में बैंचें भेंट की गई। इस पार्क में शाम को कॉलोनी के बुजुर्ग व महिलाएं आदि घूमने आते हैं। बड़े लोगों के बैठने के लिए  बैठने की सुविधा रहेगी। 

जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति के में आयोजित कार्यक्रम में उनकी लोकप्रियता और जीवनी की खास बातें बताई गई कि वे मित्रों के मित्र और समाजसेवी लोगों के साथी रहे थे।



 श्री जगदीश चंद्र शर्मा का देहांत 17 अगस्त 2016 को हुआ था। इसी 17 अगस्त को तृतीय पुण्यतिथि आने वाली थी और इसी अवसर को ध्यान में रखते हुए स्वतंत्रता दिवस पर उनकी स्मृति में बैंचें भेंट की गई।  

इस अवसर पर शर्मा

 जी के पुत्र मनीष व पंकज,पुत्रवधुएं व पोते मित्रगण व कॉलोनी वासी उपस्थित थे।

स्वर्गीय जगदीश चंद्र शर्मा मोटर मार्केट के व्यवसायी थे लेकिन वे समाजोपयोगी सामग्री पर लेख लिखते थे जो नवभारत टाइम्स जयपुर व दिल्ली व  से प्रकाशित होने वाली पत्र पत्रिकाओं में छपते थे। आकाशवाणी से भी उनकी वार्ताएं प्रसारित हुआ करती थी। सामान्य रूप से लोग उन्हें व्यवसायी मानते रहे और उनके लेखन कार्य के बारे में कुछ लोग ही जानते हैं,जो लेखन आदि से जुड़े हुए हैं। 

जगदीश चंद्र शर्मा पहले राजस्थान सरकार की इंजीनियरिंग सेवा में थे और फेमिन वर्क ( आकाल राहत) के समय उन्होंने यह माना कि भ्रष्टाचार है इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़ कर सन 1972 में स्पेयर पार्ट्स की दुकानदारी शुरू की। उनका व्यवसाय शर्मा मोटर स्टोर (पुराना मोटर मार्केट) चल रहा है।


बुधवार, 14 अगस्त 2019

स्वतंत्रता दिवस पर एसडीएम रामावतार कुमावत सम्मानित होंगे

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ के उपखंड अधिकारी रामावतार कुमावत को जिला मुख्यालय पर आयोजित स्वतंत्रता दिवस समारोह 15 अगस्त 2019 को श्रीगंगानगर में सम्मानित किया जाएगा।

श्री कुमावत को यह सम्मान विगत लोकसभा आम चुनाव 2019 में श्रेष्ठ कार्य संपादन पर दिया जाएगा।लोकसभा चुनाव में मतदाताओं को अधिक से अधिक मतदान करने के अनेक कार्यक्रम विभिन्न संस्थाओं के व मीडिया के सहयोग से चलाए जिससे सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र में मतदान प्रतिशत अन्य क्षेत्रों से अधिक रहा था।

******************************

सूरतगढ़ पालिका में अध्यक्ष का महाघोटाला-जानें क्या हुआ?

* करणीदानसिंह राजपूत *

विधायक रामप्रताप कासनिया द्वारा विधानसभा में सीवरेज सिस्टम और नगर पालिका में हो रहे भ्रष्टाचारों का वक्तव्य देना और उसके बाद नगरपालिका बैठक में इन्हीं भ्रष्टाचारों को दोहराना बहुत गंभीर है। 

इसे भारतीय जनता पार्टी की अंदरूनी कलह और राजनैतिक लड़ाई बता कर छोड़ा नहीं जा सकता।

भारतीय जनता पार्टी के कुछ लोग कह रहे हैं के यह पार्टी के अंदर का गुटों का मामला है और इस पर कार्यवाही बचाव की की जाए क्योंकि कुछ दिनों के भीतर ही फिर से नगर पालिका बोर्ड के अध्यक्ष और पार्षदों के चुनाव में जनता के बीच जाना है।

जनता के बीच जाकर भ्रष्टाचार के मामले में सीवरेज के मामले में भारतीय जनता पार्टी के लोग वोट मांगते वक्त क्या वक्तव्य देंगे? क्या बात करेंगे? किस तरह से वोट मांगेंगे? यह भारतीय जनता पार्टी को सोचना है कि वह नगर पालिका बोर्ड बनने के बाद से अब तक चुप क्यों रही?

भारतीय जनता पार्टी के नगर मंडल का दायित्व था और अभी भी है कि वह जनता के बीच भ्रष्टाचार की उठ रही आवाजों को उच्च स्तरीय संगठन अधिकारियों तक पहुंचाता। विधायक द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद तो हर हालत में पार्टी में यह हालात रखने चाहिए थे।

भ्रष्टाचार का मामला आगे भी जारी रहे यह जनता को स्वीकार नहीं है। रामप्रताप कासनिया के आरोपों पर केवल पार्टी की अंदरूनी गुटबाजी कहकर छोड़ना अब संभव नहीं होगा। चुनाव सिर पर हैं और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर स्थानीय भाजपा को गंभीर निर्णय और अपना स्टैंड जनता के सामने स्पष्ट रूप से रखना ही पड़ेगा।

 रामप्रताप कासनिया ने चुनाव से पहले भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज लगाते हुए चुनाव लड़ा था। रामप्रताप कासनिया का यह स्टैंड बदला नहीं जा सकता। कासनिया का यह स्टैंड आगामी नगर पालिका चुनाव में भी कायम रहेगा। जनता भ्रष्टाचार मुक्त बोर्ड चाहती है।

 ऐसी स्थिति में जो लोग आज सीवरेज सिस्टम और अन्य भ्रष्टाचार के कार्यों में पालिका के सहयोगी बन करके खड़े हैं उनका अस्तित्व नगर पालिका चुनाव में खत्म हो जाएगा। वे नगर पालिका चुनाव में दो कदम भी चल नहीं पाएंगे।

 भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर ही 


अध्यक्ष का चुनाव होगा सीधे जनता करेगी। सभी पार्टियां अपने-अपने अध्यक्ष प्रत्याशी उतारेगी। भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष प्रत्याशी जो भी होगा उसमें वर्तमान विधायक रामप्रताप कासनिया का अन्य लोगों से अधिक प्रभाव रहेगा। एक प्रकार से कहना चाहिए कि विधायक की इच्छा ही सर्वोपरि रहेगी। पिछली बार विधायकों को फ्री हैंड रखा गया था ताकि नगर मंडल आदि में वे अपने हिसाब से संगठन को बना सके जिससे आपस में कोई विरोधाभास ने हो। अब भारतीय जनता पार्टी  प्रदेश में सत्ता नहीं है ऐसी स्थिति में इस निर्णय को नए सिरे से तो लागू नहीं किया जा सकता। वही पुराना सिद्धांत ही लागू होगा कि विधायक फ्री हैंड रहे। ऐसी स्थिति में अध्यक्ष के टिकट तय करने में चाहे अन्य पदाधिकारी पर्यवेक्षक रहेंगे लेकिन विधायक का निर्णय ही सर्वोपरि होगा। 

विधायक रामप्रताप कासनिया ने भ्रष्टाचार के विरुद्ध अपनी आवाज ही नहीं उठाई है बल्कि एक प्रकार का जन जागरण शुरू किया हुआ है। इस जन-जागरण को अब वर्तमान पालिका अध्यक्ष वर्तमान पार्षद आदि अपने लाभ के लिए पलट सकने में कामयाब नहीं हो सकते। 

नगर पालिका की 10 अगस्त की बैठक स्थगित कर दी गई इस बारे में कुछ पार्षदों ने कहा है कि रामप्रताप कासनिया के कहने से उन्होंने विरोध किया। केवल 8 पार्षद इस वक्तव्य में शामिल हुए। नगर पालिका बैठक का सिस्टम है कि पिछली बैठक कार्यवाही का समर्थन और असमर्थ करने का प्रस्ताव प्रथम क्रम पर होता है।  इसी पर आरोप लगा कि जो बोलते हैं वह नहीं लिखा गया और पहले भी लिखा नहीं गया। बोर्ड की बैठक की कार्यवाही मनमर्जी से लिखी गई और पहले भी लिखी जाती रही। 

जो पार्षद अब कहते हैं कि शहर का विकास चाहते हैं उनसे सीधा सवाल है कि पिछले 4 साल बीत जाने के बाद भी उन्होंने शहर के विकास की बात के नाम पर केवल भ्रष्ट ठेकेदारी के मामले में अपने बात को साझेदारी के रूप में रखा। नगर पालिका के पार्षद बताएं कि आज वे नगर पालिका अध्यक्ष काजल छाबड़ा को ईमानदार होने की बताते हैं। इन्हीं पार्षदों में से अधिकांश ने लगातार मांग रखी थी कि नगरपालिका बोर्ड में नियमानुसार निर्माण समिति वित्त समिति का और अन्य समितियों का गठन कराया जाए लेकिन बार-बार की मांग पर काजल छाबड़ा ने समितियां गठित नहीं की और अपने मनमर्जी चलाई। पार्षद ही बताएं कि अध्यक्ष ईमानदार हो तो सबसे पहले वह नियमानुसार इन कमेटियों को गठित करवाया जाता ताकि नगर पालिका में ईमानदारी के साथ हर कार्य हो। 

 पार्षद विकास का कार्य कहते हैं पूरे 5 साल में इन कमेटियों का गठन नहीं हुआ। कमेटियों में पार्षद सदस्य होते हैं और उन कमेटियों की राय बोर्ड के अंदर रखी और मानी जाती है। निर्माण समिति और वित्त समितियां होती तो सिवरेज निर्माण व अन्य निर्माण में उनकी राय प्रमुख होती। पूरे 5 साल मनमर्जी चलाई जाती रही। अध्यक्ष की मनमर्जी को विकास नहीं माना जा सकता। जनता भ्रष्टाचार मुक्त नगरपालिका बोर्ड चाहती है।

***********




मंगलवार, 13 अगस्त 2019

श्रीगंगानगर-अमृतसर नई इंटरसिटी गाड़ी के प्रयास जारी हैं

* करणीदानसिंह राजपूत *

श्री गंगानगर अमृतसर के बीच सप्ताह में पांच दिन वायां अबोहर, मलोट, बठिण्डा, धूरी, जालंधर, लुधियाना, ब्यास, नई इंटरसिटी ट्रेन को शुरू करवाने के लिये प्रयास जारी है।


----------

अमृतसर से बीकानेर (वाया श्रीगंगानगर) मंजूर गाड़ी चलाने की तैयारी अंतिम रूप में

 *करणीदानसिंह राजपूत*
उतर रेलवे प्रशासन अमृतसर से बीकानेर (वाया श्रीगंगानगर) गाड़ी चलाने  को अंतिम रूप देने में जुटा है। इसका लाभ
 श्रीकरणपुर, रायसिंहनगर, सूरतगढ को मिलेगा। 
नई रेल चलाने की योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है। यह गाड़ी भी मंजूर हो चुकी है। विगत वर्ष आईआरटीटीसी (इंडियन रेलवे टाईम टेबल कमेटी) की बैठक में इस गाड़ी के संचालन का प्रस्ताव रखा गया था।



जम्मूतवी बठिंडा गाड़ी का जोधपुर तक विस्तार मंजूर-सबसे पहले समाचार


^^ करणीदानसिंह राजपूत ^^

श्रीगंगानगर, 13 अगस्त 2019.पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री एवं सांसद श्री निहालचंद के अथक प्रयासों से बठिण्डा-जम्मूतवी गाड़ी के विस्तार को रेल प्रशासन की ओर से मंजूरी मिल गई है।

 जेडआरयूसीसी के सदस्य श्री भीम शर्मा ने बताया कि सांसद की ओर से गाड़ी संख्या 19225/19226 जम्मूतवी-बठिण्डा-जम्मूतवी के विस्तार की मांग की गई थी। रेलवे बोर्ड से इस गाड़ी के बठिण्डा के बाद बीकानेर तक विस्तार की मांग की गई थी। लेकिन समय सारणी के हिसाब से यह गाड़ी अतिरिक्त कोच की मदद से जोधपुर तक विस्तार ले गई। यह गाड़ी विस्तारित होने के बाद श्रीगंगानगर संसदीय क्षेत्र के संगरिया, हनुमानगढ, सूरतगढ़ क्षेत्र की जनता को बड़ा लाभ मिलेगा। इन क्षेत्रों के लोग अब जल्द ही कोटकपूरा, फिरोजपुर, कपूरथला, जालंधर, डेरा ब्यास, अमृतसर, बटाला, धारीवाल, गुरदासपुर, पठानकोट, कठुवा व जम्मूतवी के लिये नई ट्रेन के सफर कर लाभ प्राप्त कर सकेगें। इस संबंध में रेल प्रशासन इस गाड़ी के संचालन की तैयारियां कर रहा है। 

********




रविवार, 11 अगस्त 2019

पान मसाला में जानलेवा हजारों केमिकल- नपुंसकता,कैंसर, दिल व अन्य बीमारियां-सचेत हो जाएं

देश भर में खतरनाक गुटखे पर प्रतिबंध लगाने के बाद बाजार में साधारण पान मसाला आया है वह भी खतरों से खाली नहीं है।
पान मसाले में चालीस प्रकार के केमिकल मिलाए जाते हैं वे आपस में मिलने के बाद 3000 से ज्यादा रूप धारण कर लेते हैं और मानव जीवन के लिए भयानक खतरा पैदा करते हैं।

साधारण पान मसाले के खाने से इन रसायनों से नपुंसकता, कैंसर, ब्लड प्रेशर, हृदयगति तेज होने, दिल का दौरा पड़ने, घबराहट होने, चक्कर आने और छाती के दर्द की बीमारियां होने का खतरा हो जाता है। 

पान मसाले की छोटी सी पुड़िया में 40 तरह के रसायन मिलाए जाते हैं,जो आपस में मिलकर 3000 से ज्यादा रूप धारण कर लेते हैं। ये मानव जीवन के लिए लगातार खतरा पैदा कर रहे हैं। देश में अनेक प्रकार के ब्रांड चल रहे हैं।

लोगों को पान मसाले के स्वाद की लत लगाने के लिए मैग्निशियम कार्बोनेट को 10 गुना तक ज्यादा मिलाया जा रहा है। इंटरनेशनल जर्नल आफ करंट फार्मा की रिसर्च में यह भयानक तस्वीर सामने आई है। हानिकारक केमिकल में अनडाइल्यूट हाइड्रोक्लोरिक एसिड, मैग्नीशियम कार्बोनेट, शीशा और तांबा जैसी वस्तुएं /तत्वों का पान मसाले में प्रयोग पूरी तरह से प्रतिबंध है।

रही सही कसर सुपारी चूना नकली कथा आर्टिफिशियल फ्लेवरिंग जैसे केमिकल ने पूरी कर देते है। पान मसाले का देश में करीब 16 हजार करोड़ का प्रतिवर्ष का कारोबार है।
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर साल कैंसर के मरीज बढ़ रहे हैं।कैंसर रोगियों की संख्या सन 2016 में 14,51,000 थी जो 2017 में बढ़कर 15,17,000 हो गई। सन 2018 में यह फिर बढ़ी और 15 लाख 86 हजार हो गई।
अधिकांश लोगों में कैंसर का कारण पान मसाला ही है। 
पान मसाले में घातक केमिकल मुंह के अंदर कोमल त्वचा पर खतरनाक प्रभाव डालते हैं किसी में जल्दी तो किसी में कुछ वर्षों में इसका असर दिखता है। 

अब लोगों को यह सोचना है कि पान मसाला खाने वाले का मुंह पूरा खुल पा रहा है या नहीं। मुंह में कोमलता है या कठोरता आ चुकी है? सावधान रहें?

पान मसाला खाना शरीर के लिए आवश्यक पदार्थ नहीं है।( मीडिया रिपोर्टों पर आधारित)

मानसिक और नशा रोगों का इलाज:माईंड केअर क्लिनिक सूरतगढ़- डा.सुरेश परिहार

* करणीदानसिंह राजपूत *


सूरतगढ़ 11 अगस्त 2019.

मनोरोग विशेषज्ञ डॉक्टर सुरेश परिहार ने आज अपने चिकित्सालय माईंड केअर क्लिनिक के उद्घाटन अवसर पर पत्रकार वार्ता में कहा कि मानसिक रोग और नशा करने वाले लोगों का इलाज किया जा सकता है।उन्होंने कहा कि मानसिक रोग से ग्रस्त लोगों की पहचान होना बहुत जरूरी है और यह समाज में जागरूकता से ही संभव है। अनेक प्रकार की बीमारियों से ग्रस्त व्यक्ति किसी बीमारी का ईलाज करवाता रहता है लेकिन उसको मालूम ही नहीं हो पाता कि वह किसी मानसिक रोग जैसी अवस्था में पहुंच रहा है।  सिर दर्द को सामान्य मान करके ही दवाइयां ली जाती रही है लेकिन सर दर्द भी अनेक प्रकार का होता है यह रोगी को बिना जांच और परामर्श के मालूम नहीं होता। उन्होंने कहा कि समाज में मनोरोगी को इलाज के लिए दो चार जगह ले जाने के बाद घर परिवार वाले मान लेते हैं कि इसका इलाज कहीं भी संभव नहीं है और भी इलाज बंद करवा देते हैं। अनेक बार इस प्रकार के रोगी को घरों में बांध कर के रख दिया जाता है जो एक बहुत बड़ा अत्याचार है। यदि रोगी की पहचान हो जाए तो उसको परामर्श और इलाज देकर के पूर्ण स्वस्थ किया जा सकता है। स्वस्थ होने पर व्यक्ति अपना काम अपना व्यवसाय आदि खुद बेहतर तरीके से संभालने वाला बन जाता है। 

डॉ परिहार ने बताया कि बेरोजगारी से भी व्यक्ति अनेक रोगों का शिकार हो जाता है। 

उन्होंने व्यक्ति की मानसिक दशा का वर्णन करते हुए कहा कि व्यक्ति जब खुश होता है तो वह स्वयं को धरती से कुछ ऊपर चलता हुआ महसूस करता है और जब वह अवसाद में ग्रस्त होता है तो वह धरती के नीचे चलता महसूस करता है और सामान्य व्यक्ति धरती पर चलता है। यह सब व्यक्ति के रोग की स्थितियां प्रकट करता है। इस प्रकार के रोगियों को भी पहचाना जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अनेक परेशानियों के कारण व्यक्ति नशा करने लगता है और उसे मालूम नहीं कि वह नशा उस के शरीर को मन को कितना नुकसान पहुंचा रहा है। नशा सामान्य रूप से शराब तंबाकू आदि का और उससे आगे खतरनाक ड्रग्स का होता है जो आदमी को ऐसा जकड़ लेता है कि बाद में छुड़ाने में परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि स्मैक जिसे पंजाब में चिट्टा कहते हैं बहुत फैला हुआ है और श्रीगंगानगर में भी अनेक स्थानों पर इसके व्यवसाय करने वाले लोग मिलते हैं।

पहले लोगों को मुफ्त देकर के 

आदत डाली  जाती है किया जाता है और बाद के अंदर उस व्यक्ति को व्यवसाय में जकड़ लेते हैं और उसे रोक दिया जाता है कि वह अन्य लोगों को अपना साथी संगी बनाए ताकि उसका जो खर्चा हुआ है मुफ्त में स्मैक मिलता रहे उन्होंने कहा कि स्थिति है नशे से लोगों को बचाया जाना चाहिए क्योंकि इससे भी मनो रोग से पीड़ित हो जाते हैं डॉ परिहार ने बताया कि नशे के कारण व्यक्ति कुछ हालात में अपराधी तक हो जाता है। घरवाले नशे के लिए पैसा नहीं देते तो उनके साथ मारपीट करता है और कई बार हत्या तक कर देता है।

उन्होंने कहा कि मनो रोगों की चिकित्सा और नशा करने वाले रोगो के परामर्श  का अभियान विभिन्न समाजसेवी संस्थाओं के माध्यम से चलाया जाएगा ताकि जनता रोगों के प्रति जागरूक हो।


डॉ परिहार का चिकित्सालय परामर्श केंद्र ' माईंड केअर क्लिनिक 'सुप्रसिद्ध एडवोकेट पूर्व विधायक हरचंद सिंह सिद्धू की कोठी के परिसर में बीकानेर रोड पर दिनांक 11 अगस्त 2019 से शुरू हुआ है। यहां हर सप्ताह रविवार को परामर्श दिया जाएगा।

डॉ परिहार ने बताया कि यहां पूरा परामर्श पूछताछ करने के बाद रोगी का इलाज किया जाएगा ताकि रोग ठीक होने के उपरांत व्यक्ति समाज में सामान्य जीवन जी सके। उन्होंने एक खास बात कही की समाज और परिजनों को मनोरोगी और नशा रोगी को प्रताड़ित करते रहने के बजाय उसका इलाज करवाना चाहिए ताकि वह सामान्य जीवन में लौट सके।



सूरतगढ़ नगरपालिका में भ्रष्टाचार की शिकायत किसे करें? गंदे नाले में मजे करते पार्षद और कर्मचारी



* करणीदानसिंह राजपूत *


नगर पालिका में एक बोर्ड लगा हुआ है कोई व्यक्ति कर्मचारी पैसे मांगता है या काम नहीं करता तो आप शिकायत अध्यक्ष से करें। 

 एक तरफ यह बोर्ड लगा है और इस बोर्ड के लगाने के साथ ही नगर पालिका में भ्रष्टाचार का नाला बह रहा है।

नगर पालिका में भ्रष्टाचार के दो कांड स्पष्ट हुए हैं लेकिन पालिकाध्यक्ष ने उस पर कोई एक्शन नहीं लिया बल्कि भ्रष्टाचारियों को संरक्षण दिया।

 स्पष्ट रूप से अध्यक्ष सहित पालिका बोर्ड जिसमें पार्षद और विधायक सदस्य हैं वे सभी किसी न किसी कारण से चुप हैं।

नगर पालिका का एक कर्मचारी राजकुमार छाबड़ा डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेने के कांड में एसीबी में फंसा मुकदमा बना सस्पेंड हुआ और बाद में बहाल कर दिया गया।घोर निंदनीय है कि भ्रष्टाचार निरोधक विभाग ने जब मुकदमा चलाने के लिए पालिका की अनुमति चाही तो नगरपालिका अध्यक्ष सहित पूरे बोर्ड ने यह अनुमति नहीं दी।  इसके अलावा एक कर्मचारी करीब 14 लाख रुपए से अधिक की राशि गबन कर गया। पुलिस में एक साधारण पत्र दिया गया और उसके बाद में उस कर्मचारी के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं हुई।  रकम भरवाली गई। यह एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो भ्रष्टाचार के मामले में काम में ली जाती है कि जैसे भी हो गबन की रकम की वसूली हो जाए,लेकिन इससे अपराध खत्म नहीं होता। नगर पालिका को पुलिस में पूरा प्रकरण दर्ज कराना चाहिए था लेकिन यहां नगर पालिका अध्यक्ष अधिशासी अधिकारी और नगर पालिका के सारे पार्षद मौन रहे।सूरतगढ़ की जनता के आगे ये सभी लोग खुले रूप से दोषी हैं। 

 

सूरतगढ़ में सीवरेज सिस्टम निर्माण में भारी गोलमाल हुआ जिसकी शिकायत कुछ पार्षदों ने मुख्यमंत्री को की जिसमें आंकड़े और तथ्यों के सहित आरोप लगाए गए। भारतीय जनता पार्टी के विधायक रामप्रताप कासनिया ने विधानसभा में तथ्यों के सहित गंभीर आरोप लगाए कि काम नहीं हुआ और भुगतान हो गया। आश्चर्य यह है कि इतना कुछ आरोप लग गया कि काम ही नहीं हुआ और दूसरी तरफ नगरपालिका की बोर्ड की बैठक जो 10 अगस्त को स्थगित हो गई है उसमें एक प्रस्ताव क्रम संख्या 20 पर था। प्रस्ताव में लिखा गया है कि सीवरेज सिस्टम का निर्माण निर्धारित से अधिक हो गया उसके बारे में विचार करना है। सवाल यह है कि जब निर्धारित कार्य ही नहीं हो पाए तब निर्धारित से अधिक होने की कैसे आशा की जा सकती है।

 निर्धारित से ज्यादा कार्य किसने करवाए? अध्यक्ष ने करवाए या ईओ ने करवाएं या इंजीनियरिंग स्टाफ ने अपने मनमर्जी से करवाए? ये कार्य हुए या नहीं हुए इसकी कोई गारंटी नहीं है। इसी बैठक के अंदर एक प्रस्ताव और था कि सीवरेज सिस्टम कंपनी ने नालियां सड़कें तोड़ी उनका निर्माण नहीं किया जो अब नगरपालिका करवाएगी और बजट सीवरेज मद में से लिया जाएगा। आश्चर्य यह है कि सिवरेज निर्माण कंपनी ने निर्माण क्यों नहीं किए और उस पर कार्रवाई क्यों नहीं हुई। 

नगर पालिका के पार्षद कम से कम खुद को साफ करने के लिए अनैतिक प्रस्तावों से तो न जुड़़ें जो भ्रष्टाचारों से कहीं न कहीं जुड़े हुए हैं। कहीं विकास के नाम पर कहीं भूमि देने के नाम पर राजनीति से  जुड़े हुए हैं। उस राजनीति को खत्म करने के लिए उन प्रस्तावों को कभी भी पारित नहीं करें।  पार्षद अपना पक्ष स्पष्ट रूप से रख सकते हैं। पार्षद बैठक में चर्चा करते हैं उसमें आरोप लगाते हैं लेकिन यह आरोप केवल चर्चा तक सीमित रहते हैं और प्रस्ताव के पक्ष और विरोध को बैठक में स्पष्ट लिखवाएं।

 अब यह पार्षदों को सोचना है कि वह भविष्य में नगरपालिका के खुले रूप में हो रहे भ्रष्टाचारों का साथ देंगे या नहीं देंगे? आगे केवल 2 माह का कार्यकाल ही बचा है। एक बैठक होने की संभावना मान सकते हैं। 

पूरा शहर सिवरेज निर्माण में भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहा है। अखबार चैनल महीनों से तथ्यों व फोटो सहित समाचार दे चुके हैं तब और भ्रष्टाचार करने में सीवरेज में अधिक कार्य हो जाने का कहते हुए और रकम देने का प्रस्ताव पारित करने की  साझेदारी करना पार्षदों को भी भारी पड़ सकता है।

*******



शनिवार, 10 अगस्त 2019

श्रीगंगानगर कलेक्टर और एसपी ने क्या कहा? छात्र संघ,पालिका,पंचायत। चुनावों बाबत-

 

कानून व्यवस्था अच्छी रहे, यह सामुहिक जिम्मेदारी : जिला कलक्टर

अधिकारियों में आपसी समन्वय अच्छा होना चाहिए : पुलिस अधीक्षक

श्रीगंगानगर, 10 अगस्त 2019.

जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि जिले में कानून व्यवस्था अच्छी बनी रहे, इसके लिए जिले के प्रशासनिक अधिकारियों एवं पुलिस अधिकारियों की सामुहिक जिम्मेदारी है तथा जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखना हमारी प्राथमिकता है।

जिला कलक्टर श्री नकाते शनिवार को कलैक्ट्रेट सभाहॉल में आयोजित कानून व्यवस्था से संबधी बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता दिवस के अलावा छात्र संघ चुनाव, स्थानीय निकायों के चुनाव के बाद पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव निकट भविष्य में प्रस्तावित हैं , ऐसे में आमजन की शान्ति के लिए कानून व्यवस्था अच्छी बनाना हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि जिले में कई बार नहरों के पानी वितरण , मोघों के आकार तथा सिंचाई पानी पर्ची को लेकर विवाद हो जाते हैं । अधिकारियों को बहुत ही सूझबूझ के साथ समस्या का निपटारा करना चाहिए। 

श्री नकाते ने कहा कि छात्र संघ चुनावों के दौरान इस बात का ध्यान रखा जाए कि कॉलेज के चुनाव कॉलेज के परिसर तक ही सीमित रहे। महाविद्यालय से बाहर कार्यालय खोलने, प्रचार तथा पोस्टर इत्यादि नहीं लगने दें । दीवारों पर पोस्टर लगाना या पुताई करने पर सम्पत्ति विरूपण अधिनियम के तहत संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में वाटर यूजर एशोसिएशन के चुनाव होने वाले है। मतदाता सूचियों के अद्यतन करने के कार्य में एसडीएम मोनिटर्रिंग के साथ-साथ पादर्शिता बरते। उन्होने कहा कि अधिकारियों का कोई निर्णय कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वाला नही होना चाहिए। 

उन्होने कहा कि जिले के समस्त एसडीएम, तहसीलदार एवं पुलिस अधिकारियों को समन्वय रखते हुए कार्य करना चाहिए। शहरों में पार्किंग जोन, नोन पार्किंग जोन, इत्यादि निर्णय खण्ड स्तरीय यातायात सलाहकार समिति की बैठक में लिया जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप अवैध खनन नहीं  होनी चाहिए। अनूपगढ, घडसाना, विजयनगर क्षेत्र में नियमानुसार जिप्सम का खनन हो तथा लीज वाली भूमि से ही खनन किया जा सकता है। अवैध खनन करने पर लीज निरस्त की जा सकती है। उन्होंने सूरतगढ क्षेत्र में ओवरलोड वाहनों के विरूद्ध नियमित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होने सीमा क्षेत्र में तारबंदी के पास होने वाली खेतीबाड़ी के संबंध में भी चर्चा की। 

पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा ने कहा कि छात्रा संघ चुनाव शान्तिपूर्ण हो इसके लिए अभी से ही गंभीरता दिखाए। उन्होने कहा कि कोई चुनाव छोटा नही होता। जिले के एसडीएम व थानाधिकारियों की बैठक नियमित रूप से हो तथा अधिकारियों में अच्छे समन्वय व तालमेल रहना चाहिए। अच्छे समन्वय से बड़ी चुनौति को भी आसानी से निपटा जा सकता है। 

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि छात्र संगठनों को जानकारी दी जाए कि कॉलेज का चुनाव कॉलेज तक ही सीमित हो। कॉलेज से बाहर कार्यालय नहीं खोलने दें तथा कानून की पालना की जाए। उन्होंनेे कहा कि जो भी कार्य करे, उसमें आमजन का हित होना चाहिए। उन्होने बीट कांस्टेबलों को ओर अधिक सक्रिय रखने का सुझाव दिया। बैठक में प्रत्येक उपखण्ड के अनुसार एसडीएम तथा पुलिस अधिकारी से क्षेत्र की की समस्याओं को सुना तथा आवश्यक निर्देश दिए गए।

बैठक में एडीएम सतर्कता श्री राजवीर सिंह, भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री मोहम्मद जुनेद, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुरेन्द्र सिंह, एसडीएम सादुलशहर श्री यशपाल आहुजा, एसडीएम घडसाना श्रीमती संजू पारीक, एसडीएम करणपुर श्रीमती रीना छिंपा, रायसिंहनगर एसडीएम श्री संदीप कुमार, अनूपगढ एसडीएम श्री एम.एम. मीणा सहित जिले के प्रशासनिक अधिकारियों तथा जिले के पुलिस अधिकारियों ने भाग लिया। 

-----------

राजस्व प्रकरणों का समय रहते निपटारा करे : जिला कलक्टर

श्रीगंगानगर, 10 अगस्त। जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि राजस्व अधिकारियों को अपने-अपने राजस्व न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों को निपटाने में तेजी लानी चाहिए। कोई भी प्रकरण अधिक लम्बे समय तक लम्बित नही रहना चाहिए।

जिला कलक्टर शनिवार को कलैक्ट्रेट सभाहॉल में आयोजित राजस्व अधिकारियों की बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होने कहा कि रायसिहनगर, अनूपगढ तथा करणपुर तहसीलों का लैण्ड रिकार्ड डिजिटल कर दिया गया है तथा अन्य तहसीलों में भी लैण्ड रिकार्ड ऑन लाइन करने का कार्य प्रगति पर है। बैठक में जमा बंदी सेग्रीगेशन की प्रगति की समीक्षा की गई। उन्होने राजस्व प्रकरणों में 3 वर्ष से अधिक बकाया प्रकरणों के निस्तारण के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी ली। 

बैठक में आरसीएम पोर्टल को अपडेट, राजस्थान काश्तकारी अधिनियम की धारा 183 बी, एवं 183 सी के प्रकरणों, सीआरपीसी के लम्बित प्रकरणों, राजकीय भूमि पर अतिक्रमण के मामलों, बकाया आक्षेपों की स्थिति, राजस्व न्यायालयों के अलावा अन्य उच्च न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों की स्थिति की समीक्षा की गई। नामांतरण निस्तारण, मुख्यमंत्रा कार्यालय से प्राप्त प्रकरणों, लोकायुक्त, मानवाधिकर आयोग, राज्य महिला आयोग से संबंधित बकाया प्रकरणों की प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक में भूमि रूपान्तरण, पीएम किसान योजना, सहायत संबंधी प्रकरणों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए गए।

बैठक में एडीएम सतर्कता श्री राजवीर सिंह, भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री मोहम्मद जुनेद, एसडीएम सादुलशहर श्री यश्सपाल आहुजा, एसडीएम घडसाना श्रीमती संजू पारीक, एसडीएम करणपुर श्रीमती रीना छिंपा, रायसिंहनगर एसडीएम श्री संदीप कुमार, अनूपगढ एसडीएम श्री एम.एम. मीणा सहित जिले के  राजस्व अधिकारियों ने भाग लिया। 

-----------



सूरतगढ़:नगरपालिका बैठक नहीं हो पाई-विधायक रामप्रताप ने लगाए आरोप


*करणीदानसिंह राजपूत*


रामप्रताप कासनिया ने आज 10 अगस्त 2019 को नगर पालिका की बैठक में नगर पालिका बोर्ड की कार्यप्रणाली और भ्रष्टाचार के अनेक गंभीर आरोप लगाए। इसके बाद पार्षदों ने भी बहुत जबरदस्त हंगामा किया। पार्षदों का आरोप था कि नगर पालिका की बैठक में हस्ताक्षर पहले करवाए जाते हैं और बाद में अपने मनमर्जी तरीके से कार्यवाही लिख दी जाती है इसलिए कोई हस्ताक्षर नहीं करेंगे। शोर-शराबे के बाद नगर पालिका की बैठक आगे किसी दिन के लिए स्थगित हो गई। 

नगर पालिका पर भयानक आरोप लगे हुए हैं और उनका जवाब किसी के पास नहीं है।

विधायक रामप्रताप कासनिया ने बैठक की शुरुआत ही आरोपों से शुरू की। बैठक स्थगित होने के बाद पत्रकारों को भी कहा कि भयानक भ्रष्टाचार है,कोरम पूरा होते हुए भी बैठक करने की हिम्मत नहीं है।

विधायक रामप्रताप कासनिया ने नगरपालिका के भ्रष्टाचारों और सीवरेज सिस्टम में हुए घोटालों पर विधानसभा में भी वक्तव्य दिया था।

नगर पालिका बोर्ड भारतीय जनता पार्टी का है और उसमें भाजपा की काजल छाबड़ा अध्यक्ष और पवन औझा उपाध्यक्ष हैं।

( विस्तार से समाचार बाद में)

राजकीय महाविद्यालय का नाम स्व.गुरु शरण छाबड़ा के नाम पर हुआ


^^विशेष समाचार करणीदानसिंह राजपूत ^^

 10 अगस्त 2019.
 राजस्थान सरकार के बजट 2019- 20 को प्रस्तुत करते समय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजकीय महाविद्यालय सूरतगढ़ का नामकरण स्वर्गीय गुरुशरण छाबड़ा राजकीय महाविद्यालय करने की घोषणा की थी। शिक्षा मंत्रालय ने 7 अगस्त 2019 को यह आदेश जारी कर दिया है जो समस्त संबंधित विभागों को भिजवा दिया गया है।
 यह राजकीय महाविद्यालय सूरतगढ़ में राष्ट्रीय उच्च मार्ग नंबर 62 पर आकाशवाणी केंद्र के सामने स्थित है। 

विदित रहे कि सूरतगढ़ के  विधायक गुरु शरण छाबड़ा ने सूरतगढ़ में राजकीय महाविद्यालय खुलवाने को लेकर 1972 से आंदोलन शुरू किया और विधायक काल में 1977 में स्थापित करवा दिया था।
छाबड़ा ने राजस्थान प्रदेश में संपूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर जयपुर में अनशन करते हुए 3 नवंबर 2015 में प्राण त्याग दिए थे।

 गुरूशरण छाबड़ा आपातकाल के बाद 1977 में जनता पार्टी के टिकट पर विधायक चुने गए थे। उस समय भैरों सिंह शेखावत जिस दिन मुख्यमंत्री निर्वाचित हुए उसी रात्रि में 11 बजे विधायक गुरुशरण छाबड़ा,राजा राम कड़वासरा मानकसर (अब स्वर्ग वासी) पत्रकार करणी दान सिंह राजपूत भैरों सिंह जी से मिले। 

उनके समक्ष सूरतगढ़ में राजकीय महाविद्यालय खुलवाने की मांग रखते हुए बताया कि विधायक का चुनाव सूरतगढ़ में राजकीय महाविद्यालय खोले जाने की बात पर लड़ा गया है। जनता ने पूरा साथ दिया है इसलिए सूरतगढ़ में राजकीय महाविद्यालय खोला जाए। 
माननीय भैरों सिंह जी शेखावत ने तत्काल ही कहा कि प्रदेश में जब भी राजकीय महाविद्यालय खोले जाएंगे तब सूरतगढ़ प्रथम रहेगा।
उसी घोषणा के तहत ही सूरतगढ़ में 1977 में राजकीय महाविद्यालय खोला गया। उस समय उच्च शिक्षा मंत्री ललित किशोर चतुर्वेदी थे,जिन्होंने भी पूरा सहयोग किया।

उस समय एक धर्मशाला भवन में कुछ महीने कक्षाएं लगाई गई और भवन निर्माण के लिए एक समिति का गठन सोहन लाल रांका की अध्यक्षता में हुआ। पहले भवन निजी रूप से बना कर सार्वजनिक निर्माण विभाग को सौंपा गया और बाद में उसका विस्तार सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा समय-समय पर किया जाता रहा।

इस राजकीय महाविद्यालय की नींव उस समय के लोकप्रिय गृहमंत्री प्रोफेसर केदारनाथ  के कर कमलों से रखी गई थी। आज यह महाविद्यालय आसपास के हजारों छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा प्रदान कर रहा है। महाविद्यालय का नाम गुरु शरण छाबड़ा के नाम से किए जाने पर यह सदा के लिए एक महत्वपूर्ण यादगार रहेगा।


विदित रहे कि गुरु शरण छाबड़ा के स्वर्गवास के बाद उनकी  पुत्र वधु पूजा छाबड़ा पत्नी गौरव छाबड़ा ने भी शराबबंदी को लेकर आमरण अनशन किया था। राजस्थान सरकार ने उनसे एक समझौता किया जिसमें राजकीय महाविद्यालय सूरतगढ़ का नाम स्वर्गीय गुरु शरण छाबड़ा के नाम से किए जाने का निर्णय हुआ था।


1.यहां पर राजकीय महाविद्यालय सूरतगढ़ का चित्र।

2. स्व.गुरूशरण छाबड़ा की प्रतिमा सूरतगढ़ के राजकीय चिकित्सालय के आगे स्थापित है।

शुक्रवार, 9 अगस्त 2019

सूरतगढ़ एडवोकेट टैक्स एसोसिएशन का स्थापना दिवस मनाया


सूरतगढ़ 9  अगस्त 2019.


 एडवोकेट टैक्स एसोसिएशन के स्थापना दिवस मनाने के कार्यक्रम में सर्व प्रथम संगठन की बैठक हुई जिसमें अध्यक्ष अजय सारस्वत ने संगठन के उद्देश्यों और आगामी कार्यकलापों की जानकारी दी। 

इस अवसर पर संरक्षक श्रीकांत सारस्वत ने समस्त सदस्यों को एसोसिएशन की स्थापना से अब तक के जुड़े अपने अनुभव बताए ताकि सभी उनका लाभ उठा सकें।

इस अवसर पर एडवोकेट मुकेश को सचिव के पद पर मनोनीत किया गया।

 इसके उपरांत अल्पाहार आयोजित हुआ।

इस अवसर पर एडवोकेट कीर्ति जैन, रवि ओझा,मनीष अग्रवाल,सुभाष वर्मा, दीपक शर्मा, विनोद कुमार,इमरान खान, भारती स्वामी और अनेक गणमान्य उपस्थित थे।

श्रीगंगानगर से जयपुर के लिये नई रेल सेवा अगले माह संभवः- निहाल चंद सांसद

श्रीगंगानगर, 9 अगस्त 2019.

 सांसद श्री निहालचंद का प्रयास है कि इलाके की जनता को श्रीगंगानगर से वाया हनुमानगढ, सादुलपुर, चुरू, सीकर, जयपुर के लिये बहुप्रतिक्षित नई रेल सेवा अगले माह तक मिल जाये। वर्ष 2009 से अमान परिवर्तन के कार्य के चलते इस मार्ग पर लम्बे समय से जनता इस ट्रेन का इंतजार कर रही है। 

जेडआरयूसीसी के सदस्य श्री भीम शर्मा ने बताया कि इस संबंध में सांसद श्री निहालचंद लगातार दिल्ली व जयपुर में रेल अधिकारियों के साथ व्यक्तिगत मुलाकात व फोन पर संपर्क कर रहे है। रेलवे अधिकारियों ने आश्वस्त किया है कि अगले माह के प्रथम सप्ताह में जयपुर स्टेशन पर यार्ड रिमॉडलिंग का कार्य पूरा कर लिया जायेगा। उतर पश्चिम रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि जयपुर स्टेशन पर नई तकनीक युक्त सिंगनल प्रणाली तथा 2 अतिरिक्त प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाने एवं अन्य सुविधाओं के लिये यार्ड रि-मॉडलिंग का कार्य किया जा रहा है। इस माह 14 अगस्त 2019 तक प्री-नॉन इण्टरलॉिंकग व 15 अगस्त 2019 से 25 अगस्त 2019 तक नॉन इण्टरलॉकिंग कार्य किया जायेगा तथा इसके पश्चात् 3 सितम्बर 2019 तक पोस्ट इण्टरलॉकिंग कार्य किया जायेगा।

यार्ड रिमाडलिंग में उपलब्ध संसाधनों का उपयुक्त व अधिकतम उपयोग करने के उद्देश्य से यार्ड के वर्तमान ले-आउट में परिवर्तन कर परिचालन सुविधाओं का विस्तार करना है, जिससे ट्रेनों का सुगम परिचालन व समयपालनता सुनिश्चित कर यात्रियों को उत्कृष्ट रेल सुविधा प्राप्त हो सकें।

उन्होने बताया कि जयपुर स्टेशन पर अधिकाधिक सुविधायें प्रदान करने के लिए यार्ड रि-मॉडलिंग कार्य किया जा रहा है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण कार्य सीकर-रींगस से आ रही नई लाइन को अन्य सभी मौजूदा लाइनों से जोड़ने का कार्य किया जायेगा। इस कार्य को करने के लिये क्रॉस ओवर, सिंगनल सिस्टम, पाइन्टस इत्यादि के माध्यम से आपस में जोड़ा जायेगा। जयपुर स्टेशन पर यार्ड रि-मॉडलिंग से 2 अतिरिक्त प्लेटफॉर्म सभी लाइनों से जुड़ जायेगे तथा जयपुर स्टेशन पर वर्तमान के 5 से बढकर कुल 7 प्लेटफॉर्म उपलब्ध हो जायेगें। सांसद श्री निहालचंद का प्रयास है कि सितम्बर माह में ही श्रीगंगानगर से जयपुर के लिये नई रेल सेवा की शुरूआत हो जाये। 

-----------

कागद सम्मान 2019 से सम्मानित होंगे कलम के 3 सिपाही - 10 अगस्त को

* डॉ सत्यनारायण, डॉ आईदानसिंह भाटी और डॉ जगदीश गिरी को मिलेगा कागद साहित्य सम्मान 2019*






हनुमानगढ़। राजस्थानी के पुरोधा साहित्यकार ओम पुरोहित कागद की पुण्यतिथि पर कागद फाउंडेशन द्वारा प्रतिवर्ष दिए जाने वाले कागद साहित्य सम्मान हेतु तीन साहित्यकार सम्मानित होंगे। हिंदी साहित्य में अमूल्य योगदान के लिए जोधपुर के डॉ. सत्यनारायण, राजस्थानी के लिए जोधपुर के डॉ. आईदानसिंह भाटी तथा युवा कागद सम्मान के लिए जयपुर के डॉ. जगदीश गिरी को सम्मानित किया जाएगा। 

महासचिव नरेश मेहन ने बताया कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कलेक्टर जाकिर हुसैन होंगे। मुख्य वक्ता के रूप में केंद्रीय साहित्य अकादमी में राजस्थानी के संयोजक मधु आचार्य आशावादी बीकानेर से पधारेंगे। इस वर्ष कागद सम्मान चयन के लिए वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. भरत ओळा, राजेश चड्ढा, डॉ. कृष्णकुमार आशु एवं चैनसिंह शेखावत को नामित किया गया था। चयन समिति ने सर्वसम्मति से इन नामों का चयन किया है। उक्त साहित्यकारों को 10 अगस्त को प्रातः सवा 11 बजे बेबी हैप्पी डिग्री कॉलेज हनुमानगढ़ जंक्शन में होने वाले कागद साहित्य सम्मान समारोह में सम्मानित किया जाएगा। विदित रहे कि राजस्थानी के पुरोधा साहित्यकार ओम पुरोहित कागद की पुण्यतिथि 12 अगस्त को हिंदी, राजस्थानी एवं युवा इन तीन श्रेणियों में एक-एक साहित्यकार को सम्मानित करती है। अब तक स्वर्गीय जनकराज पारीक, मोहन आलोक, डॉ. मंगत बादल, नीरज दईया, उम्मेद धानिया व सतीश छिम्पा को सम्मानित किया जा चुका है।



11 अगस्त को चाणक्य क्लासेज में कवि गोष्ठी का आयोजन किया जाएगा जिसमें वरिष्ठ कवियों के सानिध्य में नवोदित रचनाकार कविता पाठ करेंगे। 12 अगस्त को दुर्गामंदिर धर्मशाला में पौधरोपण किया जाएगा। इन कार्यक्रमों में बड़ी संख्या में साहित्य प्रेमी, शहर की विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी एवं गणयमान्य नागरिक शिरकत करेंगे।


मूल गृहकर की राशि पर 50 प्रतिशत की छूट

* स्वायत शासन विभाग जयपुर की अधिसूचना 1अगस्त 2019.


श्रीगंगानगर, 8 अगस्त2919.

 सम्पूर्ण बकाया गृहकर आवासीय, व्यवसायिक भूखण्ड व भवनों का एक मुश्त जमा कराने पर मूल गृहकर की राशि पर 50 प्रतिशत की छूट एवं शास्ति पर शत प्रतिशत छूट होगी एवं वर्ष 2019-20 तक का एक मुश्त नगरीय विकास कर की राशि जमा कराने पर ब्याज व शास्ति की राशि पर शत प्रतिशत छूट होगी। 

 जिन प्रकरणों में 8 वर्ष से पूर्व (अर्थात 2011-12 से पूर्व) का नगरीय विकास कर बकाया है, उन प्रकरणों में एक मुश्त जमा कराने पर उस अवधि के नगरीय विकास कर में ब्याज पेनल्टी की छूट के साथ-साथ मूल बकाया में 50 प्रतिशत की छूट होगी। उक्त छूट 31 दिसम्बर 2019 तक प्रदान की गई है।




सूरतगढ़ पुलिस:सीआई निकेत पारीक व अन्य कैश अवार्ड से पुरस्कृत-

* वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश किया था*

श्रीगंगानगर, 8 अगस्त 2019.

पुलिस थाना सूरतगढ़ शहर क्षेत्र में लगातार हो रही मोटरसाईकिल चोरियों के सम्बन्ध में पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा द्वारा अधिकारी व कर्मचारियों की टीम का गठन किया गया। 

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि टीम सदस्यों द्वारा कड़ी मेहनत व लगन से भरसक प्रयास कर अभियोग संख्या 313/19, 335/19 व 336/19 धारा 379 भादसं. पुलिस थाना सूरतगढ़ शहर में चोरियां हुई मोटरसाईकिलो को बरामद कर वाहन चोर गिरोह का पर्दाफास करने का सराहनीय कार्य करने पर उप महानिरीक्षक पुलिस, बीकानेर रेंज, बीकानेर द्वारा अधिकारियों व कर्मचारियों के हौसला अफजाई हेतु नगद ईनाम प्रदान किये गये है। उन्होने बताया कि श्री निकेत पारीक पुलिस निरीक्षक को 501 रूपये,  श्री भूपसिंह उप निरीक्षक को 301 रूपये, श्री धर्मेन्द्र सिंह सहायक उप निरीक्षक को 301 रूपये, श्री आत्माराम कानि0 चालक 1073 को 201 रूपये, श्री इन्द्राज पूनिया कानि 0443 को 201 रूपये, श्री विनोद कानि0 452 को 201 रूपये तथा श्री राजेन्द्र सिंह कानि0 1684 को 201 रूपये ईनाम स्वरूप प्रदान किये गये।

-------------




मंगलवार, 6 अगस्त 2019

हमारा ताज कश्मीर है जिसे भूले बैठे हो और आगरा के ताज की चिंता है

करणी की बात: काल चक्र-6
हमारा ताज कश्मीर है जिसे भूले बैठे हो और आगरा के ताज की चिंता है
                खबर आई कि आगरा का ताज नष्ट हो जाएगा। उसकी नींव में लगी लक्कडिय़ां पानी नहीं मिलने से नष्ट होने लगी है। सडऩे लगी है। उसकी मरम्मत जल्दी नहीं हुई तो वह नष्ट हो जाएगा। विदेशी पर्यटकों के आने की बहुतायत है और उनको बाद में हम क्या दिखलाएंगे? यमुना के किनारे बना हुआ ताज महल। बेगम मुमताज महल की यादगार में बादशाह शाहजहां का बनाया हुआ ताज महल। कई बार विवाद भी होते रहे हैं कि यह शाहजहां का बनवाया हुआ भी नहीं है। महल में कभी कब्रें नहीं होती और जहां कब्रें होती हैं उनको महल नहीं कहा जाता। बड़े लोगों की कब्र जहां होती हे जहां उन्हें दफनाया हुआ होता है उनको मकबरा कहा जाता है। कुछ इसे हिन्दु राजा का बनाया हुआ बतलाते हैं।
    अभी इसके निर्माण पर बहस का कोई मुद्दा नहीं है। अभी एक विषय है कि यमुना किनारे का ताज नष्ट होने के कगार पर है। उसकी कई स्थानों पर दरारें आ चुकी है। पत्थर खंडित हो रहे हैं। ताजा खबर यह आई है कि उसकी नींव में लगी लक्कडिय़ां खराब होने लगी हैं। बड़े अखबारों और चैनलों पर यह अहम खबर के रूप में परोसी गई है। देश की सरकार पुरातत्व विभाग बहुत चिंतित है। ताज के नष्ट होने से हमारे महान देश का पर्यटन उद्योग पर बुरा असर पड़ेगा। मानो हमारा यह भारत देश पर्यटकों के टकड़ो पर ही जिंदा हो।
    सरकार को आगरा के ताज की सदा से चिंता रही है। सोचने का विषय यह है कि हमारे देश का ताज कश्मीर है। भारत माता मुकुट है। उस ताज की उस मुकुट की हमें चिंता नहीं है। वहां पर रोजाना ही कुछ न कुछ गड़बड़ी होती रहती है। आंतककारियों के अतिक्रमण आम लोगों पर सुरक्षा सैनिकों पर होते रहते हैं। उस ताज की हमें कोई चिंता क्यों नहीं है? उस ताज के दो टुकड़े कर दिए गए तथा एक टुकड़े का नाम पाकिस्तान सरकार ने आजाद कश्मीर रख दिया। देश की स्वतंत्रता के कुछ समय बाद की यह घटना भूल गए। इसके बाद भी पाकिस्तान ने दो बार आक्रमण करके उस ताज के कुछ हिस्से को और दबा गया। वहां से हजारों पंडित परिवारों को सब कुछ छोड़ कर निकलना पड़ा। वे कश्मीरी पंडित परिवार बीस पचीस सालों से दर दर की ठोकरें खाते घूम रहे हैं। उनका पूरा ओर आने वाली पीढिय़ों का जीवन नष्ट हो गया। उनकी सरकार को कोई चिंता नहीं है। देश का असली ताज तो कश्मीर है वह आधा हमारे पास नहीं है। उसकी चिंता नहीं। सरकार तुष्टिकरण की नीति पर चल रही है। कश्मीरी पंडितों के परिवारों की चिंता नहीं है, मगर बांग्ला देश से जबरन देश में घुस आए बांग्लावासियों की चिंता है। उनके लिए सहारा कैंप हैं। उनको निकाले जाने पर कोई विचार नहीं करना चाहता। उल्टा उनके वोट तक बना दिए गए। यह हैं हमारी ताज नीति।
दि. 7-10-2011.
अपडेट 6-7-2019.
करणीदानसिंह राजपूत
राजस्थान सरकार द्वारा अधिस्वीकृत पत्रकार
94143 81356

सोमवार, 5 अगस्त 2019

करणी दान सिंह राजपूत बीकानेर संभााग के 'राजस्थान सेवा गौरव पत्रकारिता' पुरस्कार से सम्मानित

बीकानेर के रवीन्द्र मंच पर आयोजित समारोह में यह सम्मान करणीदानसिंह राजपूत की माता हीरा और पिता रतनसिंह की सीख एवं पत्रकारिता के इतिहास का वर्णन करने के बाद प्रोफेसर चतुर्वेदी स्मृति संस्थान जयपुर की ओर से रविवार 4 अगस्त 2019 को प्रदान किया गया। 


समारोह में स्वामी श्री समवित सोम गिरी जी महाराज (महंत श्री लालेश्वर महादेव मंदिर बीकानेर) श्री गुलाबचंद कटारिया (नेता प्रतिपक्ष राजस्थान विधानसभा व पूर्व गृह मंत्री राजस्थान सरकार)

श्री अरुण चतुर्वेदी (पूर्व कैबिनेट मंत्री राजस्थान सरकार) के द्वारा प्रदान किया गया।

श्री राजपूत को शाल और पीताम्बर व साफा ओढा कर मढे हुए सुनहरे सम्मान प्रशस्ति पत्र को प्रदान कर सम्मानित किया गया। 


आयोजन समिति के अध्यक्ष ताराचंद सारस्वत व अन्य सदस्यों की ओर से स्वागत किया गया।

समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में समाज की सेवा करने वाले 12 प्रबुद्ध जनों को सम्मानित किया गया।

समारोह में स्वामी श्री समवित सोम गिरी जी महाराज (महंत श्री लालेश्वर महादेव मंदिर बीकानेर) श्री गुलाबचंद कटारिया (नेता प्रतिपक्ष राजस्थान विधानसभा व पूर्व गृह मंत्री राजस्थान सरकार)

श्री अरुण चतुर्वेदी (पूर्व कैबिनेट मंत्री राजस्थान सरकार) डा.लोकेश चतुर्वेदी( सचिव प्रो.ललित किशोर चतुर्वेदी स्मृति संस्थान) व ताराचंद सारस्वत ने भारतीय सभ्यता संस्कृति पर विचार प्रगट किए। 

समारोह में संस्थान की ओर से किए जाने वाले सामाजिक कार्यों अवगत कराया गया।






^^^^प्रो चतुर्वेदी स्मृति राजस्थान गौरव सेवा सम्मान समारोह में हुआ विभूतियाँ का सम्मान ^^^


हजारों कार्यकर्ताओ व समाज के विभिन्न वर्ग के लोगो की मौजूदगी में रविन्द्र रंगमंच बीकानेर में प्रो ललित किशोर चतुर्वेदी राजस्थान गौरव सेवा सम्मान समारोह का आयोजन भारत माता प्रो चतुर्वेदी के चित्र पर पुष्पहार , दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ महाराज श्री सोमगिरि जी, श्री गुलाब चंद कटारिया, श्री चंद्रशेखर जी, श्री अरुण चतुर्वेदी जी और पूर्व संचालक श्री नरोत्तम जी के कर कमलों द्वारा हुआ।

इस कार्यक्रम में बीकानेर संभाग की विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली विभूतियों के सम्मान के अवसर राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष *गुलाबचंद कटारिया* ने कहा कि न सिर्फ राजनीति बल्कि जीवन मे आज जो कुछ भी मिला वो उन्ही की बदौलत है वे सिर्फ राजनेता ही नही बल्कि सामाजिक सरोकार से भी जुड़े रहते थे । कार्यकर्ताओ के व्यक्तित्व निर्माण में भी उनकी अहम भूमिका थी । 
प्रदेश संगठन महामंत्री *चन्द्रशेखर* ने कहा कि वे महान विभूति थे उनके कार्यकाल में हुए कार्यों को आज भी  जनता अपने दिल से याद करती है । 
भाजपा सदस्यता अभियान के राष्ट्रीय सह संयोजक *अरुण चतुर्वेदी* ने कहा कि सर्व जन हिताय सर्व जन सुखाय का मूल मंत्र ही उनके जीवन मे रचा बसा था उनके जीवन से प्रेरणा लेते हुए हमें भी उनके कदम चिन्हों पर चलना चाहिए आज जो विभूतियाँ  सम्मानित हो रहीं है युवा उनसे प्रेरणा लें । 
इस दौरान राजस्थान गौरव सेवा सम्मान राजनीति के क्षेत्र में ओम प्रकाश आचार्य व श्रीमती कमला श्रीमाली, खेल क्षेत्र में रिपुदमन सिंह (हनुमानगढ़), समाज सेवा के लिए रोग निदान सेवा संघ ट्रस्ट अध्यक्ष रामरतन भूतड़ा, चिकित्सा सेवा के लिये डॉ शिव गोपाल सोनी , पत्रकारिता के लिये करणीदान सिंह राजपूत (सूूरतगढ/गंगानगर), कला के क्षेत्र में महावीर स्वामी, अध्यात्म के लिये सालासर मन्दिर के पूर्व अध्य्क्ष महावीर प्रसाद पुजारी (चुरू), पुलिस सेवा में महेंद्र नाथ धवन, शिक्षा में हनुमान प्रसाद व्यास, व्यवसाय के लिये देवक़ीनदन गोळ्यांन (गंगानगर), व लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड गेवर चंद जोशी को सम्मान प्रदान किया गया । 
आशीर्वाचन देते हुए *महंत संवित सोमगिरी महाराज* ने कहा कि मानव जीवन की सफलता उसके अच्छे कार्यो से है चतुर्वेदी नाम ही अपने आप मे सार्थक नाम था जिनका जीवन ही दूसरों के दुख दर्द बाँटने के लिये हुवा वे जनसंघ से जुड़कर जनता के प्रति समर्पित हो गए जिनका आज उनके नाम से सम्मान हुवा है वे भी उनके नाम से दिए जा रहे इस सम्मान के लिये काबिल व्यक्तिव है ।
न्यू इंडिया मूवमेंट के प्रदेश संयोजक व संस्थान के महासचिव *लोकेश चतुर्वेदी* ने संस्थागत कार्यों पर प्रकाश डाला व जानकारी दी । 
आयोजन समिति के अध्य्क्ष ताराचंद सारस्वत , संघ के नरोत्तम व्यास , राजेन्द्र शर्मा, हितेश गौतम , बनवारी लाल शर्मा , अरविंद उभा , श्रेयांस बैद , भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ओम प्रकाश सारस्वत, देहात जिलाद्य्क्ष विधायक बिहारी लाल बिश्नोई, स्तयप्रकाश आचार्य , महापौर नारायण चोपड़ा, पूर्व यूआईटी चैयरमेन महावीर रांका , प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रामगोपाल सुथार इत्यादि उपस्थित थे ।कार्यक्रम का संयोजन *सिमन्तिनी चतुर्वेदी* ने किया इस दौरान पूरे प्रदेश भर से कार्यकर्ता कार्यक्रम में मौजूद रहे।

इस समारोह में बीकानेर संभााग के चारों जिलों बीकानेर, श्री गंगानगर, हनुमान गढ,चुरू के अनेक प्रमुख लोग,नेता और जनप्रतिनिधियों ने भाग लिया।




शनिवार, 3 अगस्त 2019

वरिष्ठ पत्रकार करणी दान सिंह राजपूत को बीकानेर संभााग का 'राजस्थान सेवा गौरव पत्रकारिता' पुरस्कार रविवार को प्रदान होगा


 यह सम्मान समारोह प्रोफेसर चतुर्वेदी स्मृति संस्थान जयपुर की ओर से रविवार 4 अगस्त को दोपहर बाद चार बजे बीकानेर के रवींद्र मंच पर शुरू होगा। इस समारोह में कुल 12 लोगों को सम्मानित किया जाएगा जो विभिन्न क्षेत्रों में बरसों से कार्य करते हुए समाज की सेवा में जुटे हुए हैं। 


समारोह में आशीर्वचन स्वामी श्री समवित सोम गिरी जी महाराज महंत श्री लालेश्वर महादेव मंदिर बीकानेर के होंगे।

 

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि गुलाबचंद कटारिया नेता प्रतिपक्ष राजस्थान विधानसभा व पूर्व गृह मंत्री राजस्थान सरकार होंगे।

मुख्य वक्ता श्रीमान चंद्रशेखर भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री राजस्थान होंगे।


कार्यक्रम की अध्यक्षता संसदीय कार्य राज्य मंत्री भारत सरकार श्रीमान अर्जुन राम जी मेघवाल करेंगे।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि श्रीमान अरुण चतुर्वेदी पूर्व कैबिनेट मंत्री राजस्थान सरकार व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भाजपा राजस्थान होंगे।

आयोजन समिति के अध्यक्ष ताराचंद जी सारस्वत भाजपा नेता व समाजसेवी हैं।

इस समारोह में बीकानेर संभााग के चारों जिलों बीकानेर, श्री गंगानगर, हनुमान गढ,चुरू के अनेक प्रमुख लोग,नेता और जनप्रतिनिधि शामिल होंगे।

सूरतगढ़ सिवरेज में फिर नया घोटाला-अब पार्षद भी फंसेंगे।

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ के सीवरेज निर्माण कार्य में करोड़ों रुपए के घोटाले का आरोप अखबारों चैनलों पर छाए रहने के बाद विधानसभा में भी गूंज उठा लेकिन घोटालों पर रोक की बजाए नए रूप में फिर घोटाला करने का खुला तरीका एक और सामने आने वाला है जिसका खाका बन चुका है।

नगर पालिका प्रशासन पर आरोप है कि उसने बिना काम किए ही सिवरेज कंपनी को करोड़ों रुपए का भुगतान कर दिया। उसका ब्योरा भी खबरों में आया व विधानसभा में भी विधायक राम प्रताप कासनिया ने बताया जिसमें रकम तक का उल्लेख किया गया था। आरोप था कि संबंधित फर्म को करोड़ों रुपए का भुगतान किया गया जो कार्य उसने किया ही नहीं। 

अब आश्चर्य यह है कि नगर पालिका की बैठक का प्रस्ताव है कि सीवरेज का कार्य निर्धारित से अधिक हो गया उसके भुगतान के बाबत विचार किया जाना है। मतलब कि लाखों रुपए कंपनी को और देने वाले हैं और यह बोर्ड की बैठक की स्वीकृति से देने का प्रस्ताव रखा गया है। पार्षदों की सहमति से यह भुगतान होगा। नगर पालिका की बैठक 6 अगस्त को होने वाली है। बैठक की तिथि पूर्व में थी,मगर विधानसभा सत्र चलने के कारण यह अब 6 अगस्त को होगी।  बैठक में सीवरेज कंपनी संबंधित यह प्रस्ताव 20 वें क्रम पर दिया हुआ है।  इस बैठक की सूचना सभी पार्षदों को और विधायक को भी दी जा चुकी है। जब पूरे शहर में सीवरेज कंपनी को बिना काम किए भुगतान करने का आरोप लगा हुआ है ऐसी हालत में यह कहना कि निर्धारित कार्य से अधिक कार्य हो गया जिसका निर्णय करना है। आश्चर्य यह है कि जो कार्य निर्धारित था उससे अधिक कार्य बिना किसी सर्वे बिना आकलन तगमीना और स्वीकृति के कैसे किया गया और करवाया गया। यह कार्य हुआ या नहीं हुआ? इसकी भी क्या गारंटी है? पालिका बोर्ड बैठक का एजेंडा यानि प्रस्ताव अध्यक्ष की स्वीकृति से ही होते हैं। नगर पालिका की अध्यक्ष श्रीमती काजल छाबड़ा और उपाध्यक्ष पवन ओझा भारतीय जनता पार्टी से हैं।  यह बोर्ड भारतीय जनता पार्टी का है। भारतीय जनता पार्टी स्वच्छ छवि का प्रचार और प्रदर्शन करती है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के विधायक रामप्रताप कासनिया विधानसभा में नगर पालिका में भयानक घोटाले और भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हैं। अब फिर प्रस्ताव नंबर 20 से यह सामने आ रहा है कि अभी और रुपया लुटाया जाना है और इसमें पार्षदों की भी सहमति होगी। भ्रष्टाचार के आरोप लगे हुए है। सरकार को शिकायतें हो चुकी है उसके बावजूद पार्षद गण इस प्रस्ताव की सहमति देते हैं तो वे भी भ्रष्टाचार के दोषी माने ही जाएंगे. पार्षदों को यह हक नहीं है कि वे बैठक में चाहे जिस प्रकार के प्रस्ताव पारित करके राज्य सरकार के कोष  को नुकसान पहुंचाएं। ऐसा कोई अधिकार उन्हें कानून नियमों में मिला हुआ नहीं है।  अगर वे जानते हुए प्रस्ताव पारित तो करते हैं तो भ्रष्टाचार की मिलीभगत में दोषी होंगे। अब यह पार्षदों को सोचना है कि वे जानते बुझते यह अपराध करेंगे या नहीं करेंगे?पार्षदों को भ्रष्टाचार में लिप्त होना है या नहीं होना है इतनी बुद्धि तो उनमें जरूर होनी ही चाहिए। अब नगर पालिका बोर्ड का कार्यकाल कुछ महीनों का ही बाकी है और जाते-जाते इस अपराध में पार्षद शामिल होते हैं तो वे कहीं ना कहीं मुकदमों में निश्चित रूप से फंसने वाली स्थिति में होंगे और हो सकता है कि खुद जेल में जाने का रास्ता बनाएं। पालिका में महिला पार्षद भी हैं उनको अपना भविष्य सोचना चाहिए।


नगर पालिका की इस प्रस्तावित बैठक में एक और प्रस्ताव भी है। यह भी सीवरेज से संबंधित है जिस में लिखा गया है कि जो सड़के आदि सीवरेज कंपनी ने तोड़ दी और निर्माण नहीं करवाया वह निर्माण नगर पालिका करवाएगी और संबंधित सिवरेज मद में से पैसा लेगी। यह भी एक आश्चर्य है कि सीवरेज कंपनी ने तोड़कर पुनर्निर्माण क्यों नहीं करवाया और नगर पालिका ने उस पर कोई कार्यवाही क्यों नहीं की? 

सीवरेज कंपनी को पहले भी भुगतान किया गया है उस पर आरोप लग रहे हैं। ऐसी स्थिति में इस प्रकार के प्रस्ताव रखना सूरतगढ़ की जनता के साथ खुले रूप से धोखाधड़ी है। आश्चर्य यह है कि प्रदेश में सरकार कांग्रेस की बने हुए 8 महीने बीत चुके हैं और यहाँ के सभी नेता, संगठन पदाधिकारी, पूर्व विधायक आदि सभी चुप हैं।

******




यह ब्लॉग खोजें