सोमवार, 1 अप्रैल 2019

चुनाव प्रचार-खेत में गेहूं काटने लगी भाजपा सांसद हेमा मालिनी


हेमा मालिनी मथुरा से दूसरी बार लोकसभा 2019 का चुनाव लड़ रही है। वे
इस सीट में गोवर्धन विधानसभा के क्षेत्र देवसेरस में खेतों में काम कर रहे किसानों के बीच पहुंचीं। किसानों को गेहूं काटता देख हेमा मालिनी खुद को रोक नहीं सकी, उन्होंने एक किसान से हंसिया ली और लगीं गेहूं काटने लगी।
महिलाओं ने जब अपने साथ 'ड्रीम गर्ल' को गेहूं काटते देखा तो उन्हें यकीन ही नहीं हुआ। बाद में बातें भी हुई और हेमा ने महिलाओं से हाल जानें।
मथुरा में मतदान के लिए अब मात्र 18 दिन बचे हैं, प्रचार के लिए तो मात्र नेताओं के पास एक पखवाड़े का ही समय है. यहां पर 18 अप्रैल को वोट डाल जाएंगे. मथुरा में गेहूं की फसल पक चुकी है. महिलाएं गेहूं की कटाई कर रही हैं. देश में इस वक्त फसलों की कटाई के साथ ही वोटों की फसल भी काटने का वक्त है. लिहाजा वोट बटोरने नेता अब सड़कों से खेतों की ओर प्रस्थान कर चुके हैं.।
देश की वीआईपी सीटों में शुमार मथुरा में प्रचार टॉप गियर पर है।
हेमामालिनी की टक्कर महागठबंधन और कांग्रेस से
मथुरा में बीजेपी सांसद हेमा मालिनी को इस बार महागठबंधन से कड़ी चुनौती मिल रही है. एसपी-बीएसपी और आरएलडी ने इस सीट से कुंवर नरेंद्र सिंह को मैदान में उतारा है. वहीं कांग्रेस ने मथुरा सीट से महेश पाठक को टिकट दिया है।
2014 के लोकसभा चुनाव में हेमा मालिनी को मथुरा में करीब 53 फीसदी वोट मिले थे. इस सीट से उन्होंने आरएलडी नेता अजित चौधरी के बेटे जयंत चौधरी को शिकस्त दी थी। इस बार महागठबंधन बनने के बाद ये सीट आरएलडी के खाते में गई है. आरएलडी ने अपने कोटे से कुंवर नरेंद्र सिंह को मैदान में उतारा है। जाट बाहुल्य मथुरा सीट पर आरएलडी हमेशा से जाट नेता को ही उतारती है, लेकिन इस दफे पहली बार राष्ट्रीय लोक दल ने गैर जाट नेता कुंवर नरेंद्र सिंह पर दांव खेला है।
सौजन्य फोटो

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें