मंगलवार, 19 मार्च 2019

प्रमोद सावंत गोवा के नए सीएम बने


पणजी

बीजेपी विधायक प्रमोद सावंत गोवा केनए सीएम बन गए हैं। उनके साथ 11 और मंत्रियों ने शपथ ली है। सावंत बीजेपी गठबंधन का नेतृत्व करेंगे।अन्य 11 मंत्रियों को राज्यपाल ने शपथ दिलाई है, उनमें से सभी पहले वाली पर्रिकर सरकार में भी मंत्री थे। सीएम पद की शपथ लेने से पहले सावंत ने गोवा विधानसभा के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया। फिलहाल गोवा विधानसभा के उपाध्यक्ष माइकल लोबो इस पद के लिए चुनाव होने तक कार्यवाहक अध्यक्ष होंगे। 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी शपथग्रहण समारोह में मौजूद थे।

एमजीपी के दो विधायकों सुदीन धावलिकर और मनोहर अजगांवकर के साथ-साथ गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई, विनोद पालीकर और जयेश सलगांवकर को शपथ दिलाई गई है। 

बीजेपी से मौविन गौदिन्हो, विश्वजीत राणे, मिलिंद नाईक और निलेश नाईक को गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। निर्दलीय विधायकों रोहन खवंटे और गोविंद गावडे को भी शपथ दिलाई गई है।

सावंत के नेतृत्व में बीजेपी गठबंधन ने राज्यपाल को 20 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपा। उसके बाद नई सरकार को शपथ दिलाई गई। बीजेपी गठबंधन ने बीजेपी के 11 के अलावा जीएफपी, एमजीपी और निर्दलीय विधायकों का समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंपा। 

बीजेपी को एमजीपी के तीन, जीएफपी के तीन और तीन निर्दलीय विधायक का समर्थन मिला है। सावंत के नेतृत्व वाले गठबंधन का समर्थन कर रहे सभी विधायक शपथग्रहण समारोह में मौजूद थे।46 साल के प्रमोद सावंत पर्रिकर सरकार के दौरान गोवा विधानसभा के अध्यक्ष थे। पर्रिकर की तरह उन्हें भी उनकी सादगी के लिए जाना जाता है। वह संकेलिम विधानसभा सीट से विधायक हैं। सावंत का जन्म 24 अप्रैल 1973 को हुआ था। वह आयुर्वेद के डॉक्टर भी हैं। उनकी पत्नी सुलक्षणा सावंत अभी बीजेपी महिला मोर्चा की गोवा यूनिट की अध्यक्ष हैं।

2017 चुनाव में सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी थी कांग्रेस
2017 को गोवा विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी या गठबंधन को बहुमत नहीं मिला था। कांग्रेस सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी थी, लेकिन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तेजी और मनोहर पर्रिकर की तत्परता से बीजेपी सरकार बनाने में कामयाब हो गई थी। मनोहर पर्रिकर तब केंद्र में रक्षा मंत्री थे, लेकिन छोटे दलों ने उन्हें (पर्रिकर) सीएम बनाने की शर्त पर बीजेपी को समर्थन देने का फैसला किया था।
सोमवार देर रात तक तेज रही राजनीतिक हलचल
गोवा में नई सरकार के गठन के लेकर रविवार से ही राजनीतिक हलचल तेज हो गई थी जो सोमवार देर रात तक जारी रही। रविवार आधी रात को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी गोवा पहुंचे थे। उस समय सहयोगी दलों से आम सहमति नहीं बन सकी थी। इसके बाद सोमवार को अमित शाह भी गोवा पहुंचे और सहयोगी दलों से बैठक की। शुरू में खबर थी कि सोमवार रात 11 बजे तक प्रमोद सावंत को मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाई जाएगी। लेकिन एकबार फिर कुछ कारणों से इसे टाल दिया गया। बाद में सहयोगी दलों एमजीपी और जीएफपी से एक-एक उप मुख्यमंत्री बनाए जाने के फैसले के बाद बात बनी। बीजेपी ने अपने 11 विधायकों समेत एमजीपी के तीन, जीएफपी के तीन और तीन निर्दलीय विधायक के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंपा। सारे घटनाक्रम के बाद मंगलवार रात करीब 2 बजे प्रमोद सावंत को सीएम पद की शपथ दिलाई गई। इसीबीच कांग्रेस ने भी सरकार बनाने का दावा ठोका था। अब सावंत सरकार को बहुमत साबित करना होगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें