रविवार, 24 फ़रवरी 2019

ईरानी सेना के जनरल ने पाकिस्‍तान को धमकाया


* एटम बम रखते हो, एक आतंकी समूह नहीं खत्‍म कर सकते?*

सुलेमानी आगे बोले, "हम पाकिस्तान से मैत्रीपूर्ण भाव से बात कर रहे हैं। हम यह बताना चाहते हैं कि आप अपनी सीमाओं को पड़ोसी मुल्कों के लिए असुरक्षा का स्रोत न बनने दें। अगर किसी और ने ऐसा किया, तो आपका देश बुरी तरह बिखर जाएगा।"

February 24, 2019.


ईरान की सेना के जनरल ने पाकिस्तान को खुली धमकी है। उन्होंने पूछा, “आप एटम बम रखते हो, पर एक आतंकी समूह नहीं खत्म कर सकते?” ईरान्स इस्लामिक रेव्यूल्यूशन गार्ड्स कॉर्प (आईआरजीसी) में कुद्स बल के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी देश के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनी को सीधे रिपोर्ट करते हैं।

जनरल बोले, “हमने पाकिस्तान को हमेशा मदद की पेशकश की है, पर वहां की सरकार से मेरा सवाल है- आप लोग किस दिशा में जा रहे हैं? आपके सभी पड़ोसी देशों की सरहदों पर तनाव और अशांति का माहौल है। क्या कोई और पड़ोसी मुल्क बचा है, जिसे आप असुरक्षित महसूस कराना चाहते हैं?”

बकौल सुलेमानी, “आपके पास तो एटम बम है। फिर भी आप उस क्षेत्र में सक्रिय आतंकी संगठन को खत्म नहीं कर पा रहे हैं? चलिए यही बता दीजिए कि विभिन्न आतंकी ऑपरेशंस में आपके कितने लोग मारे? हमें आपकी सांत्वना नहीं चाहिए, आपकी सांत्वना ईरानी लोगों की कैसे मदद करेगी?”

उनके मुताबिक- पाकिस्तानी सेना को यूं खरबों डॉलर की बर्बादी नहीं करनी चाहिए और न ही उसे आतंकी संगठनों की फंडिंग करनी चाहिए। मैं पाकिस्तानी सरकार से पूछना चाहता हूं कि कि अब आपके देश के लिए आपने क्या बचा कर रखा है? मैं चेता देता हूं कि आप ईरान के सब्र की परीक्षा न लें। जिसने भी ईरान के साथ ऐसा किया है, उसे कड़ा जवाब दिया गया है।

सुलेमानी आगे बोले, “हम पाकिस्तान से मैत्रीपूर्ण भाव से बात कर रहे हैं। हम यह बताना चाहते हैं कि आप अपनी सीमाओं को पड़ोसी मुल्कों के लिए असुरक्षा का स्रोत न बनने दें। अगर किसी और ने ऐसा किया, तो आपका देश बुरी तरह बिखर जाएगा। ईरान अपने जवानों की शहादत का बदला लेगा उन आतंकियों से लेगा, जिन्होंने ये अपराध किया। फिर चाहे वे दुनिया में कहीं भी हों, मगर हम उन्हें नहीं बख्शेंगे। हम किसी भी कीमत पर अपने युवाओं को उनका शिकार नहीं बनने देंगे।”

जनसत्ता आन लाइन



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें