मंगलवार, 12 मार्च 2019

अकेले पटाखों पर रोक क्यों ? ऑटोमोबाइल्स से फैलता है ज्यादा प्रदूषण: सुप्रीम कोर्ट ने कहा


 March 12, 2019.


नई दिल्‍ली : पूरे देश में पटाखों की बिक्री, उत्‍पादन और उसे रखने पर प्रतिबंध लगाने की मांग के संबंध में आज सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सिर्फ पटाखों से ही प्रदूषण नहीं होता है। कार और ऑटोमोबाइल्स कहीं अधिक मात्रा में वातावरण को प्रदूषित करते हैं। कोर्ट ने पटाखों से होने वाले प्रदूषण संबंधी याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि पटाखे ही प्रदूषण का एकमात्र कारण नहीं हैं। इस मामले की सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट ने अगली तारीख 3 अप्रैल की तय की है।


पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। याचिका में हवाला दिया गया है कि पटाखों के कारण प्रदूषण उच्‍च स्‍तर पर पहुंच जाता है। इसलिए इसपर बैन लगाया जाना चाहिए। इससे पहले पिछले साल 23 अक्‍टूबर को एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने देश भर में कुछ शर्तों के साथ दिवाली पर पटाखा बिक्री की अनुमति दे दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि देश भर में पटाखों की बिक्री पर पूरी तरह से रोक नहीं है। केवल लाइसेंस धारक दुकानदार ही पटाखे बेच पाएंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें