शुक्रवार, 1 मार्च 2019

श्रीगंगानगर जिला:संवेदनशील स्थानों का चिन्हीकरण होगा:आपात स्थिति से निपटने की बैठक:पूरी रिपोर्ट

* आपदा प्रबंधन की हुई बैठक

अधिकारियों का तालमेल व उचित आपदा प्रबंधन जरूरी *




* किसी भी आपदा से निपटने के लिये पूर्व प्लान आवश्यकः-  जिला कलक्टर*


श्रीगंगानगर, 1 मार्च 2019.

 जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि किसी प्रकार की विषम परिस्थितियों एवं आपदा से निपटने के लिये सीविल डिफेंस प्लान व आपदा प्रबंधन की पूरी तैयारी रहनी चाहिए। समस्त विभागों का समन्वय व आपदा से निपटने की तैयारी सदैव अपडेट रहनी चाहिए। 

जिला कलक्टर शुक्रवार को विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिला स्तरीय एवं जिले के खण्ड स्तरीय अधिकारियों को सिविल डिफेंस प्लान व आपदा प्रबंधन के संबंध में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि किसी भी आपदा से निपटने के लिये प्रतिवर्ष आपदा प्रबंधन की तैयारिया सुनिश्चित इसलिये की जाती है कि किसी भी परिस्थिति से निपटने की हमारी तैयारी पूर्ण है। 

जिला कलक्टर ने जिले के समस्त अधिकारियों को निर्देश दिये कि संवेदनशील स्थानों का चिन्हिकरण के साथ-साथ किसी भी क्षेत्र में अवांछित गतिविधियों पर नजर रखनी है। धारा 144 की पूरी पालना होनी चाहिए। रात्रि के समय पटाखे, लाउडस्पीकर का उपयोग नही हो। बीट कांस्टेबल, पटवारी, ग्राम सेवक तक का सीधा समन्वय ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों के साथ रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की अफ्वाये न फैले, इस बात का भी विशेष ध्यान रखना है। किसी प्रकार की मुनियादी राजकीय कार्मिकों की उपस्थिति में व निर्देशानुसार करवाई जा सकती है। 

जिला कलक्टर ने कहा कि रेलवे स्टेशन, बस स्टेण्ड, बाजार, भीड़ वाले क्षेत्र, हैड रेगुलेटर, धार्मिक संस्थाओं, बिजली घरों व पेयजल परियोजनाओं व सुरक्षा ऐजेंसियों के आसपास कोई अवांछित गतिविधि, संदिग्ध व्यक्ति, संदिग्ध वस्तु या कोई हलचल, दिखने पर इसकी सूचना तत्काल दें। महत्वपूर्ण संस्थाओं के आसपास कोई व्यक्ति खोखा, रेहड़ी या छोटी दुकान बनाकर कार्य कर रहा है, उन पर भी नजर रखनी है। किसी शादी समारोह या कार्यक्रम में ड्रोन कैमरा का उपयोग करने से पहले उसकी मंजूरी लेनी होगी। 

वीसी में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्री नख्तदान बारहठ, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुरेन्द्र सिंह, एसीईओ श्री अशोक असीजा, बॉर्डर होम गार्ड के कमांडेन्ट श्री नवनीत जोशी, अधीक्षण अभियंता विद्युत श्री के.के.कस्वा, अधीक्षण अभियंता सार्वजनिक निर्माण विभाग श्री वी.एल.धनकड़, अधीक्षण अभियंता जल संसाधन श्री प्रदीप रूस्तगी, सीएमएचओ डॉ. नरेश बंसल, पीएमओ डॉ. पवन सैनी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा वीसी के माध्यम से जिले के उपखण्ड स्तरीय अधिकारी जुडे़ हुए थे। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें