रविवार, 21 अप्रैल 2019

राहुल गांधी के नामांकन की जांच रोकी गई-नागरिकता पर सवाल उठा:22 तक जवाब मांगा गया


* क्या 2004 में राहुल गांधी ब्रिटिश नागरिक थे, बीजेपी ने उठाया सवाल;*

*नामांकन पत्र की जांच रोकी गई राहुल की नागरिकता पर उठे सवालों के बाद अमेठी लोकसभा सीट से भरे गए राहुल गांधी के नामांकन पत्र की जांच रोक दी गई है।*

 20 Apr 2019.

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नागरिकता पर बीजेपी ने बड़ा सवाल उठाया है। बीजेपी ने कहा कि राहुल बताएं कि वो ब्रिटिश नागरिक हैं या भारतीय। बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा कि राहुल गांधी ने 2004 में खुद को ब्रिटिश नागरिक बताया था।


बीजेपी की ओर से प्रेस कांफ्रेंस करते हुए राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा, नामांकन के दस्‍तावेज में राहुल गांधी का नाम ब्रिटिश नागरिक के तौर पर दर्शाया गया है। इस पर बीजेपी ने सवाल उठाया है कि क्‍या राहुल गांधी ब्रिटिश नागरिक थे। बीजेपी का आरोप है कि राहुल गांधी ने नामांकन में जो दस्‍तावेज दिए हैं, उसमें झूठे तथ्‍य दिखाए गए हैं।

अमेठी के जिला निर्वाचन अधिकारी ने राहुल गांधी को सोमवार तक का समय दिया है। जीवीएल नरसिम्‍हा राव ने कहा, मुझे लगता है कि यह बहुत आश्चर्य की बात है कि उनकी नागरिकता को लेकर जो आपत्तियां जताई गई हैं, उनका जवाब नहीं दिया गया है।

जीवीएल ने कहा, मुझे लगता है कि यह घोर आश्‍चर्य का विषय है कि राहुल गांधी की नागरिकता को लेकर जो सवाल उठाए गए हैं, उसका उन्‍होंने अब तक जवाब नहीं दिया है। राहुल गांधी के कानूनी सलाहकार ने दूसरे उम्‍मीदवारों द्वारा उठाए गए सवालों का अब तक जवाब नहीं दिया है। उन्‍होंने उठाए गए सवालों का जवाब देने के लिए निर्वाचन कार्यालय से समय मांगा है।


राहुल की नागरिकता पर उठे सवालों के बाद अमेठी लोकसभा सीट से भरे गए राहुल गांधी के नामांकन पत्र की जांच रोक दी गई है। राहुल के वकील ने बीजेपी की आपत्ति का जवाब देने के लिए 22 अप्रैल तक का वक्त मांगा है जिसके बाद राहुल के नामांकन पत्र की जांच रोकी गई।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें