बुधवार, 12 जून 2019

राजस्थान में किनके सितारे होंगे बुलंद-सत्ताधारी कांग्रेस राजनैतिक नियुक्तियां करेगी-

- करणीदानसिंह राजपूत -

राजस्थान में विधानसभा चुनाव में विजय के बाद सत्ता में होने के बावजूद लोकसभा चुनाव में बुरी तरह से पराजित सत्ताधारी कांग्रेस द्वारा राजनैतिक नियुक्तियां की जाना संभावित है। जिसकी जोर शोर से चर्चाएं चल रही है


 राजस्थान में छोटे से लेकर राज्य स्तर तक के पदों पर करीब 10हजार कार्यकर्ताओं को विभिन्न समितियों में सदस्य और अध्यक्ष पदों पर गैर सरकारी सदस्य, अध्यक्ष मनोनीत करेगी। 

 जिला स्तर पर करीब 250 से 300 कार्यकर्ताओं को विभिन्न समितियों में गैर सरकारी सदस्य के रूप में स्थापित किया जाएगा। कार्यकर्ताओं का चयन विधायक की राय से होने की संभावना है। जहां कांग्रेस विधानसभा चुनाव में पराजित हुई वहां जो भी कांग्रेस का प्रत्याशी रहा है उसकी सलाह ली जाएगी। 

राजनीति नियुक्तियों की भनक से कांग्रेस पार्टी में कार्यकर्ताओं में हलचल मची हुई है। 

जिला स्तर पर अनेक समितियां हैं जिनके गैर सरकारी सदस्यों के पद खाली पड़े हैं। यहां कुछ समितियों के नाम दिए जा रहे हैं। जैसे जिला सतर्कता समिति,जिला उपभोक्ता संरक्षण समिति,20 सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति, जिला वक्फ समिति, जिला जन अभाव अभियोग निराकरण समिति,केंद्रीय कारागार और उप कारागारों की देखरेख समिति। इनमें काफी समितियां उपखंड स्तर पर भी होती है। उनमें भी गैर सरकारी सदस्यों को मनोनीत किया जाएगा। कांग्रेस पार्टी जिलों में निगम न्यास के पदों पर भी राजनीतिक नियुक्तियां करने वाली है। राज्य स्तर पर भी विभिन्न बोर्ड निगम अकादमी अध्यक्ष पदों पर भी मनोनयन किया जाएगा सांस्कृतिक आदमियों में भी राजनीतिक मनोनयन होने वाला है। इसमें राजस्थानी भाषा साहित्य संस्कृति अकादमी,संगीत अकादमी,नाटक अकादमी,बृज अकादमी, सिंधी अकादमी,पंजाबी भाषा अकादमी समितियों में भी अध्यक्षों नियुक्तियां की जाएगी। इंदिरा गांधी नहर बोर्ड,समाजकल्याण सलाहकार बोर्ड, राजस्थान वेयरहाउसिंग बोर्ड, देवस्थान बोर्ड के अध्यक्षों का मनोनयन भी होगा इन अध्यक्षों को राज्यमंत्री स्तर की सुविधाएं होती है।

नगरपालिका और पंचायत चुनाव से पहले इन नियुक्तियों के होने से कांग्रेस के पक्ष में मजबूती आ सकती है।

***************



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें