बुधवार, 22 मई 2019

एनडीए के मोदी ही नेता- नरेन्द्र मोदी पर भरोसा जताया; मोदी को सम्मानित किया

NDA के डिनर में पहुंचे 36 सहयोगी दल, पीएम मोदी के नेतृत्व पर सबने जताया भरोसा: राजनाथ

नई दिल्ली 21 May 2019, 

चुनाव नतीजों से पहले मंगलवार को बीजेपी द्वारा आयोजित NDA की डिनर बैठक में 36 घटक दलों के नेता शामिल हुए। 

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता राजनाथ सिंह ने बताया कि 3 सहयोगी दल इस डिनर में नहीं पहुंच सके तो उन्होंने लिखित में अपना समर्थन दिया है।

 खास बात यह है कि एनडीए की मीटिंग और डिनर डिप्लोमेसी के बाद एक प्रस्ताव पारित कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को न सिर्फ अपना नेता चुनने की बात कही गई बल्कि उनके नेतृत्व की तारीफ भी की गई। सभी दलों ने पीएम मोदी के प्रति अपना विश्वास व्यक्त किया।


राजनाथ सिंह ने बताया कि NDA की बैठक में रामविलास पासवान के द्वारा प्रस्ताव पेश किया, जिसे सर्वसम्मति से पास किया गया। इसमें कहा गया कि NDA सच्चे अर्थों में भारत के सपनों और आकांक्षाओं का अलायंस है। प्रस्ताव में पीएम और उनके मंत्रियों को उल्लेखनीय कार्यों के लिए बधाई दी है। साथ ही भारत को और अधिक सशक्त बनाने के लिए सरकार के कार्यों की सराहना की गई।


गृह मंत्री ने बताया कि पीएम और दूसरे नेताओं ने ईवीएम पर उठ रहे सवालों को लेकर चिंता व्यक्त की। बैठक के बारे में जानकारी देते हुए राजनाथ ने बताया कि NDA ने संकल्प लिया है कि आनेवाले वर्षों में हम प्रगति की गति को और आगे लेकर जाएंगे और इन्फ्रास्ट्रक्चर में 100 लाख करोड़ का निवेश करेंगे। गृह मंत्री ने कहा कि कृषि और ग्रामीण विकास में 25 लाख करोड़ का निवेश किया जाएगा।


उन्होंने कहा कि प्रस्ताव में किसानों की आय को दोगुना करने, अंतरराष्ट्रीय जगत पर बढ़ी साख, आतंकवाद की भी प्रस्ताव में चर्चा की गई। पश्चिम बंगाल और केरल में हुई राजनीतिक हिंसा की प्रस्ताव में निंदा की गई।


राजनाथ ने कहा कि पिछले 5 साल लोगों की बुनियादी जरूरतों को पूरे करने वाले थे, अब NDA ने तय किया है कि आनेवाले 5 वर्षों में लोगों की आकांक्षाओं को पूरा किया जाएगा। पीएम ने विकास के संदर्भ में क्षेत्रीय असंतुलन को दूर करने पर भी प्रतिबद्धता जताई। पीएम ने कहा कि एनडीए भारत की आशाओं और आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करने वाला अलायंस है। आपको बता दें कि NDA की बैठक में अगले पांच वर्षों में विकास कार्यों पर चर्चा ऐसे समय में हुई है जब अभी चुनाव नतीजे आने बाकी है।

मीटिंग के बाद रामविलास पासवान ने विपक्ष की ओर से परिणाम से पहले ही चुनाव पर उठाए जा रहे सवालों पर कहा कि 'टिट फॉर टैट' होगा। 

मीटिंग में रामविलास पासवान ने ही मोदी के पक्ष में प्रस्ताव रखा जिसका सभी दलों ने अनुमोदन किया।

पासवान ने बताया कि पीएम ने कहा कि हमारा लक्ष्य कभी सत्ता पाना नहीं रहा है, हमारा लक्ष्य नए भारत का निर्माण है। हमने पांच वर्षों में वोट के हिसाब से कोई फैसला नहीं लिया। उन्होंने कहा कि एनडीए के सभी नेताओं ने अपने-अपने तरीके से पीएम का स्वागत किया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें