रविवार, 2 जून 2019

जिला कलक्टर के बात करने भर्ती रोगी के आंसू छलक पड़े। क्या कहा कलक्टर ने




-- करणीदानसिंह राजपूत --

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने शनिवार को राजकीय जिला चिकित्सालय का आकस्मिक दौरा कर चिकित्सालय की तमाम व्यवस्थाओं को गहनता के साथ देखा तथा चिकित्सा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

भीषण गर्मी के दौरान जिला चिकित्सालय में विशेष रूप से लू ताप के रोगियो के लिए बनाए गए विशेष वार्ड का निरीक्षण किया। वार्ड में पर्याप्त संख्या में पंखे व कूलर लगे हुए थे। स्टॉफ व दवाएं पर्याप्त थी। जिला कलक्टर ने रोगियों के लिए स्वच्छ पीने के पानी व शौचालयों का निरीक्षण किया। उन्होने कहा कि गर्मी के मौसम में पर्याप्त पेयजल की व्यवस्था रखी जाए। जिन शौचालयों में मरम्मत का कार्य किया जा रहा है, उसमें तेजी लाने के निर्देश दिए। 

विभिन्न वार्डो का निरीक्षण किया

जिला कलक्टर श्री नकाते ने मेल मेडिकल वार्ड ए व बी, आईसीयू, गायनी वार्ड, बच्चा वार्ड, नेत्र वार्ड, सराफ कोटेज, ब्लड बैंक सहित कैंसर केयर क्लीनिक, एनसीडी क्लीनिक, आउट डोर का निरीक्षण किया। उन्होने ब्लड बैंक  में ब्लड कम्पोनेंट मशीन के संबंध में चर्चा की। उन्होने कहा कि ब्लड को अलग-अलग कम्पोनेंट के अनुसार विभाजित करने से एक यूनिट ब्लड कई रोगियों के उपयोग में लाया जा सकता है। 

दवा वितरण की प्रविष्टिया प्रतिदिन हो

जिला कलक्टर ने पर्ची काउन्टर का निरीक्षण किया। इसके अलावा दवा वितरण सेंटर को देखा तथा औषधियों की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली। जिला कलक्टर ने निर्देश दिए कि पर्चियों का इन्द्र्राज प्रतिदिन किया जाए, जो बेकलोग है, उनकी प्रविष्टियां करने के लिए अतिरिक्त मैन पावर लगाकर कार्य को अद्यतन किया जाए। 

जिला कलक्टर ने महिला वार्ड में खून की कमी वाली महिलाओं को देखा तथा चिकत्सिकों को निर्देश दिए कि इन महिलाओं में रक्त की कमी न हो इसके लिए खाने पीने में वे खाद्य पदार्थ बताए जाए जिससे रक्त की पूर्ति होती रहे। 

निर्माणाधीन एमसीएच का किया निरीक्षण

जिला कलक्टर श्री नकाते ने जिला चिकित्सालय में निर्माणाधीन 100 बैड के एमसीएच वार्ड का चिकित्सा अधिकारियों के साथ दौरा कर निरीक्षण किया। उन्होने मौके पर ही उपयोग में ली जा रही सामग्री का नमूना भरवाया। उन्होने सार्वजनिक निर्माण विभाग के गुणवत्ता नियंत्रक को उक्त नमूने की जांच करवाकर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। 

जनसहयोग से संचालित रसोई को देखा तथा रोगी को खाना परोसा


जिला कलक्टर ने चिकित्सालय में संचालित अन्नपूर्णा रसोई का भी निरीक्षण किया। उन्होने रोगियो से भोजन के बारे में पूछा तथा जनसहयोग से संचालित रसोई की सराहना की। श्री नकाते ने उपस्थित रोगियों को अपने हाथो से भोजन परोसा।

रोगी से बातचीत करने पर छलक पडे आंसू

जिला कलक्टर ने चिकित्सालय के वार्डो के निरीक्षण करते-करते मेल वार्ड में पहुंचे। मेल वार्ड में भर्ती गंगानगर निवासी रामप्रताप से बातचीत की। उससे पूछा कि चिकित्सक लगातार आते है, दवाओं की कोई कमी तो नही। बातचीत करते-करते रोगी रामप्रताप के आंसु छलक पडे़। जिला कलक्टर ने उसकी पीडा जानने का प्रयास किया, तो रामप्रताप ने बताया कि उसका युवा पुत्र कई वर्ष पूर्व घर छोडकर चला गया तथा अब तक घर नही लौटा है। गत दो दिवस पूर्व उदयपुर से पुत्र का फोन आया था। जिला कलक्टर ने उसे समझाया कि बच्चों को प्यार से ट्रीट करना चाहिए तथा उन्हे सदैव अच्छे मार्ग पर चलने की सीख देनी चाहिए। 

इस अवसर पर चिकित्सा विभाग के संयुक्त निदेशक (बीकानेर) डॉ0 एच.एस. बराड, पीएमओ डॉ0 के.एस. कामरा, डॉ0 पवन सैनी, डॉ0 प्रेम बजाज सहित चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे। 

श्रीगंगानगर, 2जून 2019.

------------


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें