गुरुवार, 27 जून 2019

स्वास्थ्य विभाग की जिलास्तरीय बैठक में किन पर एक्शन लेने का निर्देश हुआ



श्रीगंगानगर, 26 जून ,2019.
स्वास्थ्य विभाग की जिलास्तरीय बैठक में जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाले हर मरीज को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिले। परिस्थितियां चाहें कैसी भी हो लेकिन हमारा कर्तव्य है कि आमजन को कोई समस्या न हो।
 जिला कलक्टर नकाते बुधवार को कलैक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में  माननीय उच्च न्यायालय के निर्देशों की पालना में सभी प्रसव कक्षों के हालात अच्छे होने चाहिए। गंदगी, अस्वच्छता, टूटी खिड़कियां, फटे पर्दे आदि अव्यवस्थाएं किसी भी सूरत में नहीं होनी चाहिए। सभी संबंधित पीएचसी व सीएचसी प्रभारी नियमित निरीक्षण करें और बीसीएमओ प्रति माह अपने अधीन आने वाले प्रसव कक्षों का निरीक्षण अवश्य करें और इस दौरान अव्यवस्था मिलने पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाही करें। स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने के लिए जिलास्तरीय अधिकारी भी नियमित रूप से सेक्टर व ब्लॉक लेवल की बैठकों में भाग लें। जिला टीकाकरण में पिछडऩे पर उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सघन मोनिटरिंग करें एवं प्रतिमाह सीएचसी, पीएचसी व ब्लॉक स्तर की रैंक बनाएं ताकि पिछडऩे वाले स्वास्थ्य केंद्र प्रभारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। उन्होंने जिला अस्पताल सहित अन्य स्वास्थ्य केंद्रों के निर्माण कार्य में तेजी लाने के लिए एनएचएम अभियंता को सख्त निर्देश दिए। सबसे कम व उच्च प्रगति की समीक्षा करते हुए सीएचसी सूरतगढ़ के प्रभारी को नोटिस देने व पीएचसी बख्तावरपुरा के प्रभारी के बैठक में अनुपस्थित होने पर चार्जशीट देने के निर्देश दिए। इसी तरह सूरतगढ़ में ववाक इन इंट्रव्यू के लगे डॉक्टर के लगातार अनुपस्थित रहने पर हटाने की अनुशंसा करने के निर्देश प्रभारी अधिकारी को दिए। जिला कलैक्टर ने निर्देश दिए कि जहां प्रसव कम हो रहे हैं और स्टाफ ज्यादा है उन्हें अधिक प्रसव वाले केंद्रों पर नियुक्त करें। सीएमएचओ डॉ0 नरेश बंसल ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे मौसमी बीमारियों के प्रति सतर्क रहें, आमजन को जागरूक करते हुए एंटीलार्वल गतिविधियां शुरू करें। इसके साथ ही मिजल-रूबेला अभियान की बैठकें व प्रशिक्षण समय पर करवाएं ताकि अभियान को सफल बनाया जा सके। बैठक में एनसीडी अनुभाग की ओर से तैयार पुस्तिका का विमोचन भी जिला कलेक्टर सहित विभाग के अधिकारियों द्वारा किया गया।
 आयोजित बैठक में सीएमएचओ डॉ0 पीएमओ डॉ केएस कामरा, जिला एनएचएम टीम, सभी बीसीएमओ, बीपीएम सहित सबसे कम व उच्च प्रगति वाले तीन-तीन चिकित्सा संस्थानों के चिकित्सा प्रभारी मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें