शुक्रवार, 30 अगस्त 2019

दिल्ली मेट्रो में सफर में केवल 1 बैग,साइज, वजन तय, CISF बोली- कराएंगे नियम का पालन

* मेट्रो रेलवे प्रशासन की मंजूरी के बिना कोई भी आदमी मेट्रो ट्रेन में यात्रा के दौरान एक से अधिक बैग नहीं ले जा सकता है। नियम के मुताबिक 25 किलोवजन का सामान गठरी के रूप में नहीं होना चाहिए।*

नई दिल्ली 30 अगस्त 201

सरकार ने इसके लिए मेट्रो रेलवे (भाड़ा और टिकट) नियमावली-2014 में परिवर्तन किया है।

*दिल्ली मेट्रो में यात्रियों के लिए सफर के दौरान बैग का साइज और वजन तय कर दिया गया है। यात्री अब सफर के दौरान 25 किलोग्राम भार तक का सामान ले जा सकेंगे। पहले यह सीमा 15 किलोग्राम तक थी।

केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय की तरफ से 27 अगस्त को अधिसूचित नियम के मुताबिक मेट्रो ट्रेन में यात्रियों को 25 किलोग्राम वजन तक का केवल एक बैग ले जाने की अनुमति होगी। नियम के मुताबिक यह गठरी नहीं होनी चाहिए। 

अधिसूचना के अनुसार मेट्रो रेलवे प्रशासन की मंजूरी के बिना कोई भी आदमी मेट्रो ट्रेन में यात्रा के दौरान एक से अधिक बैग नहीं ले जा सकता है। इस बैग का आकार 80 सेंटीमीटर X 50 सेंटीमीटर X 30 सेंटीमीटर के आकार और 25 किलोग्राम से अधिक नहीं होना चाहिए।


 * मंत्रालय ने एयरपोर्ट को जोड़ने वाली मेट्रो ट्रेन में अधिकतम 32 किलो वजन ले जाने की अनुमति दी है। एयरपोर्ट मेट्रो ट्रेन में भी गठरी के रूप में सामान ले जाने की अनुमति नहीं होगी।

अधिसूचना में कहा गया है कि मेट्रो रेलवे प्रशासन की मंजूरी के बिना कोई भी व्यक्ति एयरपोर्ट को जोड़ने वाली मेट्रो ट्रेन में यात्रा के दौरान एक से अधिक बैग नहीं ले जा सकता है। इस बैग का आकार 90 सेंटीमीटर गुना 75 सेंटीमीटर गुना 45 सेंटीमीटर के आकार और 32 किलोग्राम से अधिक नहीं होना चाहिए। सीआईएसएफ की तरफ से कहा गया है कि वह मंत्रालय की तरफ से अधिसूचित किए गए नियमों का पालन कराएगी।००


गुरुवार, 29 अगस्त 2019

ईंट भट्ठों पर बच्चों की शिक्षा व पोषाहार वास्ते उडान केन्द्र की स्थापना को लेकर बैठक


श्रीगंगानगर, 28 अगस्त। जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि ईंट भट्टों में काम करने वाले बच्चों की शिक्षा व पोषहार उपलब्ध करवाया जाये। इसके लिये ईंट भट्टों पर उड़ान केन्द्रों की स्थापना टाटा ट्रस्ट की सहायता से किया जायेगा।

जिला कलक्टर बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाहाॅल में आयोजित ईंट निर्माता संघ व टाटा ट्रस्ट की उडान केन्द्र की स्थापना को लेकर संयुक्त बैठक में बोल रहे थे। जिला कलक्टर ने भट्टा मालिकों को उडान केन्द्रों के लिये भवन की व्यवस्था के लिये सहयोग प्रदान करने के लिये कहा है। इसके अलावा अन्य व्यवस्थाएं टाटा ट्रस्ट की तरफ से की जायेगी। बच्चों को पोषाहार की व्यवस्था आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से उपलब्ध करवाई जायेगी। 

जिला कलक्टर ने कहा कि भट्टा मालिको को समूह तैयार कर पाॅयलट प्रोजेक्ट के माध्यम से पांच उडान केन्द्र स्थापित करने को कहा। इसके अलावा जिन भट्टों के पास एक किलोमीटर के दायरे में विधालय या आंगनबाड़ी केन्द्र है, वहां उन श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने के लिये प्रेरित करें। 

बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु श्री मोहम्मद जुनेद, महिला अधिकारिता के श्री विजय, टाटा ट्रस्ट के पदाधिकारी एवं जिले के ईंट भट्टा मालिक शामिल हुए। 

एनडीपीएस औषधियों का बिना लाईसेंस स्टाक पर अदालत में प्रकरण दायर

श्रीगंगानगर, 28 अगस्त 2019.

औषधि विभाग द्वारा फर्म मेहरा मेडिकोज एण्ड जनरल स्टोर वार्ड नम्बर 13 नजदीक गर्ल्स स्कूल अनूपगढ जिला श्रीगंगानगर पर एनडीपीएस औषधियों के बिना लाईसेंस उल्लंघन के प्रकरण में औषधि नियंत्रण अधिकारी श्री पंकज जोशी द्वारा माननीय न्यायालय सीजेएम श्रीगंगानगर में फर्म व उसके मालिक श्री सर्वजीत सिंह पुत्र श्री कुलदीप सिंह निवासी मकान नम्बर 903, वार्ड नम्बर 28 कम्बोज मौहल्ला,अबोहर, जिला फाजिल्का, (पंजाब) व रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट श्री प्रीत सिंह पुत्रा श्री हरचरण सिंह निवासी वार्ड नम्बर 12 अनूपगढ के विरूद्ध इस्तगासा दायर किया गया। 

माननीय न्यायालय द्वारा प्रकरण को दर्ज कर प्रंसज्ञान लेकर अभियुक्तों को तलब करने के आदेश जारी किये गये है। 

प्रकरण में फर्म को नशे के रूप में दुरूपयोग होने वाली औषधियों की अनुमति लाईसेंसों पर जारी नही थी, परन्तु निरीक्षण दौरान ट्रामाडोल घटक व अन्य  औषधियों का स्टाॅक पाया गया। जब्तशुदा व नमूना ली गई इन औषधियों का क्रय-विक्रय रिकार्ड प्रस्तुत नही किया गया।


 फर्म के लाईसेंस कार्यवाही पर निरस्त किये गये व बिना लाईसेंस औषधियों के इस प्रकरण में जांच पूर्ण कर औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम 1940 के तहत अलग से वाद दायर किया गया। जिसमें कम से कम तीन वर्ष व अधिकतम पांच वर्ष की सजा तथा कम से कम 1 लाख रूपये तक के जुर्माने का प्रावधान है। 

पुष्कर तीर्थ अंचल की विश्व विख्यात किशनगढ़ की राजपूत चित्रकला



पुष्कर की पवित्र झील और  दर्शनीय आरावली की पर्वत श्रंखलाएं


पुष्कर तीर्थ के अंचल की विश्व विख्यात किशनगढ़ की राजपूत चित्रकला
किशनगढ़ के शासक की प्रेमिका बणी ठणी के नाम से प्रसिद्ध है यह चित्रशैली



शानदार किशनगढ़ चित्रशैली
बनी ठणी के चित्र वाले बॉक्स
शानदार किशनगढ़ चित्रशैली

 इस शैली की चित्रकारी की सामग्री को अपने भवनों की सुंदरता बढ़ाने के लिए विदेशी पर्यटक और भारतीय खूब खरीदते हैं।

 राजस्थान  के बाजारों में इस चित्र शैली की खरीद बिक्री सामान्य दिनों में भी चलती रहती है


विशेष लेख : करणीदानसिंह राजपूत

राजस्थान के अजमेर जिले में हजारों वर्षों से पूजनीय तीर्थराज पुष्कर के अंचल का किशनगढ़ सैंकड़ों वर्षों से राजपूत चित्र शैली से विख्यात है। यहां के शासक सांवतसिंह की एक प्रेमिका बणी ठणी का चित्र राजा के चित्रकार मोरध्वज ने बनाया था। वह चित्र राजा को पसंद आया। उसी बणी ठणी के नाम से यह चित्र शैली प्रसिद्ध हुई।
    इस चित्र शैली की मांग देश ओर विदेश में बहुत है। वर्तमान युग में जहां साज सज्जा के तरीकों में बहुत बदलाव आ गया है, लेकिन इस पुरातन शैली के चित्रों से साज सज्जा करना बढ़ता जा रहा है। वर्षों से किशनगढ़ शैली में चित्रकारी करने में सिद्धहस्त किशनगढ़ वासी जसवंतसिंह ने बताया कि इस चित्रशैली की सज्जा आवासीय भवनों में व बड़े बड़े होटलों में स्वागत कक्ष से शयन कक्ष तक की जाने का प्रचलन बढ़ रहा है। गैलरी में और सामान्य घरों तक की बैठकों में इस शैली के चित्र सजाए जाते हैं। सरकारी विश्राम गृहों सर्किट हाऊसों और पर्यटन विभाग के बंगलों व भवनों में इस शैली के चित्रों से की गई साज सज्जा देखते ही बनती है।
    इस शैली के चित्र कागज व  सिल्क कपड़े पर की जाती है।  लक्कड़ी पर आलमारी, बैड, टेबल-चेयर, सजावट के कॉर्नर पर यह चित्र शैली खूब सुंदर लगती है। संगमरमर पर इसका आकर्षण लाजवाब होता है। लोहे के सामान छोटे मोटे बॉक्स, बैंगल बॉक्स,मटके आदि पर भी इसकी सजावट करने का प्रचलन है। कांच पर भी यह चित्रकारी की जाती है। धार्मिक स्थलों में मंदिरों व धर्मशालाओं आदि में भी इस चित्र शैली की फूल पत्तियां बनवाने का प्रचलन है।
    जसवंतसिंह और उनके छोटे भ्राता विजेन्द्रसिंह किशनगढ़  शैली के चित्र बनाने में सिद्धहस्त हैं। उनसे जानकारी मिली कि किशनगढ़ में चार सौ से अधिक लोग इस चित्र शैली में चित्र बना कर अपनी आजीविका चला रहे हैं। इसके अलावा आसपास के कस्बों में भी इस शैली की चित्रकारी की जाती है।
    जसवंतसिंह ने बताया कि पुष्कर मेले में हस्तकला उद्योग की प्रदर्शनी लगती है जिसमें किशनगढ़ शैली की चित्रकारी के सामान की बिक्री बहुत होती है। जसवंतसिंह स्वयं पुष्कर मेले में पुरस्कार प्राप्त है। जसवंतसिंह ने बताया कि पुष्कर तीर्थ आने वाले श्रद्धालु और दर्शनार्थी आदि सामान्य दिनों में भी खरीदारी करते हैं जिससे पूरे वर्ष इस चित्रकारी के सामान की मांग रहती है। जसवंतसिंह ने बताया कि देश विदेश में पहुंचाने के लिए बड़े व्यवसायी और कंपनियां हैं जिनके मालिक आदेश देकर मांग के अनुसार संबंधित सामान पर चित्रकारी करवाते हैं। ये जानकारी भी मिली कि अनेक वस्तुएं ऐसी होती हैं जिन्हें लाया ले जाया नहीं जा सकता, उन पर चित्रकारी उस स्थान पर पहुंच कर ही की जाती है। किशनगढ़ चित्र शैली का व्यवसाय पुष्कर व अजमेर के अलावा जयपुर, उदयपुर,जोधपुर,कोटा में खूब फलफूल रहा है। विदेशों में बढ़ रही मांग के कारण निर्यात का व्यवसाय भी काफी बढ़ा है।
किशनगढ़ शैली की चित्रकारी में सिद्धहस्त जसवंतसिंह से मोबाइल नं 98299 44359  पर तथा चित्रकार छोटे भ्राता विजेन्द्रसिंह से मोबाइल नं 77422 24021 पर संपर्क किया जा सकता है। इन भ्राताओं से चित्रकारी करवाने, देखने और जानकारी लेने के लिए संपर्क किया जा सकता है।

जसवंतसिंह     98299 44359
 विजेन्द्रसिंह   77422 24021


ञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञञ
किशनगढ़ चित्र शैली चित्रकारी करवाने, देखने और जानकारी लेने के लिए संपर्क करें
श्री भटियानी आर्ट्स
मालियों का मोहल्ला,गुमानसिंह गेट के पास,
नया शहर,
किशनगढ़।   
जिला अजमेर।  मोबा. 98299 44359, 77422 24021
ञञञञञञञञ
लेखन 16 अक्टूबर 2016.
अपडेट 29 अगस्त 2019.
***********

बुधवार, 28 अगस्त 2019

सूरतगढ़:सीवरेज से टूटी सड़क के निर्माण की मांग

सूरतगढ़ 28 अगस्त 2019.

भगत सिंह चौक से महाराणा प्रताप चौक तक और भगत सिंह चौक के पास की टूटी हुई सड़कों के पुनर्निर्माण की मांग को लेकर आज इस क्षेत्र के निवासी नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी लालचंद सांखला से मिले और ज्ञापन दिया।

लोगों की मांग थी कि सीवरेज के कारण सड़कें क्षतिग्रस्त हो गई जिनसे आवागमन में भारी परेशानी हो रही है इसलिए इनका पुनर्निर्माण करवाया जाए।

ईओ लालचंद सांखला ने लोगों को आश्वस्त किया है कि सड़क निर्माण को प्राथमिकता दी जाएगी।

 ज्ञापन देने वालों में मदन ओझा, क्रांतिकारी महावीर भोजक,रमेश पारीक, पुखराज दाधीच, नीरज उपवेजा, सुरेश सिंधी, दुलीचंद देरासरी, सोनू कच्छावा,चंद्र सिंधी, विक्रम सिंह,अंकुश गाबा,महावीर सेवदा, हरि ओम ओझा आदि थे।


रविवार, 25 अगस्त 2019

एक दिन बेटियों के नाम-वसुंधरा में बेटियों का सम्मान


** करणीदानसिंह राजपूत **

वसुंधरा हॉस्पिटल सूरतगढ़ में 25 अगस्त रविवार को महावीर इंटरनेशनल सूरतगढ़ के सहयोग से एक दिन बेटियों के नाम के अंतर्गत स्कूली बच्चों की चित्रकला तथा रंग भरो प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।
जूनियर ग्रुप में
तृप्ति जैन, आयरा चुघ तृतीय स्थान पर, आरोही द्वितीय स्थान पर, और पुश्ती वर्मा प्रथम स्थान पर रही।
सीनियर ग्रुप में 
भव्या, रुकमणी व रूबल तृतीय स्थान पर, मैत्री सुराणा द्वितीय स्थान पर, वंशिता छाबड़ा प्रथम स्थान पर रही।







श्रीमती डिंपल बेनीवाल,पूनम पूनिया, वंदना निर्णायक मंडल में थे।

डॉक्टर इंद्र चुघ के अनुसार अतिथिगण सीआरपीएफ के उप महा निरीक्षक श्री गिरीश जी चावला, मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्री रामेश्वर जी गोदारा, शैल्वी हॉस्पिटल जयपुर के वरिष्ठ ज्वाइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डॉक्टर चिन्मय शर्मा, सूर्या सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल जयपुर की डायबिटीज एवं हार्मोन रोग विशेषज्ञ डॉक्टर वसुंधरा चुघ ने विजेताओं को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।
कार्यक्रम में उपस्थित अभिभावकों से डॉ चुघ ने स्वास्थ्य से संबंधी प्रश्न पूछे व सही उत्तर देने वाले  अभिभावकों को  पुरस्कृत किया गया।
बालिकाओं ने अपनी सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी जिन्‍हें पुरस्‍कृत भी किया गया।
कार्यक्रम में वसुंधरा हॉस्पिटल के स्टाफ एवं महावीर इंटरनेशनल  के अध्यक्ष वीर नत्थू राम कलवासिया, सुरेश सिडाना, चंद्र सिंह चौधरी, कालू राम बिश्नोई, सचिव राजेश वर्मा ने सहयोग किया। 
वोकार्ड लाइफ विंस के प्रतिनिधि संजय कुमार टेकवानी,अशोक धमीजा, अजित का विशेष सहयोग रहा.

कार्यक्रम में 25 अगस्त को जन्मी उपस्थित समस्त बालिकाओं का जन्मदिन भी  मनाया गया. डॉक्टर श्रीमती नरेश चुघ ने समस्त बालिकाओं को आशीर्वाद प्रदान किया एवं उपस्थित अतिथिगण व अभिभावकों का धन्यवाद ज्ञापित किया।



*************



क्या सूरत सागर और गिनाणी के अतिक्रमण ध्वस्त होंगे?

^^ करणीदानसिंह राजपूत ^^

सूरतसागर के जोड़पायतन और गिनाणी के अतिक्रमण ध्वस्त कर दिए जाएंगे?

आलीशान कॉलोनियां और मकानों पर खतरा बना रहेगा।

नगरपालिका अतिक्रमणों को शह दे रहा है और विद्युत निगम कनेक्शन दे रहा है।

दिल्ली और मुम्बई से भी मंहंगे कहलाने वाले सूरतगढ़ के सूरत सागर के जोहड़ पायतन और गिनाणी पर अतिक्रमण से और किसी न किसी प्रकार से नियमों को ताक पर रख कर किए गए आवंटन वाली भूमि पर जब निर्माण होने लगे तब अखबार वालों ने समाचार छापने शुरू किए। उस समय पूंजीपति लोगों और पैसे वाले अधिकारियों व कर्मचारियों ने समाचार रपटों की हंसी उड़ाई कि कुछ भी लिखते रहो, बाल भी बांका होने वाला नहीं है। अब हालात बदल गए हैं। हंसी उड़ाने वालों और समाचारों को हवा में उड़ा देने वालों के चेहरों पर हवाईयां उडऩे लगी है। अब पूछा जा रहा है कि क्या होगा?इसका उत्तर यह हो सकता है कि जब तक कोई शिकायत नहीं करे तब तक तो सच में कुछ भी होने वाला नहीं है। लेकिन किसी एक ने भी पीछा कर लिया यानि कि कमर कस ली तब वह होगा जिसके लिए अब तक सोचा नहीं गया है। वे लोग जो कहा करते थे कि बाल बांका नहीं होगा। बाल ही बांका नहीं होगा, बाकी सब बांका हो जाएगा।श्रीगंगानगर में एक माईनर के क्षेत्र के अतिक्रमण हटवा दिए गए। कुछ दिनों तक लीपा पोती की जाती रही। इससे पहले पीलीबंगा में अतिक्रमण ध्वस्त कर दिए गए थे।    सूरत सागर के पायतन की भूमि आवंटित नहीं की जा सकती थी, मगर गलत आवंटन कर दिया गया। इसके अलावा नगरपालिका ने अतिक्रमणों को सर्वे में माना और पट्टे दे दिए। यह सिलसिला थमा नहीं है। खतरा होते हुए भी पालिका पट्टे दिए जा रही है। विद्युत निगम अतिक्रमणों पर बिजली देने में लगा है। यहां पर हालात ये हैं कि जिस दिन जेसीबी पहुंच जाएगी तब कोई भी रोकने वाला नहीं होगा। आश्चर्य तो यह है कि इतना होते हुए भी लोग अभी भी लाखों रूपए लगा कर अतिक्रमणों को और पक्का कर आलीशान मकानों और कोठियों में बदलते जा रहे हैं।
लेखन .3अगस्त 2012.
अपडेट. 25 अगस्त 2019.
*************




शनिवार, 24 अगस्त 2019

युवती संतोष फरार 7 युवक गिरफ्तार:सूरतगढ़ से बड़ी खबर

* करणीदानसिंह राजपूत *

 सूरतगढ़ 23 अगस्त 2019.

युवती को आगे रखकर वारदात करने वाली गैंग के 7 नौजवानों शंकरलाल,भीमसेन,राजेंद्र कुमार, अजय कुमार,राकेश कुमार,टिक्कू राम, पवन कुमार को पुलिस ने पकड़ा मगर युवती संतोष धाणक बच निकली और फरार हो गई।

यह गैंग पुलिस के धक्के चढ़ी जिसमें महिला का बड़ा रोल सामने आया है। ताजा वारदात से लगा है की ये सूरतगढ़ में राष्ट्रीय उच्च मार्ग नं 62 पर वारदात करके भागकर पास के मोहल्ले में अपने निवासों मे चले जाते। कुछ युवक सूरतगढ़ के और कुछ बाहर से अपराध के लिए सूरतगढ़ में राष्ट्रीय उच्च मार्ग नं 62 के चिपते वार्ड नं 1 में रहने लगे। 

इस गिरोह के पकड़ में आने से और राज अपराध खुलने की संभावना मानी जा रही है लेकिन युवती संतोष धानक पुलिस के हत्थे लगने से पहले ही फरार हो गई। 

ताजा अपराध से लगता है युवती गैंग के एक युवक के साथ वाहन चालकों को रोकती,फिर कुछ अन्य युवक भी आते और वाहन चालक से मारपीट और लूटपाट करके भाग जाते।  इन्होंने कितने वाहन चालकों को अभी तक लूटा है यह मालूम नहीं हो सका लेकिन 21 अगस्त और 22 अगस्त की मध्यरात्रि के बाद करीब 3:00 बजे हुई एक घटना ने इनको पुलिस की गिरफ्त में पहुंचा दिया।

 पंजाब से एक ट्रक फ्रीज्ड मीट का लेकर चालक साहून खान सूरतगढ़ के पास बीरधवाल में सेना को पहुंचाने के लिए रवाना हुआ था। सूरतगढ़ के पास से नेशनल हाईवे पर से वह ट्रक ले जा रहा था। रिलायंस पेट्रोल पंप के पास में युवती और एक व्यक्ति ने टॉर्च के रोशनी से रुकने का इशारा किया। वाहन चालक ने अपना ट्रक रोका और नीचे उतरा। वह कुछ समझ पाता इससे पहले ही आसपास से और लोग आए और हमला कर दिया।चालक अचानक मारपीट से वह घबरा गया।

 इस गैंग ने वाहन चालक से रुपए मोबाइल ड्राइविंग लाइसेंस आदि छीने और फरार हो गए। पीड़ित ने सूरतगढ़ सिटी थाने की मदद ली और अपने साथ हुआ सारा किस्सा बताया। राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर अपराध गंभीर श्रेणी का माना जाता है और अपराध होते ही उच्चाधिकारियों को भी सूचना दी जाती है। तत्काल ही जिला मुख्यालय कंट्रोल रूम और शीघ्र ही राज्य के कंट्रोल रूम को ऐसी सूचना से अवगत कराया जाता है।


 सूरतगढ़ सिटी पुलिस थाना के थाना अधिकारी सीआई निकेत कुमार पारीक ने सूचना मिलने के बाद तत्काल कार्यवाही की और स्वयं के नेतृत्व में सब इंस्पेक्टर करतार सिंह व दो सिपाहियों रोशन लाल और तरसेम सिंह (ड्राइवर)के साथ एक टीम का गठन किया व खोज में लगाया। 


ट्रक चालक साहुन खान पुत्र कासिम निवासी टपकन जिला नूंह (मेवात) से पूछताछ और स्थान की जानकारी ले पुलिस टीम ने शीघ्र ही अभियुक्तों का पीछा किया। जहां पर यह मारपीट और लूट हुई वहां से पैरों के निशान पास के मोहल्ले में गए। पुलिस तो पुलिस होती है। पुलिस ने खोजबीन शुरू की तब वहां मालूम हुआ कि कुछ लोग सूरतगढ़ के और कुछ बाहर के इस लूट में शामिल है जिसमें एक युवती भी है। 

पुलिस ने 7 युवकों को अपनी गिरफ्त में लिया।  1-शंकरलाल पुत्र पप्पू राम धाणक उम्र 24 निवासी 42 एसएसडब्ल्यू,पुलिस थाना हनुमानगढ़ सदर,हाल निवासी वार्ड नंबर 1 सूरतगढ़।

2- भीमसेन पुत्र पप्पू राम जाति धाणक उम्र 21 साल निवासी एसएसडब्ल्यू,पुलिस थाना हनुमानगढ सदऱ जिला हनुमानगढ़ हाल निवासी वार्ड नंबर 1 सूरतगढ़।

3- राजेंद्र पुत्र पालाराम  जाति नायक उम्र 19 साल निवासी वार्ड नंबर 1 सूरतगढ।

4- अजय कुमार पुत्र राजकुमार जाति ओड  राजपूत उम्र 19 साल निवासी वार्ड नंबर 1 सूरतगढ़।

 5- राकेश कुमार पुत्र हेतराम जाति नायक उम्र 20 साल निवासी वार्ड नंबर 1 सूरतगढ।

6- टिकु राम उर्फ सुनील कुमार पुत्र सुखराम जाति नायक उम्र 20 साल निवासी वार्ड नंबर 1सूरतगढ़।

 7- पवन कुमार पुत्र काशीराम जाति नायक उम्र 19 साल निवासी वार्ड नंबर 1 सूरतगढ़।

ये सात लोग पुलिस की पकड़ में आए लेकिन इस गैंग में शामिल युवती संतोष धाणक बचने के लिए फरार है। 

सीआई निकेत कुमार पारीक ने बताया कि शीघ्र ही उसकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। पुलिस के अनुसार ट्रक चालक शाहुन खान के साथ मारपीट कर उसके पास से ₹13,000 ड्राइविंग लाइसेंस और मोबाइल छीन लिया गया था ।

पुलिस सब इंस्पेक्टर करतार सिंह 

की तेज जांच के कारण अपराधी कुछ घंटों में  पुलिस की निगाह में आ गए और 23 अगस्त को पकड़े गए।

^^^^^^^^^^^^



गुरुवार, 22 अगस्त 2019

माया शर्मा कालेज छात्रा सूरतगढ़ प्रथम-अक्षय ऊर्जा निबंध प्रतियोगिता


22-8-2019.

अक्षय ऊर्जा दिवस पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता में माया शर्मा स्व.गुरूशरण छाबडा राजकीय महाविद्यालय सूरतगढ ने प्रथम, नितिका आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने द्वितीय तथा कोमल अरोड़ा आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार सांत्वना पुरस्कार में भावना आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने चौथा, निशा चौधरी बल्लूराम गोदारा कॉलेज ने पांचवा, सुखप्रीत कौर चौधरी बल्लूराम गोदारा कॉलेज ने छठा, पलक चावला डीएवी कॉलेज श्रीगंगानगर ने सांतवा, तनुजा आत्मवल्लभ जैन कॉलेज ने आंठवा स्थान प्राप्त किया। 

 निबन्ध प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार 3000 रूपये, द्वितिय पुरस्कार 2000 रूपये, तृतीय पुरस्कार 1000 रूपये तथा 500-500 की नगद राशि के पांच सांत्वना पुरस्कार होगें।  निबंध प्रतियोगिता में विजेता प्रतिभागियों को 26 अगस्त 2019 को दोपहर 1 बजे कलेक्ट्रेट सभाहॉल में नगद पुरस्कार वितरित किये जायेंगे। 

---------

पालीवाला की रात्रि चौपाल- प्रभारी सचिव व जिला कलक्टर ने सुनी समस्याएं

* करणीदानसिंह राजपूत *

श्रीगंगानगर, 22 अगस्त 2019.

प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया व जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने सूरतगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत पालीवाला में रात्रि चौपाल में ग्रामीणों की समस्याओं को सुना तथा मौके पर ही अधिकारियों को समाधान व राहत के निर्देश दिये। 

जिला कलक्टर श्री नकाते ने कहा कि रात्रि चौपाल का उद्देश्य जिला स्तरीय व ब्लॉक स्तरीय अधिकारी गांव में पहुंचकर ग्रामीणों की समस्याओं को जानना तथा उसका उचित समाधान करना है। सामुदायिक समस्याओं के अलावा व्यक्तिगत लाभ की योजनाओं का लाभ भी पात्र नागरिकों को मौके पर ही दिया जाता है। जिन ग्रामीणों को प्रार्थना पत्र लिखना नही आता, उनके लिये स्टॉल लगाकर प्रार्थना पत्र लिखने की व्यवस्था भी रात्रि चौपाल में की जाती है। प्राप्त प्रार्थना पत्रों पर संबंधित विभाग की टिप्पणी ली जाती है। तत्पश्चात समस्या का उचित समाधान किया जाता है। 

रात्रि चौपाल में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत 11 नागरिकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ मौके पर दिया गया। जिला कलक्टर ने जनसुनवाई में ये पाया कि प्रार्थी बहुत गरीब तथा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ लेने के हकदार है। इस प्रकार मौके पर ही स्वीकृति जारी की गई तथा 4 नागरिकों के प्रार्थना पत्र रसद विभाग द्वारा आवश्यक कार्यवाही के बाद स्वीकृत किये जायेगें। रात्रि चौपाल में विधुत आपूर्ति में सुधार का प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ। जिला कलक्टर ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को आवश्यक संसाधन लगाकर आगामी 30 दिवस में विद्युत तंत्र में सुधार के निर्देश दिये। एक किसान ने आरक्षित श्रेणी में कृषि विद्युत कनेक्शन की मांग की। किसान को बताया गया कि अब तक प्राथमिकता सूची में 82 नम्बर तक किसानों को विद्युत कनेक्शन दे दिये गये है तथा आपका सूची में 99 नम्बर है। इस प्रकार लगभग एक माह में विद्युत कनेक्शन दिया जायेगा। गांव पालीवाला में घरों के उपर से गुजर रही विद्युत लाईन हटाने का प्रार्थना पत्र प्राप्त हुआ। जिला कलक्टर ने कहा कि विद्युत विभाग नियमानुसार उपभोक्ताओं से 50 प्रतिशत राशि जमा करवाकर विद्युत लाईन स्थानांतरित करें। 

रात्रि चौपाल में 17 एसटीबी के किसानों ने बताया कि पक्का खाला की टेल पर 8 मुरब्बा कच्चा खाला है, जिसे पक्का किया जाये। कच्चे खाले से पूर्व 5 मुरब्बा खाला पक्का बना हुआ है। जिला कलक्टर ने सिंचित क्षेत्र विकास विभाग को आवश्यक कार्यवाही करने के साथ-साथ नरेगा योजना में भी खाले का पक्का करने का प्रस्ताव ले लें, जिससे जो खाले छोटे-छोटे टुकड़ों में कच्चे है, उन्हें पक्का किया जा सकता है। रात्रि चौपाल में सरस्वती देवी ने श्रमिक पंजीयन योजना में शुभ शक्ति योजना का लाभ नही मिलने का प्रार्थना पत्र दिया। जिला कलक्टर ने श्रम विभाग के अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। रात्रि चौपाल में पेंशन तथा राजस्व से संबंधित प्रकरण भी प्राप्त हुए, जिनका समाधान किया गया। 

रात्रि चौपाल में कृषि विभाग द्वारा प्रधानमंत्री किसान समृद्धि योजना की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि खरीफ फसल में नरमा, कपास, ग्वार की फसलें अच्छी स्थिति में है। अगर फसलों में कही रोग नजर आये तो नजदीक के कृषि अधिकारी से संपर्क करें। सहकारी विभाग द्वारा बताया गया कि किसानों को ऋण लेने के लिये ऑनलाईन आवेदन करना होगा। पालीवाला के अब तक 217 किसानों ने आवेदन किया है। उधान विभाग द्वारा बागवानी पर दिये जाने वाले अनुदान, ग्रीन हाउस, खजूर की खेती तथा सोलर पैनल के अनुदान की जानकारी दी गई। रसद विभाग द्वारा बताया गया कि पालीवाला में बीपीएल व अन्तोदय के 237 परिवारों को तथा एपीएल के 412 परिवारों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ मिल रहा है। रात्रि चौपाल में नवोदय विद्यालय सूरतगढ में प्रवेश की जानकारी, शिक्षा विभाग की योजनाएं, समाज कल्याण विभाग की विभिन्न विभाग की योजनाओं की जानकारी दी गई। 

पेयजल परियोजनाओं का किया निरीक्षण

भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी एवं जिले के प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया व जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने सूरतगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत पालीवाला में रात्रि चौपाल से पूर्व गांव में संचालित पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया। उन्होंने पेयजल परियोजना की क्षमता तथा पेयजल कनेक्शन की जानकारी ली। पेयजल विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि ग्रामीणों को स्वच्छ पेयजल आपूर्ति की जाये तथा डिग्गियों की समय-समय पर सफाई के साथ-साथ फिल्टर चालू हालत में होने चाहिए। 

रात्रि चौपाल में अतिरिक्त जिला कलक्टर सर्तकता श्री राजवीर सिंह, मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु श्री मोहम्मद जुनेद, उपवन संरक्षक श्री प्योंग शशि, एसडीएम सूरतगढ श्री रामावतार कुमावत, जिला रसद अधिकारी श्री राकेश सोनी, उपनिदेशक कृषि श्री जी.आर.मटोरिया, सहायक निदेशक उधान प्रीति गर्ग, उपरजिस्ट्रार श्री दीपक कुक्कड़, अधीक्षण अभियंता श्री सुशील बिश्नोई, अधीक्षण अभियंता विद्युत श्री के.के.कस्वा, अधीक्षण अभियंता पेयजल श्री बलराम शर्मा, प्रर्वतक अधिकारी श्री सुरेश कुमार, सरपंच भागीरथ सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 

---------


बुधवार, 21 अगस्त 2019

चिदंबरम पर पूरी रिपोर्ट- CBI-गिरफ्तार कर मुख्यालय ले गई- बड़ा मामला


नई दिल्ली | Aug 21, 2019.


आईएनएक्स मीडिया घोटाला मामले में मुख्यारोपी, पूर्व वित्त मंत्री और सीनियर कांग्रेसी नेता पी.चिदंबरम बुधवार (21 अगस्त, 2019) रात फिल्मी ड्रामे जैसे हालात के बीच गिरफ्तार कर लिए गए।

सीबीआई, ईडी और दिल्ली पुलिस की संयुक्त टीम उनके घर में दीवार फांद कर घुसी और रात करीब 10 बजे वहां से सीबीआई मुख्यालय ले गई। जांच टीमें जब पूर्व केंद्रीय मंत्री के घर पहुंची थीं, तब सीबीआई निदेशक भी मुख्यालय पहुंच गए थे।

इसी बीच, दिल्ली में बीजेपी और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की भी खबर आई है, जबकि कुछ देर पहले, चिंदबरम ने पार्टी नेता कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी (सुप्रीम कोर्ट में उनके इस मामले में वकील) के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साफ किया था कि वह कानून से भागे नहीं हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री के मुताबिक, “जीवन और आजादी में वह आजादी चुनेंगे, क्योंकि आजादी के लिए लड़ना पड़ता है।” उन्होंने यह भी कहा कि जांच एजेंसियों को शुक्रवार तक रुकना चाहिए।

दरअसल, इस मामले में सीबीआई और ईडी उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर चुकी हैं और वे इनकी जांच टीमों के रडार पर हैं। मंगलवार शाम भी चिदंबरम के घर सीबीआई टीम पहुंची थीं, जबकि बुधवार को भी इन दोनों शीर्ष एजेंसियों के अधिकारियों ने पूर्व वित्त मंत्री को खोजने के लिए कई जगहों पर ताबड़तोड़ रेड मारी।

******

आईएनएक्स मीडिया मामले में मैं किसी अपराध का आरोपी नहीं हूंः चिदंबरम

चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा था ‘‘ मेरा मानना है कि लोकतंत्र की बुनियाद स्वतंत्रता है। संविधान का सबसे अहम अनुच्छेद 21 है जो जीवन और स्वतंत्रता की गारंटी देता है। अगर इनमें से एक को चुनने का विकल्प हो तो मैं बेहिचक स्वतंत्रता का चुनाव करूंगा।’’ उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटों में बहुत कुछ हुआ जिससे कुछ लोगों को चिंता हुई और भ्रम की स्थिति पैदा हुई।चिदंबरम ने कहा, ‘‘आईएनएक्स मीडिया मामले में मैं किसी अपराध का आरोपी नहीं हूं। मेरे परिवार का कोई सदस्य भी इस अपराध का आरोपी नहीं है। यहां तक अदालत में सीबीआई या ईडी द्वारा कोई आरोप पत्र भी दाखिल नहीं किया गया। प्राथमिकी में भी यह नहीं कहा गया है कि मैंने कुछ गलत किया।’’

   

गिरफ्तारी से पहले कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे थे पूर्व वित्तमंत्री

आईएनएक्स मीडिया मामले में आरोपों का सामना कर रहे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम गिरफ्तारी से पहले बुधावार देर शाम नाटकीय ढंग से कांग्रेस मुख्यालय पर पहुंचे और कानून से ‘छिपने’ की खबरों को खारिज करते हुए उम्मीद व्यक्त की थी कि उनके मामले में जांच एजेंसियां कानून का सम्मान करेंगी।

   

'राजनीतिक प्रतिशोध के तहत हो रही है कार्रवाई'

आईएनएक्स मीडिया मामले में अपने पिता पी चिदंबरम के साथ आरोपी कार्ती चिदंबरम ने बुधवार को दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार ‘‘राजनीतिक प्रतिशोध’’ के तहत कार्रवाई कर रही है। लोकसभा सदस्य कार्ती ने ट्वीट कर दावा किया कि उनके पिता के खिलाफ राजनीतिक प्रतिशोध के तहत कार्रवाई की जा रही है जबकि उनके परिवार का इस मामले से कोई लेनादेना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘मेरा आईएनएक्स मीडिया मामले से कोई लेनादेना नहीं है। हमारी सारी संपत्ति और देनदारियों का ब्यौरा घोषित है। मैंने कई बार यह बात कही है।’’ कार्ती ने कहा, ‘‘मेरे यहां चार बार छापेमारी की गई। 20 बार सम्मन किया गया और मैं उपस्थित हुआ। पूछताछ का समय हर बार 10-12 घंटे का होता था। 12 दिनों तक सीबीआई का ‘मेहमान’ रहा। इसके बाद भी अब तक कोई आरोपपत्र दाखिल नहीं हुआ जबकि यह कथित मामला 2008 में हुआ और 2017 में प्राथमिकी दर्ज की गई।’’


CBI और ED जारी कर चुकी हैं लुकआउट नोटिस

सीबीआई से पहले पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था। साथ ही बुधवार (21 अगस्त, 2019) को सुप्रीम कोर्ट में उनकी याचिका पर सुनवाई भी नहीं हो सकी। ऐसा इसलिए, क्योंकि सीजेआई रंजन गोगोई वाली संविधान पीठ उस दौरान अयोध्या से जुड़े मामले की सुनवाई कर रही थी। यही वजह थी कि मामला जस्टिस रमन्ना की बेंच के पास गया, तो उन्होंने चिदंबरम को राहत देने से इन्कार कर दिया।

जस्टिस रमन्ना बोले कि यह बेंच आदेश नहीं पारित कर सकती है, क्योंकि हम सीजेआई के बगैर मामले पर सुनवाई नहीं कर सकते। इसी बीच, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है। मामले में अब अगली सुनवाई शुक्रवार को होगी।

ईडी ने चिदंबरम के खिलाफ जांच का दायरा बढ़ाया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के खिलाफ धन शोधन मामले की जांच का दायरा बढ़ा दिया है। जांच एजेंसी को संदेह है कि आईएनएक्स मीडिया एवं एयरसेल-मैक्सिस के अलावा कम से कम चार और कारोबारी सौदों में कथित अवैध ‘‘एफआईपीबी’’ मंजूरी देने में उनकी संदिग्ध भूमिका थी। साथ ही, कई मुखौटा कंपनियों (शेल कंपनियों) के मार्फत करोड़ों रुपये की रिश्वत ली थी। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

ईडी को कुछ ऐसे भी सबूत मिले हैं, जिनके मुताबिक अवैध ‘‘विदेशी निवेश प्रोत्साहन बोर्ड’’ (एफआईपीबी) एवं ‘‘प्रत्यक्ष विदेशी निवेश’’ (एफडीआई) मंजूरी प्रदान करने के एवज में चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम द्वारा कथित तौर पर रिश्वत लेने के बाद एक शेल कंपनी में गैरकानूनी ढंग से 300 करोड़ रुपये से अधिक राशि कथित तौर पर डाली गई थी।

******

   याचिका में क्या बोले पूर्व केंद्रीय मंत्री?

यूपीए सरकार में वित्त मंत्री रह चुके पी चिदंबरम ने अपनी याचिका में कहा है कि आईएनएक्स मीडिया केस में उन्हें ‘मुख्य षड्यंत्रकारी’ बताने संबंधी दिल्ली उच्च न्यायालय की टिप्पणी पूरी तरह से निराधार है और इस मामले में दर्ज प्राथमिकी ‘‘राजनीति से प्रेरित और प्रतिशोध की कार्रवाई’’ है। पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी से अग्रिम जमानत के लिए अपनी याचिका खारिज करने के दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले को बुधवार को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी।

चिदंबरम ने अर्जी में कहा, ‘‘याचिकाकर्ता को मामले में मुख्य षड्यंत्रकारी बताने वाली न्यायाधीश की टिप्पणी पूरी तरह निराधार है और किसी भी सामग्री से इसकी पुष्टि नहीं की गई है। न्यायाधीश ने इस अहम तथ्य को नजरअंदाज किया कि याचिकाकर्ता ने सिर्फ विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की सर्वसम्मत सिफारिश स्वीकृत की, जिसकी अध्यक्षता आर्थिक मामलों के सचिव ने की और इसमें भारत सरकार के पांच अन्य सचिव शामिल थे।’’


चिदंबरम ने अगर गलती की है तो परिणाम भुगतना पड़ेगा: भाजपा


भाजपा ने कांग्रेस के उन आरोपों को बेबुनियाद करार देते हुए खारिज कर दिया कि उसके नेता पी चिदंबरम के खिलाफ केंद्र बदले की कार्रवाई कर रहा है। भाजपा ने दावा किया कि केंद्र सरकार जांच कार्यो में कोई हस्तक्षेप नहीं करती और उन्हें अपने किये के परिणाम का सामना करना होगा। भाजपा प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘अगर उन्होंने कोई गलती की है तब उन्हें परिणाम भुगतना होगा। जांच एजेंसियां सरकार के इशारे पर काम नहीं करती है। उन्हें स्वतंत्र रूप से काम करने का अधिकार है।’

   

राहुल-प्रियंका गांधी ने किया बचाव


दिल्ली हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सुप्रीम कोर्ट से भी अभी तक चिदंबरम को राहत नहीं मिल पाई है। इससे पहले, बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान जज रमना ने चिदंबरम को सीजेआई के पास जाने को कहा था। हालांकि, पूर्व कांग्रेस चीफ राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने चिदंबरम का बचाव किया है और कहा है कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही है।


   

'दबाव में काम कर रहीं एजेंसियां'


राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कहा कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी. चिदंबरम को गिरफ्तार करने के लिए जांच एजेंसियां जैसी हड़बड़ी दिखा रही हैं उससे स्पष्ट है कि ये एजेंसियां दबाव में काम कर रही हैं। गहलोत ने चिदंबरम की गिरफ्तारी को लेकर चल रहे घटनाक्रम के बीच इस बारे में ट्वीट किया।

उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि प्रत्येक भारतीय नागरिक को अपना बचाव करने और उसके लिए कानूनी प्रणाली के तहत उपलब्ध सभी कानूनी कदम उठाने का अधिकार है। गहलोत ने लिखा है, ‘‘पूर्व केन्द्रीय मंत्री चिदंबरम को पकड़ने के लिए जांच एजेंसियों की हड़बड़ी किसी भी औचित्य से परे है। यह स्पष्ट लगता है कि वे दबाव में काम कर रही हैं।’

   

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को घेरा, कहा...

उधर, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का आरोप है कि सरकार ''शर्मनाक तरीके से'' चिदंबरम के पीछे पड़ी है, क्योंकि वह बेहिचक सच बोलते हैं और सरकार की नाकामियों को सामने लाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह चिदंबरम के साथ खड़ी हैं और सच के लिए लड़ाई जारी रखी जाएगी। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ''''बहुत ही योग्य और सम्मानित राज्यसभा सदस्य पी चिदंबरम ने दशकों तक बतौर वित्त मंत्री, गृह मंत्री और दूसरे पदों पर रहते हुए पूरी वफादारी से देश की सेवा की है।"

   

ED ने क्या लगाए हैं पूर्व FM पर आरोप? जानिए

प्रवर्तन निदेशालय ने चिदंबरम पर सनसनीखेज आरोप लगाते हुए दावा किया है कि चिदंबरम ने घोटाले के पैसों से विदेशों में संपत्तियां खरीदी हैं! ईडी का दावा है कि इन संपत्तियों में यूके में एक कॉटेज और स्पेन के बार्सिलोना में एक टेनिस क्लब शामिल है। इसके साथ ही देश में भी कुछ संपत्ति की खरीद की गई है। बताया जा रहा है कि ये संपत्तियां 54 करोड़ रुपए में खरीदी गई।

   

'चिदंबरम के चरित्रहनन की कोशिश कर रही मोदी सरकार'

पूर्व कांग्रेस चीफ राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी सरकार चिदंबरम का चरित्रहनन करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई और ‘बिना रीढ़ वाले मीडिया’ का इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘मोदी सरकार ईडी, सीबीआई और बिना रीढ़ के मीडिया के कुछ धड़ों का इस्तेमाल कर रही है ताकि चिदंबरम का चरित्रहनन किया जा सके।’’ राहुल के मुताबिक, ‘‘मैं सत्ता के इस शर्मनाक दुरुपयोग की कड़ी निंदा करता हूं।’’


सुनवाई की दोहरी मांग पर क्या बोला टॉप कोर्ट?

सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की उस याचिका पर तत्काल सुनवाई से इन्कार कर दिया, जिसमें पूर्व वित्त मंत्री ने आईएनएक्स मीडिया मामलों में गिरफ्तारी से संरक्षण की मांग थी। टॉप कोर्ट बोला- याचिका में खामियों को अभी-अभी दुरुस्त किया गया है और इसे ‘‘तत्काल सुनवाई के लिए आज सूचीबद्ध नहीं किया जा सकता।’’

न्यायमूर्ति एन.वी.रमण, न्यायमूर्ति एम.शांतनगौडर और न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी की बेंच बोली, ‘‘याचिका को सूचीबद्ध किए बिना, हम मामले पर सुनवाई नहीं कर सकते।’’

कोर्ट में पी.चिदंबरम का पक्ष रख रहे वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने जब मामले पर आज ही सुनवाई करने की मांग दोहराई तो बेंच ने कहा, ‘‘माफ कीजिए श्रीमान सिब्बल। हम मामले पर सुनवाई नहीं कर सकते।’’

   

मामले की लिस्टिंग के लिए किया दोबारा अनुरोध

चिदंबरम के वकीलों ने आईएनएक्स मीडिया मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ उनकी याचिका को तत्काल सूचीबद्ध करने का उच्चतम न्यायालय से दोबारा अनुरोध किया। उच्चतम न्यायालय ने कहा कि याचिका में कुछ खामियां हैं और रजिस्ट्री इसे सूचीबद्ध करेगी। फिलहाल उच्चतम न्यायालय ने अपने रजिस्ट्री अधिकारी को तलब किया और पी चिदंबरम की याचिका की स्थिति के बारे में पूछताछ की।

चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तारी से छूट दिए जाने का न्यायालय से अनुरोध किया। चिदंबरम ने कहा कि आईएनएक्स मीडिया मामले में उन्हें कर्ता-धर्ता बताने संबंधी दिल्ली उच्च न्यायालय की टिप्पणी पूर्णतय: निराधार है और इसकी पुष्टि करने वाली कोई सामग्री उपलब्ध नहीं हह

सीबीआई सुप्रीम कोर्ट पहुंची

चिदंबरम मामले में सीबीआई सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है और अपील की है कि उनका पक्ष सुने बगैर कोर्ट कोई फैसला ना दे। वहीं चिदंबरम के वकील और वरिष्ट कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल एक बार फिर जस्टिस रमना की बेंच में गए हैं। बता दें कि जस्टिस रमना ने ही आज सुबह चिदंबरम के केस को सीजेआई की बेंच के पास भेज दिया था। 

13:51 (IST)

21 AUG 2019

   

2007 में प्रकाश में आया आईएनएक्स मामला

आईएनएक्स मीडिया मामले में सीबीआई ने 15 मई 2017 में प्राथमिकी दर्ज की थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि 2007 में जब चिदंबरम वित्त मंत्री थे तब 305 करोड़ रुपये की विदेशी धनराशि प्राप्त करने के लिए मीडिया समूह को दी गई विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) मंजूरी में अनियमितताएं बरती गईं। प्रवर्तन निदेशालय ने इस संबंध में 2018 में धनशोधन का एक मामला दर्ज किया। 

चिदंबरम द्वारा FIPB को मंजूरी दिए जाने पर उठे सवाल

सीबीआई जांच कर रही है कि 2006 में वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए चिदंबरम ने एक विदेशी कंपनी को एफआईपीबी मंजूरी कैसे दे दी क्योंकि ऐसा करने का अधिकार केवल आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) के पास ही होता है।

   

राहुल गांधी ने किया ट्वीट

राहुल गांधी ने ट्वीट कर चिदंबरम के खिलाफ जारी सरकार की कार्रवाई की आलोचना की है। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि सरकार सीबीआई, ईडी और मीडिया का गलत इस्तेमाल कर रही है और चिदंबरम की छवि को नुकसान पहुंचाने का प्रयास कर रही है।

   

सीबीआई ने SC में चिदंबरम की याचिका के जवाब में कैविएट दाखिल की

सीबीआई ने चिदंबरम मामले में सुप्रीम कोर्ट में एक कैविएट दाखिल की है। इस कैविएट में सीबीआई ने मांग की है कि उनका पक्ष सुने बिना इस मामले में कोई फैसला ना किया जाए। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट से राहत पाने की उम्मीदों में जुटे चिदंबरम को इससे झटका लग सकता है।

12:42 (IST)

21 AUG 2019

   

एयरसेल-मैक्सिम मामला निचली अदालत में लंबित

सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज एयरसेल मैक्सिस मामलों में चिदंबरम तथा उनके बेटे की जमानत संबंधी याचिकाएं निचली अदालत में लंबित हैं। दोनों को निचली अदालत ने गिरफ्तारी से 23 अगस्त तक अंतरिम राहत प्रदान की है। एयरसेल मैक्सिस मामलों में पूर्व केंद्रीय मंत्री चिदंबरम को पहली बार पिछले साल जुलाई में अंतरिम राहत मिली थी। इसके बाद समय समय पर उनकी अंतरिम राहत की अवधि बढ़ाई जाती रही है।

   

आनंद शर्मा ने सरकार पर साधा निशाना

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने मंगलवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार विरोधी नेताओं को चुनकर निशाना बना रही है और यह उसकी कार्यशैली बन चुका है।


   

CJI से अभी तक नहीं मिल सकी है चिदंबरम की लीगल टीम


चिदंबरम की याचिका पर अब सीजेआई रंजन गोगोई सुनवाई करेंगे।  हालांकि चिदंबरम की लीगल टीम अभी तक इस मुद्दे को लेकर सीजेआई से मुलाकात नहीं कर सकी है। बता दें कि आईएनएक्स मामले में राहत पाने के लिए चिदंबरम ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। 


प्रियंका गांधी ने किया चिदंबरम का समर्थन

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को आरोप लगाया कि सरकार "शर्मनाक तरीके से" चिदंबरम के पीछे पड़ी है क्योंकि वह बेहिचक सच बोलते हैं और सरकार की नाकामियों को सामने लाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह चिदंबरम के साथ खड़ी हैं और सच के लिए लड़ाई जारी रखी जायेगी।

   

चिदंबरम के वकीलों ने बचाव में कही ये बात

चिदंबरम की कानूनी टीम ने कहा कि सीबीआई और ईडी के नोटिस में कानून के उन प्रावधानों का जिक्र नहीं किया गया है जिनके तहत उन्हें तलब किया गया है। चिदंबरम के वकील अर्शदीप खुराना ने कहा कि उनके मुवक्किल को 'खबरों के जरिए' पता चला कि उन्हें आईएनएक्स मीडिया मामले में जांच अधिकारियों के समक्ष पेश होने को कहा गया है।

   

सुप्रीप कोर्ट से चिदंबरम को फिलहाल नहीं मिली राहत

चिदंबरम की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल राहत नहीं दी है। दरअसल जस्टिस रमना ने चिदंबरम की याचिका को सुनवाई के लिए सीजेआई के पास भेज दिया है। ऐसे में अब सीजेआई याचिका पर सुनवाई कर सकते हैं। 

क्या बोले चिदंबरम के वकील

चिदंबरम के वकील अर्शदीप खुराना ने कहा, ‘‘ मुझे यह बताने को कहा गया है कि आपके (सीबीआई और ईडी) नोटिस में कानून के उस प्रावधान का उल्लेख नहीं है, जिसके तहत मेरे मुवक्किल को आधी रात को दो घंटे के एक ‘शॉर्ट नोटिस’ पर पेश होने को कहा गया।’’ इसके अलावा, कृपया ध्यान दें कि मेरा मुवक्किल कानून द्वारा मुहैया कराए गए अधिकारों का इस्तेमाल कर रहा है और उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज किए जाने के आदेश पर राहत पाने के लिए माननीय उच्चतम न्यायालय का 20 अगस्त 2019 को रुख भी किया है।’

   

जज ने कहा प्रथम दृष्टया मुख्य साजिशकर्ता लग रहे हैं पूर्व वित्त मंत्री

आईएनएक्स मीडिया मामले में पी.चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। याचिका खारिज करने वाले जज ने कहा कि प्रथम दृष्टया पूर्व वित्त मंत्री इस मामले में मुख्य साजिशकर्ता लग रहे हैं। 


बाड़मेर हरिद्वार लिंक गाड़ी को बाड़मेर हरिद्वार गाड़ी बनाकर चलाने की मांग

* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 21 अगस्त 2019.

नागरिक संघर्ष समिति रेल की ओर से मांग की गई है कि बाड़मेर हरिद्वार लिंक गाड़ी को बाड़मेर से हरिद्वार गाड़ी बनाकर चलाया जाए। सूरतगढ़ रेलवे स्टेशन की साफ सफाई नियमित रूप से की जाए। रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार के अंदर बड़े वाहन निषेध किए जाएं और सूरतगढ़ से जयपुर रेल गाड़ी को प्लेटफार्म नंबर एक से चलाया जाए।

यह मांग पत्र आज 21 अगस्त को स्टेशन अधीक्षक के मार्फत महाप्रबंधक उत्तर पश्चिम रेलवे जयपुर को भिजवाया गया।

 रेल समिति के कार्यकर्ता स्टेशन अधीक्षक कार्यालय में समिति संयोजक लक्ष्मण शर्मा सचिव मदन औझा के नेतृत्व में पहुंचे तथा ज्ञापन दिया।

संयोजक लक्ष्मण शर्मा ने आरोप लगाया कि रेलवे प्रशासन की निष्क्रियता के कारण जनहित के छोटे-छोटे कार्य संपन्न नहीं हो रहे हैं जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रेलवे स्टेशन के मुख्य द्वार से उपखंड कार्यालय की तरफ जाने वाली सड़क नहीं बनाई जा रही है। रेलवे प्लेटफार्म पुल की सीढ़ियों के साथ में लिफ्ट भी लगाई जानी चाहिए थी जो अभी तक नहीं लगाई गई है। पुल की सीढ़ियों पर चढ़ते चढ़ते पिछले 2 वर्ष में तीन व्यक्तियों की मौत हार्ट अटैक से हो चुकी है।

 प्रतिनिधिमंडल में एडवोकेट राम प्रताप तिवारी, क्रांतिकारी महावीर प्रसाद,राजकुमार,इंद्रसेन, पार्षद विनोद पाटनी, घनश्याम आहूजा,ओम सोमानी, भंवर चांडक,रतन सोनी, मनोज सोमानी,ज्ञान बजाज सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

ईमित्रा पर 10 हजार रू.जुर्माना-अधिक वसूली पर कार्रवाई

* जिला प्रशासन ने किया इसे स्थायी रूप से किया बंद*

श्रीगंगानगर, 21 अगस्त 2019.

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद नकाते ने एक आदेश जारी कर ई-मित्रा सेवाओं के बदले निर्धारित से अधिक राशि वसुलने एवं आमजन को गुमराह करने पर दण्ड स्वरूप 10000 रूपये की राशि व शास्ति आरोपित करते हुए जे.के. कमर्शियल ई-मित्रा केन्द्र कियोस्क को स्थाई रूप से बंद कर दिया गया।

श्रीगंगानगर शहर की एक छात्रा द्वारा जिला कलक्टर को प्रार्थना पत्र देकर जे.के. कमर्शियल ई-मित्रा केन्द्र के विरूद्ध एम.ए का आवेदन पत्र भरते समय ओबीसी प्रमाण-पत्र की गलत जानकारी भरना तथा स्पोटर्स कोटे का प्रमाण पत्र न लगाने का आरोप लगाते हुये शिकायत दर्ज करवायी गई। 

        जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने शिकायत की जांच एसीपी (उपनिदेशक) सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग द्वारा करवाई गई। विभाग द्वारा जिला कलक्टर को जानकारी उपलब्ध करवाई गई जिसके तहत जे.के.कमर्शियल ई-मित्रा केन्द्र द्वारा ऑनलाईन फार्म भरने के प्रति फार्म 100 रूपये लिये जा रहे थे, जबकि इसकी निर्धारित शुल्क राशि 40 रूपये प्रति आवेदन पत्र है, साथ ही दस्तावेज की जांच करने पर कियोस्क संचालक द्वारा शिकायतकर्ता के ओबीसी के पुराने प्रमाण पत्र के जारी करने की तिथि को बदल कर भरा गया, जिसके कारण शिकायतकर्ता छात्रा को महाविद्यालय में एडिमिशन नही मिल पाया। इसके अलावा कियोस्क द्वारा बिजली के बिलों को तुरंत ऑनलाईन भरकर रसीद देने के बजाय मोहर लगाकर दिया जा रहा था, जिसे विभाग द्वारा जब्त कर लिया गया। 

       सूरतगढ़ में अधिक वसूली और बिजली बिलों की ओन लाईन नहीं भरने और मोहर लगाकर देने वालों पर कार्यवाही की आवश्यकता है।

सूरतगढ गौरव पथ पर खतरनाक बना गड्ढा-दूर्घटना करवाएगा


 *करणी दान सिंह राजपूत *


सूरतगढ़ 21 अगस्त 2019.

गौरव पथ और बाईपास दोनों सड़कें राठी स्कूल के उतरी कोने के पास जुड़ती हैं वहां पर खतरनाक बुड्ढा बन गया है जो मामूली असावधानी में जानलेवा साबित हो जाएगा। यहां पर अंडर ब्रिज और नगर पालिका की ओर जाने वाली सड़क का चौराहा है।


 गौरव पथ का निर्माण चल रहा था तब यहां पर घटिया मसाला कंक्रीट ब्लास्ट आदि का आरोप लगाया गया था। नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष बनवारीलाल मेघवाल पूर्व विधायक हरचंद सिंह सिद्धू व अन्य लोगों ने एक बार काम रुकवा दिया था। आरोप लगाया गया था कि यहां मसाला आदि सब कुछ घटिया लग रहा है जो आने वाले टाइम में टिक नहीं पाएगा। सार्वजनिक निर्माण विभाग के एक अभियंता ने मौके पर आकर कहा कि आप के आरोप गलत हैं और मौके पर कंक्रीट सीमेंट आदि का नमूना भी पैक करवाया था। नमूने का परिणाम प्रयोगशाला में क्या आया होगा लेकिन मौके के ऊपर यह परिणाम गड्ढे के रूप में दिखाई दे रहा है जो और बड़ा होता जा रहा है। इस गड्ढे से,या इससे बचकर निकलने की  मामूली सी असावधानी से भी वाहन पलटा मार सकते हैं इधर उधर से निकालने की कोशिश में एक दूसरे से टकरा भी सकते हैं। वाहन चालकों को तो सड़क पर अचानक दिखाई पड़ते ही इधर ऊधर होना ही पड़ता है और वहीं दूसरे से टक्कर भी संभावित हो सकती है।

***********


सुलक्षणा दत्ता बीकानेर को फूलमती कमला देवी स्मृति सम्मान

 * करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 21 अगस्त 2019.

साहित्य सृजन पत्रकारिता सामाजिक सरोकार आदि उपलब्धियों पर महिलाओं को  दिया जाने वाला 'श्रीमती फूलवती कमला देवी तिवारी स्मृति सम्मान 2018-19 बीकानेर की ख्याति प्राप्त साहित्यकार डा.श्रीमती सुलक्षणा दत्ता 'रूह'को दिया जाना घोषित हुआ है। उनका कविता संग्रह 'हिलियस के प्रेम में" को विशेष रचना मानते हुए यह पुरस्कार घोषित किया गया है। इससे पूर्व यह पुरस्कार कई महिलाओं को प्रदान कर सम्मानित किया जा चुका है।  सम्मान समारोह के मुख्य वक्ता असद अली असद बीकानेर होंगे। 

सम्मान संयोजक रामेश्वर दयाल तिवारी 'राही'ने कहा है कि शीघ्र ही समारोह की तिथि घोषित कर दी जाएगी।

********


सोमवार, 19 अगस्त 2019

अलगाववादी को पाबंदी में दी फोन-इंटरनेट की सर्विस! बीएसएनएल के दो अधिकारी सस्पेंड


नई दिल्ली | 19 अगस्त 2019.

जम्मू और कश्मीर प्रशासन ने राज्य में पाबंदी के दौरान अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी को फोन व इंटरनेट सर्विस उपलब्ध कराने के मामले में बीएसएनएल के दो अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है।

 खबरों के अनुसार हुर्रियत नेता गिलानी के पास राज्य में पाबंदी के दौरान 4 दिन तक इंटरनेट सेवा उपलब्ध थी।

केंद्र सरकार की तरफ से जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने और केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने की घोषणा के एक दिन पहले ही राज्य में सभी प्रकार की संचार सेवाओं पर रोक लगा दी गई थी। इन तमाम पाबंदियों के बावजूद कट्टरपंथी नेता सैयद अली शाह गिलानी का लैंडलाइन के साथ ही ब्रॉडबैंड सुविधा 8 अगस्त की सुबह तक बहाल थी।


जब गिलानी ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया तब प्रशासन को इस बात की जानकारी मिली कि अलगावादी नेता सैयद अली शाह का इंटरनेट कनेक्शन बहाल है।  केंद्र सरकार का कहना था कि इन ट्विटर अकाउंट के जरिये घाटी में नफरत फैलाई जा रही है।

प्रशासन की तरफ से इस बात की जांच की जा रही है कि जब किसी के लिए भी इंटरनेट उपलब्ध नहीं था तब गिलानी को इंटरनेट एक्सेस कैसे मिला। इस संबंध में कार्रवाई करते हुए सरकारी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी बीएसएनएल ने अपने दो अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है।

लूपहोल सामने आने के बाद गिलानी का इंटरनेट कनेक्शन बंद कर दिया गया था। 



रविवार, 18 अगस्त 2019

महिला जनप्रतिनिधि स्वयं कार्य करें - पटवारी व ग्रामविकास अधिकारी मुख्यालय पर 9 से 6-30 तक काम करें



20 सूत्री कार्यक्रम के लक्ष्यों को पूरा करे : शिक्षा राज्यमंत्री


श्रीगंगानगर, 17 अगस्त 2029. शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि ग्राम स्तर पर सेवारत पटवारी व ग्राम विकास अधिकारियों को मुख्यालय पर रहकर प्रतिदिन प्रातः 9 बजे से सायं 6.30 बजे तक कार्यालयों में उपस्थित रहना होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कर्मिक एक प्रमुख कड़ी हैं। 

श्री डोटासरा ने कलैक्ट्रेट सभाहॉल में 20 सूत्री कार्यक्रम की समीक्षात्मक बैठक में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिक मुख्यालय पर नही रहेंगे तो, जो विकास का सपना हम देख रहे हैं वह पूरा नहीं  होगा। उन्होने कहा कि ग्राम स्तर के कार्मिकों का नियमित निरीक्षण किया जाए तथा ग्राम पंचों से उपस्थिति के संबंध में फीडबैक लिया जाए। उन्होंने कहा कि चुनी हुए महिला जनप्रतिनिधियों तथा राजकीय सेवा में सेवारत महिला कार्मिक स्वयं ही अपने कार्य को पूरा करें तथा वे सक्षम भी है, लेकिन कई स्थानों पर महिलाओं के पति कार्य करते हैं  या कार्य में दखलांदाजी करते हैं जो उचित नही है। उन्होने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में मेट को रोटेशन के अनुसार लगाए, अगर प्रशिक्षण की आवश्यकता है, तो उन्हे प्रशिक्षित किया जाए। 

राज्यमंत्री श्री डोटासरा ने कहा कि सम्बल ग्राम योजना के तहत जो 1409 गांव चिन्हित है, उनमें योजना के अनुसार मूलभूत सुविधाएं विकसित की जाए। ये वो गांव है, जिनमे सर्वाधिक अनुसूचित जाति के परिवार निवास करते है। उन्होंने  कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों के सम्पर्क में रहे तथ विकास से संबंधित कार्यो में किसी तरह का विलम्ब नहीं  होना चाहिए। उन्होने पर्यावरण की रक्षा के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के इस कार्य में आमजन की भागीदारी भी होनी चाहिए। उन्होने कहा कि जिन वृद्धजनों की पैंशन बंद है, उसे चालू की जाए तथा जो पात्र है, उनके नये आवेदन प्राप्त किए जाएं।  उन्होंने जिले में संचालित वृद्धाश्रम का लगातार निरीक्षण करने व उनकी सुविधाओं का ध्यान रखने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि इन केन्द्रों में पीड़ित मानव की सेवा होती है , उन्हें और उसे और बेहतर बनाना है।

श्रीर डोटासरा ने जिले में विद्युत आपूर्ति नियमित रखने, खराब मीटरों को बदलने तथा विद्युत छिजत में कमी लाने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि शिक्षण कार्य में लगे शिक्षकों, प्रधानाचार्यो से शिक्षा का कार्य ही लिया जाए। किसी कार्यालय में कार्मिकों के अभाव में कार्य प्रभावित हो रहा हो तो मंत्रालयी कार्मिकों  की सेवा ली जाए। उन्होंनेे कहा कि माननीय मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप अधिकारी जनता की समस्याओं को सुने तथा उसका समाधान करने का पूरा प्रयास करें।  हमारा दायित्व है कि हम जनता की आशाओं पर खरे उतरें।  उन्होने स्वीकृत विकास कार्यो को पूर्ण करने तथा पूर्ण कार्यो की यूसी व सीसी जारी करने में विलम्ब न करने के निर्देश दिए। 

गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़ ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा में श्रमिकों को पूरी मजदूरी मिले, इसके लिए अधिकारी उनसे टॉस्क पूरा करवाए। उन्होंने शहर में सीवरेज कार्यो में तेजी लाने का सुझाव दिया। श्री गौड ने कहा कि सीवरेज के अधूरे कार्यो से आमजन को परेशानी हो रही है, जो सड़के, नालियां अधूरी है, उन्हे पूरा किया जाए। 

सादुलशहर विधायक श्री जगदीश जांगिड ने सुझाव दिया कि महात्मा गांधी नरेगा में जो मेट लम्बे समय से चल रहे है, उन्हे बदला जाए। मेट के नये पेनल के लिए प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाए। उन्होने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत राशन गांव में ही बांटने का आग्रह किया। उन्होने विद्युत आपूर्ति तथा विद्युत ट्रिपिंग की समस्या भी बैठक में रखी। 

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि 20 सूत्री कार्यक्रम में रोजगार सृजन के लिए 22 लाख के  विरूद्ध 45 लाख रूपये की राशि युवाओं को उपलब्ध करवाई गई है। जिले में महिला समूहों का गठन किया जाकर उन्हें बैंको से वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई गई है। जिले में आयोजित रात्रि चौपालों में पात्र  नागरिकों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का लाभ दिया जाता है। जो आवेदन पत्र लम्बित हैं उनका निस्तारण विकास अधिकारियों के माध्यम से करवाया जाएगा। प्रधानमंत्री आवास निर्माण में जिला राज्य में प्रथम स्थान पर है। 

जिला कलक्टर ने बताया कि वृक्षारोपण के कार्यक्रम आयोजित कर पौधे लगाने का कार्य वन विभाग के अलावा शिक्षा विभाग तथा अन्य विभागों द्वारा किया जा रहा है। गरीब परिवारों को बिजली उपलब्ध करवाने के 1071 के लक्ष्य के विपरित 1462 गरीब परिवारों को बिजली दी गई है।

पुलिस अधीक्षक हेमन्त शर्मा ने जिले की कानून व्यवस्था की जानकारी दी। 

बैठक में सूरतगढ विधायक  रामप्रताप कासनिया, मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ स्वामी, एडीएम प्रशासन  ओ.पी. जैन, एडीएम सतर्कता राजवीर सिंह, उपवन संरक्षक पयोंग शशि, विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता  के.के. कस्वा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता सुशील बिश्नोई, पेयजल विभाग के अधीक्षण अभियन्ता बलराज शर्मा सहित विभिन्न विभागों अधिकारी उपस्थित थे। 

----------




शुक्रवार, 16 अगस्त 2019

अटल बिहारी वाजपई अमर रहे अमर रहे- सूरतगढ़ में श्रद्धांजलि



 - करणीदानसिंह राजपूत -

 सूरतगढ़ 16 अगस्त 2019.

 अटल बिहारी वाजपेई की प्रथम पुण्यतिथि पर यहां महाराणा प्रताप चौक पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित हुआ।

 विधायक रामप्रताप कासनिया के नेतृत्व और गौरव बलाना के संयोजन आह्वान पर शाम को 6:30 बजे भारतीय जनता पार्टी के पदाधिकारी कार्यकर्ता व बाजपेयी तथा भाजपा समर्थक लोग एकत्रित हुए। 

वाजपेई के चित्र पर पुष्प अर्पित किए गए।  इस अवसर पर अटल बिहारी वाजपई अमर रहे अमर रहे के नारे लगाए जाते रहे नारों के साथ वाजपेयी के चित्र पर पुष्पांजलि दी जाती रही।

 विधायक रामप्रताप कासनिया, पूर्व पालिकाध्यक्ष श्रीमती आरती शर्मा, जिला महामंत्री मुरलीधर  पारीक,भाजपा महिला नेता श्रीमती रजनी मोदी, अशोक आसेरी,सुभाष सैनी, टंडन,गिरी,पालिका उपाध्यक्ष पवन औझा, तुलसी राम, सुभाष सोनी, कृष्ण छींपा,मोर्चों के पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं  ने पुष्पांजलि अर्पित की।

माइक्रोवेव ओवन स्वास्थ्य का दुश्मन - कारण जान दंग हो जाएंगे

जापान सरकार ने इस वर्ष के अंत से पहले देश में सभी  *माइक्रोवेव ओवन*  का निपटान करने का फैसला किया है और सभी नागरिक और संगठन जो आवश्यकता को पूरा नहीं करते हैं, उन्हें जुर्माना और जेल की शर्तों के साथ धमकी दी जाती है।

राइजिंग सन की भूमि में "माइक्रोवेव ओवन" पर प्रतिबंध का कारण हिरोशिमा विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा किया गया एक शोध था, जहां उन्होंने पाया कि "रेडियो तरंगें" 20 वर्षों में नागरिकों के स्वास्थ्य को अधिक नुकसान पहुंचाती हैं, खासकर जब माइक्रोवेव ओवन का उपयोग करना जो 1945 में हिरोशिमा एन नागासाकी पर अमेरिकी परमाणु बमों की तुलना में अधिक हानिकारक है।विशेषज्ञों के अनुसार, माइक्रोवेव ओवन में गर्म किए गए भोजन में बहुत ही अस्वास्थ्यकर कंपन और विकिरण होते हैं।

दरअसल, जापान में "माइक्रोवेव ओवन" के सभी सबसे बड़े निर्माताओं को बंद किया जा रहा है, जहां यह उत्पाद निर्मित होता है।

2021 में, "माइक्रोवेव ओवन" का उत्पादन रोक दिया जाएगा, जैसा कि दक्षिण कोरिया में घोषणा की गई है, और चीन ने 2023 में इस प्रकार की तकनीक को छोड़ने की योजना बनाई है।

*********

काशीरा कैंसर केंद्र में कैंसर की रोकथाम पर एक सम्मेलन आयोजित किया गया था, सम्मेलन के अंत में की गई सिफारिशों के अनुसार, इन खाद्य पदार्थों से बचा जाना चाहिए:


1. परिष्कृत तेल

2. पशु उत्पत्ति का दूध (अनुशंसित सोया दूध)

3. खाद्य क्यूब्स (चिकन शोरबा मसाले जैसे मैगी और जैसे)

4. सोडा (प्रति लीटर चीनी के 32 टुकड़े)

5. *परिष्कृत चीनी*

6. माइक्रोवेव ओवन

7. इकोकार्डियोग्राफी को छोड़कर जन्म से पहले मैमोग्राम न करें

8. बहुत संकीर्ण अंडरवियर n ब्रा

9. शराब

10. आइस्ड फूड को डिसाइड करना और फिर उसे रिफ्रीज़ करना

11. प्लास्टिक की बोतलों में रेफ्रिजरेटर से पीने का पानी

12. गोलियां क्योंकि यह महिलाओं में हार्मोनल सिस्टम को बदलती है और कैंसर का कारण बनती है

13. शेविंग के बाद उपयोग किए जाने विशेष डिओडोरेंट क्योंकि वे कैंसर का कारण बनते हैं

14. *व्हाइट शुगर* किसी भी रूप में (कैंसर कोशिकाओं को मुख्य रूप से चीनी पर फ़ीड)। कैंसर के रोगियों को अपने आहार में चीनी से बचना चाहिए।



*सम्मेलन की सिफारिशों के अनुसार, वे इन्हें अपने आहार में शामिल करने की सलाह देते हैं*


1. सब्जियाँ

2. शहद का उपयोग चीनी के बजाय मध्यम रूप से किया जाता है

3. प्लांट प्रोटीन (मांस के बजाय सेम)

4. दांत ब्रश करने से पहले खाली पेट पर शरीर के तापमान पर दो कप पानी

5. भोजन गर्म होना चाहिए और बहुत गर्म नहीं होना चाहिए

6. एलोवेरा जूस + अदरक + अजमोद + अजवाइन + ब्रोमेलिन। हम उन्हें मिश्रण करने और उन्हें खाली पेट पीने की सलाह देते हैं

7. प्रतिदिन गाजर का रस

8. भोजन के साथ टमाटर, लहसुन n प्याज



ध्यान दें : *अमेरिकन फिजिशियन एसोसिएशन ने पाया कैंसर के कारण*


1. प्लास्टिक के कप में चाय, कॉफी या कुछ भी गर्म न पीएं

2. कागज या कार्डबोर्ड या प्लास्टिक की थैली में लिपटे हुए कुछ भी न खाएं (उदाहरण के लिए: तले हुए आलू)

3. प्लास्टिक या माइक्रोवेव के व्यंजन न खाएं


😇

*निम्नलिखित नोट करना चाहते हैं:*


जब प्लास्टिक गर्मी के संपर्क में होता है, तो रासायनिक यौगिक जो 52 प्रकार के कैंसर का कारण बन सकते हैं।


इस प्रकार, आपको सभी प्रकार के शीतल पेय जैसे "कोला, पेप्सी, एवी, फांटा एन सभी केंद्रित रस पीने से बचना चाहिए।


ताजा अनानास खाएं और कोला के साथ अनानास के रस के मिश्रण से बचें क्योंकि यह मिश्रण घातक है क्योंकि यह लोगों को मौत का कारण होगा क्योंकि उन्हें लगता है कि इसका कारण विषाक्तता है और वे इस घातक कॉकटेल के अपने अज्ञान का शिकार हैं!


बाएं कान के माध्यम से कॉल का जवाब दें और हेडफ़ोन का बेहतर उपयोग करें


ठंडे पानी से दवा न पिएं


शाम 7 बजे के बाद भारी भोजन न करें


सुबह में पानी पीएं शाम को कम,

खाने के तुरंत बाद एक क्षैतिज स्थिति (लेट / नींद) न लें


जब आपकी फोन की बैटरी लगभग मृत हो जाए, तो फोन को न उठाएं, क्योंकि यह रेडिएशन चार्ज बैटरी से 1000 गुना ज्यादा मजबूत है।


गुरुवार, 15 अगस्त 2019

जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति- बसंत विहार कालोनी पार्क में बैंचें भेंट


* करणीदानसिंह राजपूत *

सूरतगढ़ 15-8-2019.

स्वतंत्रता दिवस पर 15 अगस्त 2019 को आज वसंत विहार पार्क में स्वर्गीय जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति में बैंचें भेंट की गई। इस पार्क में शाम को कॉलोनी के बुजुर्ग व महिलाएं आदि घूमने आते हैं। बड़े लोगों के बैठने के लिए  बैठने की सुविधा रहेगी। 

जगदीश चंद्र शर्मा की स्मृति के में आयोजित कार्यक्रम में उनकी लोकप्रियता और जीवनी की खास बातें बताई गई कि वे मित्रों के मित्र और समाजसेवी लोगों के साथी रहे थे।



 श्री जगदीश चंद्र शर्मा का देहांत 17 अगस्त 2016 को हुआ था। इसी 17 अगस्त को तृतीय पुण्यतिथि आने वाली थी और इसी अवसर को ध्यान में रखते हुए स्वतंत्रता दिवस पर उनकी स्मृति में बैंचें भेंट की गई।  

इस अवसर पर शर्मा

 जी के पुत्र मनीष व पंकज,पुत्रवधुएं व पोते मित्रगण व कॉलोनी वासी उपस्थित थे।

स्वर्गीय जगदीश चंद्र शर्मा मोटर मार्केट के व्यवसायी थे लेकिन वे समाजोपयोगी सामग्री पर लेख लिखते थे जो नवभारत टाइम्स जयपुर व दिल्ली व  से प्रकाशित होने वाली पत्र पत्रिकाओं में छपते थे। आकाशवाणी से भी उनकी वार्ताएं प्रसारित हुआ करती थी। सामान्य रूप से लोग उन्हें व्यवसायी मानते रहे और उनके लेखन कार्य के बारे में कुछ लोग ही जानते हैं,जो लेखन आदि से जुड़े हुए हैं। 

जगदीश चंद्र शर्मा पहले राजस्थान सरकार की इंजीनियरिंग सेवा में थे और फेमिन वर्क ( आकाल राहत) के समय उन्होंने यह माना कि भ्रष्टाचार है इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़ कर सन 1972 में स्पेयर पार्ट्स की दुकानदारी शुरू की। उनका व्यवसाय शर्मा मोटर स्टोर (पुराना मोटर मार्केट) चल रहा है।


यह ब्लॉग खोजें