रविवार, 31 मार्च 2019

शहीद नगर गुरुद्वारा साहिब बुढा जोहङ में नशामुक्ति कार्यशाला

श्रीगंगानगर, 31 मार्च 2019.

 जिला पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा के निर्देशानुसार चलाये जा रहे नशा मुक्ति अभियान के अन्तर्गत शुक्रवार 29-3-2019 को शहीद नगर गुरुद्वारा साहिब बुढा जोहङ मे पुलिस थाना मुकलावा के माध्यम से पुलिस चौकी 32 एमएल द्वारा नशा मुक्ति जन जागृति कार्यशाला का आयोजन किया गया। 




        मुख्य वक्ता नशा मुक्ति विशेषज्ञ डॉ0 रविकान्त गोयल ने नशे से बिमारियो की जड़ बताते हुए कहा कि नशा व्यक्ति से धन दौलत, स्वास्थय, प्रतिष्ठा, खुशियां व समृद्धि छिनकर बदले मे पीड़ा, दुखः दर्द, अपमान, अवनति व अभाव प्रधान करता है तथा रोगी बना देता है व दर दर की ठोकरे खाने को मजबुर कर देता है। डॉ0 गोयल ने नशे के दुष्प्रभावो की विस्तृत जानकारी देते हुए नशो से स्वयं बचने,बचाने, नशा छोड़ने व छुड़वाने के सरल वैज्ञानिक उपायो की जारकारी देते हुए उपस्थित जन समुह को नशा न करने की शपथ दिलवाई।

इस अवसर पर पैरा लीगल वॉलंटियर श्री इन्द्र मोहन जुनेजा ने अपने संबोधन मे नाम सुमारी नानका चडी रहे दिन रात की व्याख्या करते हुए कहा कि श्री गुरु नानक देव जी ने संसारिक नशों को त्यागकर केवल ईश्वर के नाम का ही सिमरण करने की प्रेरणा प्रदान की है। श्री जुनेजा ने पुलिस द्वारा चलाये जा रहे नशा मुक्ति अभियान की जानकारी देते हुए इसमे मिल रही सफलताओ पर प्रकाश डाला।

         कार्यक्रम मे प्रधान श्री जसवन्त सिंह  समरा ने उपस्थित जन समुह से नशा न करने, नशा करने वालों का नशा छुड़वाने तथा महिलाओं  को आगे आकर अपने अपने घर को नशा मुक्त करने का आह् वान किया। 

         कार्यक्रम मे मैनेजर श्री तरसेम सिह, मुख्य ग्रंथी श्री भुपेन्द्र सिह, श्री गुरमेल सिह, मास्टर श्री हाकम सिह, श्री बलराज सिह, श्री सरदुल सिह, श्री दर्शन सिह व पुलिस चौकी 32 एमएल इंचार्ज श्री बलवंत सिह, श्री संत फतेह सिह, श्री चन्नणसिहं मिशनरी कालेड बुढा जोहङ मास्टर श्री हाकम सिह मौजी व श्री दलजीत सिह कलेर पब्लिक स्कुल बुढाजोहङ, बी.आर शिक्षण संस्थान 32 एमएल के विद्यार्थियों व शिक्षकों  ने भाग लिया। 

--------------



श्रीगंगानगर-विधायक राजकुमार गौड़ का सम्मान:पारीक समाज स्नेह मिलन समारोह.

श्रीगंगानगर। समाज संस्कार, सहयोग और एकता के भरोसे ही अपनी पहचान कायम रखते हुए जमाने की रफ्तार के साथ आगे बढ़ सकता है, इसलिये हमें एक-दूसरे का सहयोग अवश्य करना चाहिये। क्योंकि एकजुटता में ही एकता हैं। यह बात पारीक समाज की ओर से सेक्टर-17 के पास स्थित पारीक धर्मशाला में आयोजित सम्मान समारोह में विधायक राजकुमार गौड़ ने कही। उन्होंने समाज के लोगों का आव्हान किया कि वे सोलह संस्कारों के लिए प्रतिबद्ध होकर आगे बढ़ेंगे तो समाज और देश का भला होगा। इसलिये समाज बधुओं को एकजुटता दिखाते हुए हर बेहतर कार्य में आगे आकर समाज का नाम रोशन करना चाहिए।

 कार्यक्रम में गौड़ ब्राह्मण सभा के पूर्व अध्यक्ष जगदीश गौड़ ने कहा कि चाहे कौनसा भी समाज क्यों न हो जब तक एकजुटता नहीं होगी, तब तक समाज का औचित्या नहीं होगा। समाज में एकजुटता ही समाज के सभी लोगों को एकसाथ जोड़कर रखती है  इसलिये ब्राह्मण समाज को भी एकजुटता रखते हुए अपने प्रत्येक समाजबधुओं को साथ लेकर विकास में आगे बढना चाहिये। वहीं उन्होंने शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि हमें बेटों के साथ-साथ समाज में बेटियों को भी बेहतर उच्च शिक्षा दिलानी चाहिए, जिससे बेटों के साथ-साथ बेटियां भी देश व समाज का नाम रोशन कर सकें। 

समारोह में विधायक राजकुमार गौड़ का फूलमाला ओर राजस्थानी पगड़ी पहनाकर एवं सम्मान प्रतीक देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम के दौरान पारीक समाज के अध्यक्ष मनीष पारीक व पदाधिकारियों ने गौड़ ब्राह्मण सभा के पूर्व अध्यक्ष जगदीश गौड़ को भी स्मृति चिन्ह व फूलमाला पहनाकर तथा शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि विधायक राजकुमार गौड़ का समाज के प्रति समर्पण की भावना से काम करना अपने आप में एक मिशाल हैं।

इस मौके पर पारीक समाज के अध्यक्ष मनीष पारीक, राजस्थान ब्राह्मण महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश गौड़, विधायक राजकुमार गौड़, शंकरलाल पांडया, डॉ. चेतन पारीक, मनीराम शर्मा, सुरेन्द्र पारीक, लक्ष्मीनारायण शर्मा, हरीकिशन जोशी, मालचंद जोशी, दयानंद पारीक, डॉ. ओमप्रकाश शर्मा, सुशील जोशी, केसराराम शर्मा, शिवचरण जोशी, पतराम शर्मा, मयूर पारीक, मीडिय़ा कोर्डिनेटर लक्ष्मीकांत गौड़, डॉ. ओपी पारीक, दयानंद शर्मा, राजेन्द्र लाटा, मनोहरलाल शर्मा, पवन गौतम सहित काफी संख्या में समाज के गणमान्य लोग मौजूद थे।

दिनांक :- 31-3-2019
^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^

शनिवार, 30 मार्च 2019

राजस्थान दिवस पर राजस्थानी भाषा से ओतप्रोत कार्यक्रम आयोजित

श्रीगंगानगर, 30 मार्च 2019.

 जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने जिले के समस्त नागरिको को राजस्थान दिवस के उपलक्ष में शुभकामनाएं दी। उन्होने आमजन से आव्हान किया कि आगामी 6 मई को मतदान दिवस के दिन समस्त मतदाता घरों से निकलकर मतदान करने पहुंचें। लोकतंत्रा के इस महापर्व में मतदान कर भागीदार बने। उन्होन कहा कि लोकतंत्रा की मजबूती शत प्रतिशत मतदान से है। उन्होने राजस्थान दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में प्रस्तुतियां देने वाले विद्यार्थियों, शिक्षण संस्थाओं तथा परिजनों को बधाई दी। 

    पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा ने लोकसभा आम चुनाव में बढचढ कर भाग लेने का अनुरोध किया। उन्होने कहा कि एक-एक वोट लोकतांत्रिक प्रणाली में महत्वपूर्ण होता है। राजस्थान दिवस के उपलक्ष में शनिवार को इंदिरा वाटिका में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते, पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा, न्यायिक अधिकारी श्री सुनील रिणवा, न्यायिक अधिकारी श्रीमती सुषमा पारीक ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की।  कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न शिक्षण संस्थाओं द्वारा आकर्षक रंगोली बनाई गई। रंगोली में राजस्थान की संस्कृति की झलक के साथ-साथ मतदान करने का संदेश दिखाई दिया। 

    कार्यक्रम में ड्रीम्स एण्ड होप्स, किडस कैम्पस कांवेंट, आरती मोन्टेसरी, आत्म बल्लभ जैन स्क्ूल, जगदम्बा मूक बधिर विद्यालय, एनीमा डांस एकेडमी, सिल्वर स्टेप्स ग्रुप, सत्य लक्ष्य यूरो वर्ल्ड, नोजगे पब्लिक स्कूल, दधिमती बीएड कॉलेज, गिरधारी लाल उच्च माध्यमिक विद्यालय, गुड शैफर्ड पब्लिक स्कूल, जुबिन नर्सिंंग कॉलेज के विद्यार्थियों ने राजस्थानी संस्कृति से ओतप्रोत मनमोहक प्रस्तुतियां दी,  वही पर लियाकत अली एण्ड पार्टी ने गीत के माध्यम से मतदान करने का संदेश दिया। संगीत शिक्षक श्री जगननाथ ने राजस्थानी गीत प्रस्तुत किया। 

    कार्यक्रम में मैराथन दौड के विजेताओं को प्रमाण पत्रा देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर एडीएम शहर श्री राजवीर सिंह, सहायक निदेशक श्री विजय कुमार, नगर परिषद के पेरोकार श्री प्रेम चुघ सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, शहर के गणमान्य नागरिकों सहित शिक्षण संस्थाओं के विद्यार्थियों ने भाग लिया।

-----------





बसपा नगरमण्डल सूरतगढ की कार्यकारिणी भंग व इस्तीफे-डूंगरराम गेदर के समर्थकों ने भी बसपा छोड़ी

 ** करणीदानसिंह राजपूत **

सूरतगढ़ 30/03/2019.

डूंगर राम गेदर के बसपा छोड़ कर कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण करने के बाद राजनीति में हलचल व गेदर समर्थकों के भी बसपा छोड़ने की संभावना थी,जिसकी शुरुआत हो गई। बसपा नगरमंडल कार्यकारिणी भंग के साथ बसपा से त्यागपत्र दे दिए गए। हालांकि इसका कारण प्रदेश नेतृत्व की संवादहीनता बताया गया है। अब संभावना है की अधिकांश लोग गेदर के नेतृत्व में कांग्रेस की ओर रूख करें।



ताजा हालात की रिपोर्ट है कि 30 मार्च सांय 4 बजे बहुजन समाज पार्टी की सूरतगढ़ शहरी क्षेत्र के  नगर मंडल कार्यकारिणी  की बैठक नगर अध्यक्ष पवन सोनी के नेतृत्व में संपन्न हुई। बैठक में नगर अध्यक्ष पवन सोनी ने कहा कि नगर मंडल की कार्यकारिणी सदस्यों ने पिछले 5 वर्षों से समय-समय पर आमजन के हक और अधिकारों के लिए कार्य किया और स्थानीय स्तर पर पार्टी के जनाधार को बढ़ाने में अग्रणी भूमिका निभाई लेकिन प्रदेश नेतृत्व की संवादहीनता व निष्क्रियता के कारण नगर मंडल कार्यकारिणी को अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा था। प्रदेश नेतृत्व की संवादहीनता व निष्क्रियता के कारण कार्यकारिणी के सभी सदस्यों ने विचार-विमर्श करके बहुजन समाज पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से सामूहिक रूप से इस्तीफा देने व नगर मंडल कार्यकारिणी को भंग करने का निर्णय लिया।

 प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने वाले नगर अध्यक्ष पवन सोनी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष महावीर टाक, जगदीश विश्नोई, राजपाल कारगवाल, गोपी राम नायक, कालू सिंह राजपूत, रजाक खान, एडवोकेट राम प्रताप जालप, रामेश्वर भोभरिया, महासचिव कालूराम मेघवाल, रणजीत सिंह अटवाल, प्रचार मंत्री पवन शर्मा, कोषाध्यक्ष महावीर घोड़ेला, वरिष्ठ सदस्य महावीर शर्मा, भजन गेदर, रूपदास स्वामी, मूस्तफा कुरैशी, अनिल रोकणा, सलीम खान, सुशील, सुरेंद्र घोड़ेला आदी बैठक में शामिल हुए।

कार्यकारिणी का इस्तीफा बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को जिलाध्यक्ष श्री गंगानगर लूणा राम परिहार के मार्फत भेजा गया।


शुक्रवार, 29 मार्च 2019

डूंगरराम गेदर का कांग्रेस प्रवेश बाद सूरतगढ़ पहुचने पर स्वागत: मील व कई नहीं आए:बसपा के लोग मौजूद थे.

*प्रस्तुति- करणीदानसिंह राजपूत ०

** डूंगरराम गेदर का पहला बयान-पार्टी का सिपाही बनकर कार्य करूंगा **

^^ स्वागत के बाद खुद के निजी कार्यालय में गए गेदर^^


सूरतगढ 29/03/2019.

 डूंगरराम गेदर कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के बाद जयपुर से सूरतगढ़ पहुंचे।  इंदिरा सर्किल पर हजारों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़ों के साथ गेदर का फूल मालाएं पहनाकर स्वागत किया और काँग्रेस पार्टी में शामिल होने की शुभकामनाएं दी। इस कार्यक्रम में मील नहीं पहुंचे और उनके नजदीकी पार्टी पदाधिकारी भी नहीं पहुंचे। कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष बलराम वर्मा मौजूद रहे व स्वागत में भाषण भी दिया।




 बसपा के अनेक लोग जो गेदर को आदर्श मानते हैं,कार्यक्रम में शामिल हुए। ऐसे संकेत हैं कि वे भी निकट भविष्य में कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। इसका संकेत यह है कि उन्होंने गेदर को कांग्रेस प्रवेश पर बधाई दी व फूल मालाएं पहना कर खुशी जताई। पूर्व विधायक गंगाजल मील और हनुमान मील इस कार्यक्रम में दिखाई नहीं दिए। गेदर भी कांग्रेस पार्टी के ब्लॉक कार्यालय नहीं जाकर खुद के कार्यालय पहुंचे। सूरतगढ़ कांग्रेस की राजनीति में गेदर के प्रवेश से हलचल मची है।

 कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए गेदर ने कहा कि जिस प्रकार कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय राहुल गांधी जी, प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, राष्ट्रीय महासचिव व राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे जी ने मुझे कांग्रेस पार्टी में शामिल करके जो विश्वास मुझ में दिखाया है मैं उनके विश्वास को कायम रखते हुए इमानदारी से कांग्रेस पार्टी का सिपाही बनकर कार्य करूंगा। 

प्रदेश में लोकसभा चुनाव में कड़ी मेहनत करके टारगेट 25 को पूरा करने के लिए कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर कार्य करने का आह्वान किया। 

कांग्रेस पार्टी के जिला उपाध्यक्ष बलराम वर्मा, राकेश बिश्नोई, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता प्रभूदान गेदर, बीरमाना सरपंच संतोष जालप, हनुमानगढ़ कृषि उपज मंडी के चेयरमैन रामेश्वर चांवरिया, खेतपाल वर्मा, भागीरथ गेदर, पवन सोनी, जगदीश विश्नोई, बलवन्त विश्नोई ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और डूंगरराम गेदर को शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में हाजी दारे खाँ, सुभाष सुथार, सहीराम नायक, मनोहर नायक, पूर्व सरपंच काशीराम मेघवंशी, हरलाल मेघवाल, मांगीलाल विश्नोई, पार्षद पति मोहन वर्मा, सरपंच आशकरण जालप, सरपंच भजनलाल जालंधरा, कालूराम बैगड़, शिव प्रेम तेहरपुरिया आदि बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए।


जयपुर से सूरतगढ आने पर रास्ते में डूंगरगढ़, बीकानेर, लूणकरणसर, अर्जुनसर, राजियासर, बिलधवाल हैंड आदि जगह जगह पर गेदर के प्रशंसकों ने फूल मालाओं से स्वागत किया।









मैं भी चौकीदार लिखे कपों में ट्रेनों में परोसी चाय! वेंडरों पर कार्यवाही होगी* Indian Railways ने दी सफाई, आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप

Indian Railways ने IRCTC को चेतावनी दी है। ट्रेनों में 'मैं भी चौकीदार' का लेवल लगे कप में चाय-कॉफी बेची जा रही है। इस पर IRCTC ने भी संज्ञान लिया है। 

* ट्विटर पर लोगों ने इसे 'चुनाव आचार संहिता' का उल्लंघन बताया*


 29 मार्च 2019.

मैं भी चौकीदार’ लिखे कपों में बांटी जा रही ट्रेनों में चाय। भारतीय रेलवे ने लिया संज्ञान। IRCTC को मांगनी पड़ी माफी। 

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के लिए चुनाव आचार संहिता लागू है, लेकिन रेलगाड़ियों में ‘मैं भी चौकीदार’ वाला चाय का कप धड़ल्ले से परोसा जा रहा है। IRCTC और भारतीय रेल विभाग (Indian Railway) ने इन कपों में चाय बेचने वाले वेंडरों के खिलाफ संज्ञान लिया है। गौरतलब है कि इन कपों के ट्रेन में परोसे जाने पर ‘चुनाव आचार संहिता’ के उल्लंघन की बात कही जा रही है। जब मामला प्रकाश में आया तब चाय-कॉफी के कपों की ट्विटर पर खूब चर्चा देखने को मिल। यूजर्स इन कपों के साथ भारतीय रेलवे और चुनाव आयोग को टैग करके ट्विट करने लगे। लोगों ने पूछा- ‘क्या यह चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है?’

ट्विटर यूजर पायल मेहता के एक ट्विट के बाद भारतीय रेलवे तुरंत हरकत में आया और IRCTC से इस संबंध में जवाब तलब किया। इस संबंध में IRCTC ने माफी मांगते हुए कहा, “परेशानी के लिए खेद है, आप हमें अपनी यात्रा की डिटेल और पीएनआर नंबर मुहैया कराइए, मामले में आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।” इसके जवाब में मेहता ने लिखा, “यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है!!!”

मुद्दा गरम होता देख IRCTC को बाकायदा एक सफाई लिखनी पड़ी। अपने ट्वीट में IRCTC ने लिखा, “मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ‘मैं भी चौकीदार’ नाम के लेबल लगे कपों का इस्तेमाल ट्रेनों में हो रहा है, मामले की जांच की जा रही है। कपों को तत्काल प्रभाव से सेवा से हटा दिया गया है। यह जानना होगा कि कुछ ही कप प्रयोग में लाए जा रहे हैं। मामले में पैंट्री इंचार्ज से सफाई मांगी गई है। सर्विस मुहैया कराने वाले पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।” इसं संबंध में भारतीय रेलवे ने भी माना कि शताब्दी ट्रेनों में भी ‘मैं भी चौकीदार’ वाले कप होने की बात सामने आई है। इसे तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए जा चुके हैं।

गौरतलब है कि ‘मैं भी चौकीदार’ नाम के लेवल से मार्केट में कई तरह के उत्पाद देखने को मिल रहे हैं। इनमें रोजाना घरेलू इस्तेमाल की चीजें भी शामिल हैं। लेकिन, सरकारी प्रतिष्ठानों (भारतीय रेल) में चुनाव प्रचार संबंधी सामग्री मिलने की चर्चा ट्विटर पर खूब है।

(साभार जनसत्ता ऑनलाइन)






गुरुवार, 28 मार्च 2019

बिना मन्जूरी के वाहन चुनाव प्रचार में न लगायें-जब्त होगा:अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां

* ईवीएम का विधानसभावार हुआ रेन्डेमाईजेशन*

* नाम निर्देशन में शपथ पत्र पूर्ण रूप से भरा हो*


श्रीगंगानगर, 28 मार्च 2019.

 लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान गुरूवार को कलैक्ट्रेट सभा हाल में ईवीएम का प्रथम रेन्डेमाईजेशन विधानसभावार किया गया। कलैक्ट्रेट सभा हाल में राजनैतिक दलो की उपस्थिति में रेन्डेमाईजेशन किया गया। 


जिला कलक्टर एंव जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों को बताया कि लोकसभा आम चुनाव 2019 में मतदाता पर्ची को पहचान के रूप में उपयोग नही कर सकेगे। यह पर्ची केवल सूचना के लिये होगी। भारत निर्वाचन आयोग ने मतदाता पहचान पत्र के अलावा फोटोयुक्त 11 दस्तावेज चिन्हित किये है, जिन्हे दिखाकर मतदान किया जा सकता है। 


श्री नकाते ने बताया कि उम्मीदवार व राजनैतिक दल चुनाव प्रचार में बिना अनुमति के वाहन का उपयोग न करें। बिना अनुमति का वाहन पकडे जाने पर जब्त किया जायेगा तथा चुनाव प्रक्रिया समाप्ति के बाद ही छोडा जायेगा। उन्होने कहा कि आयोग के निर्देशानुसार प्रचार के लिये वाहन, रैली, जनसभा इत्यादि कार्यक्रमो के लिये आनलाईन आवेदन करने की सुविधा है। उन्होंने बताया कि नाम निर्देशन के दौरान उम्मीदवार द्वारा दिया जाने वाला शपथ पत्र पूर्ण रूप से भरा होना चाहिये तथा कोई भी कालम खाली नही छोडना है। 

जिला निर्वाचन अधिकारी ने राजनैतिक दलो के पदाधिकारियों को बताया कि आयोग के निर्देशानुसार अभ्यर्थी का किसी तरह का अपराधिक प्रकरण है, की जानकारी निर्धारित प्रपत्र सी-1 व सी-2 में तीन बार समाचार पत्रों मे व तीन बार इलैक्ट्रोनिक चैनल में मतदान से 48 घण्टे पूर्व प्रकाशित एवं प्रसारित करवाना होगा। उन्होंने कहा कि लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान सभी राजनैतिक दलों  उम्मीदवारों को आदर्श आचार संहिता की पालना सुनिश्चित करनी होगी। 

बैठक में एडीएम शहर श्री राजवीर सिंह, एसडीएम श्री मुकेश बारहठ, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी श्री अश्विनी पालीवाल, अतिरिक्त सूचना विज्ञान अधिकारी श्री परमजीत सिंह, आईएनसी से श्री भीमराज डाबी, बीजेपी से श्री विजय शर्मा, सीपीआईएम से श्री विजय रैवाड, रिछपाल सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 


राजस्थान दिवस के उपलक्ष्य में मैराथन दौड का आयोजन श्रीगंगानगर-



* मैराथन के माध्यम से  दिया मतदाता जागरूकता का संदेश *

श्रीगंगानगर, 28 मार्च2019.

 राजस्थान दिवस 2019 के उपलक्ष में आज  गुरूवार को मैराथन दौड़  का आयोजन किया गया। मैराथन दौड को रामलीला मैदान से जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मैराथन दौड़  रामलीला मैदान से गौशाला रोड, बीरबल चौक, भगतसिंह चौक होते हुए महाराजा गंगासिंह चौक पहुंची। मैराथन दौड़ में विधार्थियों ने मतदान करने का संदेश देने वाले बैनर व तख्तियां ले रखी थी। मैराथन के माध्यम से 6 मई 2019 को अधिक से अधिक मतदान करने का संदेश दिया। लोकतंत्रा की मजबूती मतदान करने से बनती है। मतदाताओं को मतदान दिवस के दिन शत-प्रतिशत मतदान करना चाहिए। 

मैराथन दौड में एडीएम प्रशासन श्री ओ.पी.जैन, एडीएम शहर श्री राजवीर सिंह, सहायक निदेशक समाज कल्याण श्री बी.पी.चंदेल, खेल अधिकारी श्री सुरजीत सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी, श्री लक्ष्मीनारायण पारीक सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, युवा, शिक्षण संस्थाओं के विधार्थियों ने भाग लिया। 

मैराथन दौड में छात्रा वर्ग में महेश ने प्रथम, नवल ने द्वितीय तथा विकास ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। इस प्रकार छात्रा वर्ग में सुनीता ने प्रथम, मीनाक्षी ने द्वितीय तथा लक्ष्मी कुमारी ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। 


-----------



बुधवार, 27 मार्च 2019

लोकसभा चुनाव 2019मतदाता जागरूकता के लिये रंगोली जगह-जगह.




श्रीगंगानगर, 27 मार्च 2019. जिला कलक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिवप्रसाद मदन नकाते के निर्देशानुसार जिले में स्वीप कार्यक्रम के तहत अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। मतदाता जागरूकता के लिये जगह-जगह रंगोली के माध्यम से मतदाता जागरूकता का संदेश दिया जा रहा है, वही पर ईवीएम व वीवीपेट की जानकारी तथा विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं व मानव श्रृंखला बनाकर मतदान करने का संदेश दिया जा रहा है।स्वीप कार्यक्रम के तहत राजकीय उच्च माध्यमिक विधालय 5 जी छोटी में छात्रों ने रैली निकालकर मतदान करने का संदेश दिया। शिक्षण संस्थान में पोस्टर निर्माण व नारा लेखन की प्रतियोगिताएं हुई। ग्राम पंचायत 28 जीबी में रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्राथमिक विधालय अशोक नगर में मेरा वोट मेरी आवाज विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। बाल मंदिर विधालय पुरानी आबादी एवं एसकेएम कॉन्वेंट स्कूल में भी मतदाता जागरूकता के लिये विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये।

-----------

श्रीगंगानगर लोकसभा चुनाव 2019. एमसीएमसी,पेड न्यूज,विज्ञापन नियम-विशेष


* उम्मीदवार के विज्ञापनों का अधिप्रमाणन जिला स्तर पर-

राजनैतिक दल या सामाजिक संगठनों के विज्ञापनों का अधिप्रमाणन राज्य स्तर पर*

श्रीगंगानगर, 27 मार्च2019.

 लोकसभा आम चुनाव 2019 के दौरान एमसीएमसी एण्ड पेड न्यूज तथा विज्ञापनों के अधिप्रमाणन को लेकर निर्वाचन आयोग ने बुधवार को वीसी के माध्यम से आवश्यक निर्देश दिये। 

    आयोग ने वीसी के माध्यम से बताया कि विज्ञापनों के अधिप्रमाणन के लिये जिला स्तर पर व राज्य स्तर पर विज्ञापन अधिप्रमाणन समितियों का गठन किया जा चुका है। इलेक्ट्रानिक चैनल्स, टीवी, रेडियों, एफएम, मोबाईल तथा सोशल मीडिया पर दिये जाने वाले विज्ञापनों का अधिप्रमाणन जरूरी है। उम्मीदवार या राजनैतिक दल विज्ञापन की सामग्री मय सीडी डीवीडी जिला स्तर पर गठित कमेटी को प्रस्तुत करेंगे। उम्मीदवारों से संबंधित विज्ञापनों का अधिप्रमाणन जिला स्तर पर गठित कमेटी करेगी। राजनैतिक दलों से संबंधित विज्ञापनों का अधिप्रमाणन राज्य स्तर पर गठित कमेटी करेगी। इलेक्ट्रानिक चैनल्स पर मतदान से 48 घंटे पूर्व विज्ञापनों का प्रसारण नही हो सकेगा। 

    वीसी में बताया कि समाचार पत्रों मे दिये जाने वाले विज्ञापनों का अधिप्रमाणन वर्तमान में आवश्यकता नही है, लेकिन मतदान से 48 घंटे पूर्व प्रकाशित होने वाले समाचार पत्रों के विज्ञापनों का अधिप्रमाणन जिला स्तर पर गठित समिति से करवाया जाना आवश्यक है। ई-पेपर में बिना प्रमाणीकरण के विज्ञापनों का प्रसारण नही किया जा सकेगा। मोबाईल वेन की अनुमति जिले में भ्रमण करने वाले वाहन की अनुमति संबंधित रिटर्निंग अधिकारी द्वारा दी जायेगी तथा अंतर जिला भ्रमण करने वाले विडियों वेन की अनुमति राज्य स्तर से जारी होगी। विडियो वेन में चलने वाली प्रचार सामग्री का भी अधिप्रमाणन करवाया जाना जरूरी होगा। 

वीसी में बताया गया कि समाचार पत्रों में पेड न्यूज के संबंध में एमसीएमसी एण्ड पेड न्यूज समिति का गठन किया जा चुका है। प्रतिदिन समाचार पत्रों में छपने वाली खबरों में से पेड न्यूज का चयन कर समिति के समक्ष रखा जायेगा। समिति संदेहास्पद पेड न्यूज मानते हुए आरओ के माध्यम से संबंधित उम्मीदवार को नोटिस जारी किया जायेगा। 48 घंटे में उम्मीदवार द्वारा किसी तरह का उत्तर मिलने या न मिलने की स्थिति में पुनः प्रकरण को एमसीएमसी एण्ड पेड न्यूज की बैठक में रखा जायेगा। समिति कन्फर्म पेड न्यूज का निर्णय करेगी। निर्णय की प्रति संबंधित उम्मीदवार को दी जायेगी। अगर उम्मीदवार निर्णय से संतुष्ट नही है, तो वह 48 घंटे में मुख्य निर्वाचन अधिकारी जयपुर में अपील कर सकते है। उम्मीदवार राज्य स्तरीय निर्णय से संतुष्ट नही होने की स्थिति में भारत निर्वाचन आयोग में अपील कर सकते है। पेड न्यूज के खर्च की राशि डीआईपीआर द्वारा निर्धारित दरों मुख पृष्ठ, मध्य पृष्ठ, अंतिम पृष्ठ, रंगीन तथा श्वेत श्याम विज्ञापनों की दर का निर्धारण कर राशि खर्च में शामिल की जायेगी। 




वीसी में एमसीएमसी एण्ड पेड न्यूज के अतिरिक्त प्रभारी अधिकारी एवं पीआरओ श्री रामकुमार राजपुरोहित, दूरदर्शन के क्षेत्राय अधिकारी श्री वी.सी. भारद्वाज, डीओआईटी की उपनिदेशक श्रीमती रूचि गोयल, समिति के सदस्य श्री सुन्दर मिश्रा उपस्थित थे।

मंगलवार, 26 मार्च 2019

डूंगरराम गेदर को कांग्रेस के जहरीले सांप ने डस ही लिया:- करणीदानसिंह राजपूत.शीघ्रातिशीघ्र टिप्पणी


डूंगरराम गेदर बहुजन समाज के नेता, बहुजन समाज की टिकट पर सूरतगढ़ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने वाले, अपनी रैलियों में खुद और मंचों पर अन्य नेता कहा करते थे के भाजपा और कांग्रेस हरियाले नाग हैं जो छुपे हुए रहते हैं और मौका पाकर डस लेते हैं। यह भी कहा जाता था कि भाजपा और कांग्रेस एक सांप नाथ है तो दूसरा नागनाथ है। जनता को सचेत करने के लिए आवाहन किया करते थे। बचाव के लिए नारे लगाया करते थे,लेकिन आश्चर्य है कि डूंगरराम गेदर कांग्रेस की बांबी में खुद चले गए और कहना चाहिए कि अपनी राजनैतिक मौत खुद ने बुलाई। इसे आत्महत्या भी कह सकते हैं। 

डूंगरराम गेदर बहुजन समाज पार्टी के बड़े नेता कहे जाते रहे हैं। बसपा की हर मासिक बैठक में कार्यकर्ताओं को आवान किया करते थे के ब स पा पा ही उनकी मां है और वह आजीवन कुंवारे रहते हुए  बसपा की सेवा ही करते रहेंगे, पिछड़े वर्ग और अनुसूचित जाति के लोगों को आगे बढ़ाने के लिए सदा आगे रहेंगे। यह आश्चर्य है कि वे हजारों लोगों को नारों के भरोसे छोड़ कर अचानक कांग्रेस की बांबी में चले गए।

चर्चाएं काफी समय से थी कि वह कांग्रेस पार्टी में शामिल होने वाले हैं लेकिन हमेशा वे इस बात का सवाल का खंडन करते रहे और इस प्रकार की सूचनाओं को अफवाह बताते रहे।

आज 26 मार्च 2019 को जब वे कांग्रेस की बांबी में गए तब तक बहुजन समाज के बड़े-बड़े कार्यकर्ताओं को सूरतगढ़ के बसपि पदाधिकारियों तक को भुलावे में रखा गया। उनको मालूम नहीं था कि डूंगरराम गेदर उनका साथ छोड़ कर कांग्रेस में जाने का इरादा कर चुके हैं। इनमें से अनेक वे कार्यकर्ता हैं जो अपना कामकाज छोड़ कर डूगर राम को कंधों पर ढोते रहे थे। इन कार्यकर्ताओं के बल पर ही वे ऊंचे पहुंचे और पहचान बनी।

बहन मायावती शून्य हो गई और राहुल हिमालय समान दिखाई देने लगे।


आज तक डूंगरराम गेदर अपने लिए बहुजन समाज पार्टी के लिए डंके की चोट पर वोट मांगा करते थे इलाके में मसीहा के नाम पर लोग उन्हें एक प्रकार से पूजा करते थे,लेकिन अब स्थिति बदली हुई रहेगी।अब बसपा के इस नेता को कांग्रेस के लिए कांग्रेस के प्रत्याशी के लिए वोट मांगने होंगे। चाहे डूंगरराम गेदर कुछ भी सोचे अपने भविष्य की उज्जवल बनाने के लिए उन्होंने जो कदम उठाया है वह खुद चाहे सोचते रहे लेकिन उनकी स्थिति कांग्रेस में नंबर वन नहीं रहेगी। वह कांग्रेस के नेताओं के समक्ष इलाके के नेताओं के समक्ष अब दूसरे तीसरे नंबर के नेता के रूप में अपना जीवन व्यतीत कर पाएंगे। आगे क्या स्थिति रहती है लेकिन वर्तमान में वे पीछे रहेंगे। आज कांग्रेस जरूर खुश होगी कि आगामी चुनाव के लिए एक फाचर खत्म हुई, मगर यह सोच सही नहीं हो सकती,अगले विधानसभा चुनाव में भी बसपा का प्रत्याशी कोई तो खड़ा होगा ही।( इस सारे घटनाक्रम को दिलासे के लिए यह मान लिया जाएगा कि राजनीति मेंं स्थाई रूप मेंं कोई किसी का दोस्त या दुश्मन नहीं होता)







घनश्याम तिवाड़ी तिवाड़ी ने थामा कांग्रेस का हाथ, भाजपा के दो नेता भी जुड़े;


 12 निर्दलीय विधायकों ने किया समर्थन

26, मार्च 2019.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी मेंभारत वाहिनी पार्टी के प्रमुख व पूर्व भाजपा नेता घनश्याम तिवाड़ी कांग्रेस में शामिल हो गए।उनके साथ भाजपा नेता रह चुके सुरेंद्र गोयल (पूर्व केबिनेट मंत्री) औरजनार्दन गहलोत (पूर्व केबिनेट मंत्री) भी कांग्रेस से जुड़े।

इसके अलावा 12 निर्दलीय विधायकों ने भी कांग्रेस का समर्थन किया है। राहुल  जयपुर मेंकार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल होने पहुंचे थे।

इस दौरान तिवाड़ी ने कहाकि लोकतंत्र को बचाने की जरूरत है। इसलिए वह कांग्रेस से जुड़ रहे हैं। तिवाड़ी भाजपा के वरिष्ठ नेता रह चुके हैं। वे कई बारविधानसभा के सदस्य भी रहे हैं। विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने भाजपा छोड़ दी थी और भारत वाहिनी पार्टी से चुनाव लड़ा था। जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

तिवाड़ी ने कहा कि जिन सिंद्धांतों के साथ भाजपा में और भारत वाहिनी पार्टी में काम किया। उन्हीं सिद्धांतों पर आगे भी कायम रहूंगा। अभी वे कांग्रेस से जुड़ रहे हैं। आगेभारत वाहिनी के कांग्रेस में विलय की प्रक्रिया होगी।


घनश्याम तिवाड़ी का राजनैतिक सफर


घनश्याम तिवाड़ी ने भाजपा में कई अहम पदों पर काम किया है। राजस्थान की 7वीं, 8वीं, 10वीं, 12वीं, 13वीं, 14वीं विधानसभा के सदस्य रहे। तिवाड़ी 1980 में पहली बार सीकर से विधायक बने। इसके बाद 1985 से 1989 तक पुन: विधानसभा क्षेत्र सीकर से विधायक रहे। 1993 से 1998 तक विधानसभा क्षेत्र चौमूं से विधायक बने। वह जुलाई 1998 से नवम्बर 1998 तक भैरोंसिंह शेखावत सरकार में ऊर्जा मंत्री भी रह चुके हैं। दिसम्बर, 2003 से 2007 तक वसुंधरा राजे सरकार में प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, विधि एवं न्याय, संसदीय मामले, भाषाई अल्पसंख्यक, पुस्तकालय एवं भाषा मंत्री रहे। दिसम्बर 2007 से वर्ष 2008 तक खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और विधि एवं न्याय मंत्री के पद पर रहे।


इन विधायकों ने दिया कांग्रेस को समर्थन

तिवाड़ी के साथ ही 12 निर्दलीय विधायकों ने भीकांग्रेस को समर्थन देने की घोषणा की जिनमें राजकुमार गौड़,रमीला खडिया,कांतिलाल मीणा, रामकेश मीणा,लक्ष्मण मीणा,संयम लोढा,बाबूलाल नागर,आलोक बेनीवाल, बलजीत यादव,सुरेश टांक,खुशवीर सिंह जोझावर,महादेव सिंह खंडेला हैं।

सोमवार, 25 मार्च 2019

नीतू बैद पुनःमहावीर इंटरनेशनल वीरा केंद्र सूरतगढ़ की अध्यक्ष

सूरतगढ 25-3-2019.

महावीर इंटरनेशनल वीरा केंद चुनाव संबंधित बैठक चोपड़ा धर्मशाला में रखी हुई। 

 इस बैठक में सत्र 2019-21 के लिए सर्वसम्मति से पुनः वीरा नीतू बैद को अध्यक्ष पद के लिए चुना गया ।

वर्ष 2019-21 की नवनिर्वाचित टीम इस प्रकार हैं-



अध्यक्ष- वीरा नीतू  बैद, 

सचिव -वीरा अंजना सिंह, 

उपाध्यक्ष- वीरा इंदु सोनी, 

सह सचिव -वीरा नेहा बैद, 

कोषाध्यक्ष- वीरा सोनू डागा।

सभी पदाधिकारियों को बहुत बहुत बधाई। नवनिर्वाचित टीम को 14 अप्रैल को महावीर इंटरनेशनल के शपथ ग्रहण समारोह में शपथ दिलाई जाएगी।

*****************




रविवार, 24 मार्च 2019

मनोज कुमार स्वामी के राजस्थानी कहानी संग्रह 'मनगत' का विमोचन:बीकानेर मेंं समारोह

  

^^^ करणीदानसिंह राजपूत ^^^

मनगत की कहानियां प्रतिरोध की कहानियां है- मधु आचार्य 'आशावादी'

सूरतगढ़ 24-3-2019. राजस्थानी कहानी संग्रह मनगत का विमोचन समारोह गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति व सरस्वती काव्य कला एंव संस्कृति संस्थान बीकानेर के संयुक्त तत्वावधान मे आयोजित हुआ।

समारोह की अध्यक्षता नांवा से राजस्थानी के आशु कवि पं.  राधेश्याम शर्मा ने की। मुख्य अतिथि केन्द्रीय साहित्य अकादेमी के राजस्थानी परामर्श मंडल सलाहकार वरिष्ठ साहित्यकार डा. मधु आचार्य आशावादी थे। 

मुख्य वक्ता के रूप मे भवानी शंकर व्यास विनोद ने राजस्थानी कहानी पर अपना विचार रखते हुए कहा कि कहानी वो होती है जो आने वाले कल की आहट को सुन ले।  उन्होंने कहा कि औरत को केवल घर में बंद रहने वाली बच्चे जनने वाली मशीन मानने वालों की सोच को बदलना होगा। स्त्री पूर्णतया एक सांस्कृतिक इकाई है और उस नारी के पत्नि मां, प्रेयसी सभी रूप को मनगत कहानी संग्रह में बखूबी उठाया गया है। आठवें दशक से राजस्थानी कहानी में परिर्वतन होना शुरू हुआ और उस दृष्टि से मनोजकुमार स्वामी एक कहानीकार के रूप में अग्रिम पंक्ति में खड़े हैं। 

मुख्य अतिथि केन्द्रीय साहित्य अकादेमी समन्वयक डा. मधु आर्चाय आशावादी ने  कहा कि मनगत की कहानियां प्रतिरोध की कहानियां है, लेकिन उसके बावजूद इन कहानियां को पढ़कर पाठक को ऐसा ऐहसाश होगा जैसा तपती लू में ठण्डे पवन के झौंके से होता है। उन्होंने कहा कि अकादेमी स्तर पर पहले चाहे कुछ भी होता रहा है उनका प्रयास रहेगा कि साहित्य अकादेमी को जनता तक ले जाया जाए।

वरिष्ठ साहित्यकार राजाराम स्वर्णकार ने कहानी संग्रह पर पत्र वाचन किया।

गर्भस्थ शिशु संरक्षण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामकिशोर तिवाड़ी, समालोचक डा नीरज दईया,  राजेंद्र जोशी और  हरीश बी. शर्मा विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की व अपने विचार रखे।

लेखक मनोजकुमार स्वामी ने अपनी रचना प्रक्रिया पर विचार रखे।

विमोचन समारोह का संयोजन आकाशवाणी बीकानेर के वरिष्ठ उदघोषक प्रमोद शर्मा ने किया। 

आयोजन में साहित्यकार डा. कृष्णलाल बिश्नोई, मइनुदीन कोहरी, व्यंगकार बुलाकी शर्मा, शायर इरसाद अजीज, अशदअली अशद, योगेन्द्रसिंह भाटी, डा. तुलसी राम मोदी, रामेश्वरलाल सोनी, मुकेश रामावत, कैलाश जनागल, प्रशांत जैन, किशनलाल स्वामी, अरविंद उभा आदि ने समारोह में भाग लिया।

  





शनिवार, 23 मार्च 2019

सूरतगढ में शहीद भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव के शहीदी दिवस पर श्रद्धांजलि

शहीद भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव की 89 की शहादत के दिन आज 23 मार्च को भगत सिंह चौक पर सुबह शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

यह आयोजन शहीद भगत सिंह युवा मंच की ओर से किया गया अनेक नागरिक और नौजवानों ने शहीदों के चित्रों पर पुष्पांजलि अर्पित की।

इस अवसर पर क्रांतिकारी महावीर प्रसाद भोजक ने कहा कि आजादी की लड़ाई में शहीदों की कुर्बानियां को याद रखना आज की महती आवश्यकता है।


 इस अवसर पर कामरेड मदन ओझा ने शहीदों की शहादत पर विचार रखते हुए कहा कि पिछले 1 वर्ष से रमेश पारीक पुखराज दाधीच नीरज उपवेजा सत्तार मोहम्मद रफी फिरोज खान पुसाराम गोसाईं महबूब खान सुरेश कनौजिया सोनू कच्छावा दलजीत सिंह कलसी जय किशन शर्मा गौरव अग्रवाल उमाशंकर यादव सुबह 10:00 बजे महावीर भोजक की अगुवाई में शहीद भगत सिंह के प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हैं  जिनका हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। माल्यार्पण के अवसर पर कामरेड लक्ष्मण शर्मा परसराम भाटिया लाजपतराय भाटिया हंसराज स्वामी नरेंद्र भाटी बद्री प्रसाद बन्नाणी जुगल किशोर  डा.राजा राम बेनीवाल हर्षवर्धन सिंह भाटी भैरो सिंह भाटी मुकेश ओझा सत्यनारायण छिपा सवाई सिंह राजपुरोहित शक्ति सिंह भाटी मोहित शर्मा सुरजन सिंह भाटी आनंद ओझा भवानी शंकर भोजक विजय उपाध्याय हरि ओम ओझा गुलजारी सुखीजा जितेंद्र शर्मा सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

राहुल गांधी की सभा में समर्थकों ने किया उत्पात-फेंकी कुर्सियां तोडे़ अवरोधक

23 मार्च 2019.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के मालदा में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान जनसभा में अराजकता देखने को मिली। राहुल की सभा शुरू होने से पहले समर्थकों के बीच जमकर एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकी गई।

राहुल गांधी ने मालदा में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और सीपीएम पर निशाना साधा। उन्हंने कहा कि आपने सालों से सीपीएम को देखा और फिर आपने ममता जी को चुना। जो अत्याचार सीपीएम के समय होता था। वही अत्याचार ममता जी के समय में हो रहा है। उस वक्त एक संगठन को लेकर सरकार चलाई जाती थी, आज एक व्यक्ति के लिए सरकार चलाई जाती है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि क्या नौजवानों को रोजगार मिल गया। क्या किसानों को कोई सहायता मिली। एक तरफ पीएम मोदी नरेंद्र मोदी जी झूठ बोलते हैं, वहीं दूसरी तरफ ममता बनर्जी सिर्फ केवल वादे करती हैं। लेकिन कुछ भी नहीं होता।

उससे पहले पार्टी के कुछ शीर्ष स्तरीय नेताओं की मुख्य मंच पर उपस्थिति के बीच भीड़ इतनी बेकाबू हुई कि मुख्य मंच के लिए बने बैरिकेडिंग को तोड़ लोग अंदर प्रवेश कर गए। हालांकि पुलिस की सक्रियता के बीच स्थिति को काबू करने की कोशिश की गई। लेकिन पुलिस के बीच-बचाव के बीच समर्थक एक दूसरे पर कुर्सियां फेंकते रहे।

शुक्रवार, 22 मार्च 2019

श्री गंगानगर जिला परिक्षाओं के मध्यनजर लाऊडस्पीकर रोक-समय जानिए-डीजे पूरी रोक


^^^ प्रातः 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक ध्वनि विस्तार यंत्रों का उपयोग नही ^^^


श्रीगंगानगर, 22 मार्च2019.

 जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने श्रीगंगानगर में वर्ष 2019 में निकट भविष्य में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड एवं महाविधालयों की परिक्षाओं के मध्यनजर राजस्थान कोलाहल नियंत्राण अधिनियम 1963 की धारा 5 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए आदेश दिये है कि श्रीगंगानगर जिले में कोई भी व्यक्ति, संस्था या मैरिज पैलेस में 31 मई 2019 तक प्रातः 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक ध्वनि विस्तार यंत्रों जिससे कोलाहल उत्पन्न होता हो, का उपयोग नही कर सकेंगे।

    रात्रि 10 बजे से प्रातः 6 बजे तक अधिनियम में पूर्व में ही प्रतिबंधित है। मंदिर, मस्जिद एवं गुरूद्वारों में आरती, भजन एवं शब्द कीर्तन के समय एवं शादी विवाह में निकासी व ढुकाव आदि कार्यक्रमों में प्रतिबंध लागू नही होगा, परन्तु धीमी गति से ही ध्वनि विस्तार यंत्रों का उपयोग किया जा सकेगा।

 डीजे का उपयोग पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। अत्यंत विशेष परिस्थितियों में ध्वनि प्रसारण यंत्रों की इजाजत के लिये संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट तथा जिला मुख्यालय के लिये अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट शहर अधिकृत रहेंगे। आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध राजस्थान कोलाहल अधिनियम 1963 की धारा 6 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी। 

श्री गंगानगर जिला नियंत्रण कक्ष फोन नं. व जानकारी: लोकसभा चुनाव 2019-


श्रीगंगानगर, 22 मार्च 2019. लोक सभा आम चुनाव 2019 के सफल संचालन के प्रयोजनार्थ सूचनाओं के आदान प्रदान करने हेतु कलेक्ट्रेट परिसर में जिला चुनाव नियंत्रण कक्ष संचालित कर दिया गया है। 

जिला कलक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि कलेक्ट्रेट परिसर के कमरा नम्बर 5 में चुनाव नियंत्राण कक्ष संचालित है, जिसके दूरभाष नम्बर 0154-2444540 व 0154-2444542 है। चुनाव नियंत्रण कक्ष के संचालन के लिये पारी अनुसार कार्मिक लगाये गये है। नियंत्रण कक्ष के प्रभारी अधिकारी एसडीएम गंगानगर श्री मुकेश बारहठ होंगे, जिनके मोबाईल नम्बर 98293-41962 व अतिरिक्त प्रभारी अधिकारी सहायक निदेशक सांख्यिकी श्री गिर्राज मीणा को लगाया गया है, जिनके मोबाईल नम्बर 94610-76784 है। खनिज विभाग के सहायक अभियंता एवं अतिरिक्त प्रभारी अधिकारी श्री छगनलाल सी-विजिल के लिये, इनके मोबाईल नम्बर 94601-09930 है। नियंत्रण कक्ष 8-8 घंटे की तीन पारियों में 24 घंटे सातों  दिन कार्यरत रहेगा। 

जिला संपर्क केन्द्र में लगाये कार्मिक

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले में जिला संपर्क केन्द्र (डीसीसी) प्रत्येक कार्यदिवस को प्रातः 9 से रात्रि 9 बजे तक संचालित है। जिला संपर्क केन्द्र को आयोग के निर्देशानुसार प्रभावी बनाने के लिये अलग-अलग तीन पारियों में कार्मिक लगाये गये है। जिला संपर्क केन्द्र के प्रभारी अधिकारी निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण पदाधिकारी एवं एसडीएम श्री मुकेश बारहठ होंगे। 

चुनाव:पम्पलैट्स पर्चें, पोस्टर, विज्ञापन अथवा हैंडबिल पर प्रकाशक मुद्रक का नाम जरूरी-लोकसभा आम चुनाव 2019.

^^ पालना नही करने पर 6 माह की सजा व 2 हजार रूपये का दण्ड ^^

* लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 की पालना जरूरी*

श्रीगंगानगर, 22 मार्च 2019.जिला कलक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने कहा कि लोकसभा आम चुनाव 2019 में राजनीतिक पार्टियों, प्रत्याशियों या उनके समर्थकों द्वारा प्रकाशित करवाए जाने वाले पंपलैट्स पर्चें, पोस्टर, विज्ञापन अथवा हैंडबिल प्रकाशित या मुद्रित करवाते हुए लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 क की विभिन्न प्रावधानों की पालना सुनिश्चित करनी होगी। 

जिला कलक्टर श्री नकाते शुक्रवार 22-3-2019 को कलेक्ट्रेट सभा हॉल में प्रिटिंग प्रेस, होर्डिग्स निर्माता, संचालकों की बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। 

उन्होंने बताया कि पंप्लैट्स, पर्चें और पोस्टर के मुख्यपृष्ठ पर मुद्रक एवं इसके प्रकाशक का नाम और पता अनिवार्य रूप से लिखवाना होगा। कोई भी व्यक्ति किसी निर्वाचन पप्लैट्स, पर्चें अथवा पोस्टर का मुद्रण तब तक नही कर अथवा करवा सकेगा, जब तक कि प्रकाशक की पहचान की घोषणा उसके द्वारा हस्ताक्षरित तथा दो व्यक्ति जो उन्हें व्यक्तिगत रूप से जानते हो, द्वारा सत्यापित न करवाया जाये। सत्यापन के पश्चात मुद्रक को इसकी 2 प्रतिलिपि देनी होगी। दस्तावेज के प्रकाशन के पश्चात मुद्रक इसकी एक प्रति तथा घोषणा पत्र की एक प्रति जिला निर्वाचन अधिकारी को प्रस्तुत करेगा। 

सूचना जनसंपर्क कार्यालय में मीडिया प्रकोष्ठ का गठन किया गया है, जहां घोषणा पत्र व छपी सामग्री की प्रति प्रस्तुत करनी होगी। उल्लंघन करने पर 6 माह की सजा का प्रावधानउन्होंने बताया कि कोई व्यक्ति लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 क का उल्लंघन करता है तो वह 6 महीने का कारावास अथवा 2 हजार रूपये जुर्माना अथवा दोनों से दंडित होगा। उन्होंने बताया कि इसका मुख्य उद्देश्य यह है कि यदि किसी व्यक्ति द्वारा निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान धर्म, वंश, जाति, समुदाय, भाषा या विरोधी के चरित्र हनन जैसे आधार पर अपील जैसी अवैध सामग्री प्रकाशित करवाई जाती है, तो संबंधित व्यक्तियों के विरूद्ध आवश्यक दंडात्मक कार्रवाई की जायेगी, साथ ही यह राजनीतिक दलों, अभ्यर्थियों तथा उनके समर्थकों द्वारा निर्वाचन पंप्लैट्स, पर्चे, पोस्टरों आदि के मुद्रण और प्रकाशन पर हुए अनाधिकृत व्यय पर रोक लगाने में सहायक होंगे। 

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रिंटिंग प्रैस को मुद्रण सामग्री मुद्रित होने के 3 दिन के भीतर प्रतियां तथा प्रकाशक से प्राप्त घोषणा पत्र रिटर्निंग अधिकारी को भेजना होगा। यदि इन आदेशों का उल्लंघन पाया जाता है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी तथा प्रिटिंग प्रेस के लाईसैंस का प्रतिसंहरण भी किया जा सकेगा। जिला मजिस्ट्रेट को प्रतियां प्राप्त होने के बाद इस बात की जांच की जायेगी कि प्रकाशक या प्रिंटर द्वारा सभी आदेशों की अनुपालना की है अथवा नही। उन्होंने बताया कि निर्वाचन आयोग ने राजनीति दलों, अभ्यर्थियों और अन्य संबंधित लोगों से इन आदेशों की शत-प्रतिशत पालना के निर्देश दिये है। जिला कलक्टर श्री नकाते ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान प्रिन्टिंग प्रेस के अनुज्ञापत्रों की जांच की जायेगी। अनुज्ञापत्र नहीं  पाये जाने पर आवश्यक कार्यवाही के साथ-साथ प्रिन्टिंग प्रेस को सीज करने की कार्यवाही भी की जायेगी। बैठक मे अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्री ओ.पी. जैन, मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री सौरभ स्वामी, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुश्री हरितिमा, सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी श्री रामकुमार राजपुरोहित, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी श्री सुरेन्द्र सोनी, जिला कोषाधिकारी श्री सुरेन्द्र सिंह, लेखादल के श्री प्रेमप्रकाश गोयल सहित अन्य विभागों के अधिकारी तथा प्रिंटिंग प्रेस संचालकों ने भाग लिया।

----------


गुरुवार, 21 मार्च 2019

2019 में निहालचंद फिर निहाल:श्री गंगानगर से भाजपा का टिकट

* करणीदानसिंह राजपूत *

भाजपा की चयन समिति ने श्री गंगा नगर संसदीय सीट पर निहालचंद मेघवाल को पुनः टिकट घोषित किया है। निहाल चंद वर्तमान में श्री गंगानगर से सांसद हैं।

निहाल चंद के कार्य काल में श्री गंगानगर और हनुमान गढ सूरतगढ को विभिन्न दूर की रेलों का विस्तार मिला। इसके अलावा सांसद कोटे कि राशि से खूब विकास हुए। राजस्थान के 25 सांसदों में कोटे की राशि विकास कार्यों में लगाने में निहाल चंद नंबर 1 पर रहे हैं।

मंगलवार, 19 मार्च 2019

प्रमोद सावंत गोवा के नए सीएम बने


पणजी

बीजेपी विधायक प्रमोद सावंत गोवा केनए सीएम बन गए हैं। उनके साथ 11 और मंत्रियों ने शपथ ली है। सावंत बीजेपी गठबंधन का नेतृत्व करेंगे।अन्य 11 मंत्रियों को राज्यपाल ने शपथ दिलाई है, उनमें से सभी पहले वाली पर्रिकर सरकार में भी मंत्री थे। सीएम पद की शपथ लेने से पहले सावंत ने गोवा विधानसभा के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया। फिलहाल गोवा विधानसभा के उपाध्यक्ष माइकल लोबो इस पद के लिए चुनाव होने तक कार्यवाहक अध्यक्ष होंगे। 

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी शपथग्रहण समारोह में मौजूद थे।

एमजीपी के दो विधायकों सुदीन धावलिकर और मनोहर अजगांवकर के साथ-साथ गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई, विनोद पालीकर और जयेश सलगांवकर को शपथ दिलाई गई है। 

बीजेपी से मौविन गौदिन्हो, विश्वजीत राणे, मिलिंद नाईक और निलेश नाईक को गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। निर्दलीय विधायकों रोहन खवंटे और गोविंद गावडे को भी शपथ दिलाई गई है।

सावंत के नेतृत्व में बीजेपी गठबंधन ने राज्यपाल को 20 विधायकों का समर्थन पत्र सौंपा। उसके बाद नई सरकार को शपथ दिलाई गई। बीजेपी गठबंधन ने बीजेपी के 11 के अलावा जीएफपी, एमजीपी और निर्दलीय विधायकों का समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंपा। 

बीजेपी को एमजीपी के तीन, जीएफपी के तीन और तीन निर्दलीय विधायक का समर्थन मिला है। सावंत के नेतृत्व वाले गठबंधन का समर्थन कर रहे सभी विधायक शपथग्रहण समारोह में मौजूद थे।46 साल के प्रमोद सावंत पर्रिकर सरकार के दौरान गोवा विधानसभा के अध्यक्ष थे। पर्रिकर की तरह उन्हें भी उनकी सादगी के लिए जाना जाता है। वह संकेलिम विधानसभा सीट से विधायक हैं। सावंत का जन्म 24 अप्रैल 1973 को हुआ था। वह आयुर्वेद के डॉक्टर भी हैं। उनकी पत्नी सुलक्षणा सावंत अभी बीजेपी महिला मोर्चा की गोवा यूनिट की अध्यक्ष हैं।

2017 चुनाव में सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी थी कांग्रेस
2017 को गोवा विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी या गठबंधन को बहुमत नहीं मिला था। कांग्रेस सबसे बड़े दल के तौर पर उभरी थी, लेकिन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तेजी और मनोहर पर्रिकर की तत्परता से बीजेपी सरकार बनाने में कामयाब हो गई थी। मनोहर पर्रिकर तब केंद्र में रक्षा मंत्री थे, लेकिन छोटे दलों ने उन्हें (पर्रिकर) सीएम बनाने की शर्त पर बीजेपी को समर्थन देने का फैसला किया था।
सोमवार देर रात तक तेज रही राजनीतिक हलचल
गोवा में नई सरकार के गठन के लेकर रविवार से ही राजनीतिक हलचल तेज हो गई थी जो सोमवार देर रात तक जारी रही। रविवार आधी रात को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी गोवा पहुंचे थे। उस समय सहयोगी दलों से आम सहमति नहीं बन सकी थी। इसके बाद सोमवार को अमित शाह भी गोवा पहुंचे और सहयोगी दलों से बैठक की। शुरू में खबर थी कि सोमवार रात 11 बजे तक प्रमोद सावंत को मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलाई जाएगी। लेकिन एकबार फिर कुछ कारणों से इसे टाल दिया गया। बाद में सहयोगी दलों एमजीपी और जीएफपी से एक-एक उप मुख्यमंत्री बनाए जाने के फैसले के बाद बात बनी। बीजेपी ने अपने 11 विधायकों समेत एमजीपी के तीन, जीएफपी के तीन और तीन निर्दलीय विधायक के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंपा। सारे घटनाक्रम के बाद मंगलवार रात करीब 2 बजे प्रमोद सावंत को सीएम पद की शपथ दिलाई गई। इसीबीच कांग्रेस ने भी सरकार बनाने का दावा ठोका था। अब सावंत सरकार को बहुमत साबित करना होगा।

यह ब्लॉग खोजें