गुरुवार, 28 फ़रवरी 2019

इंदिरा गांधी नहर में प्रस्तावित बंदी 26 मार्च से 24 अप्रैल

* पेयजल का पर्याप्त भण्डारण करने के निर्देश*


श्रीगंगानगर, 28 फरवरी2019.

 इंदिरा गांधी नहर परियोजना की प्रस्तावित बंदी 26 मार्च 2019 से 24 अप्रेल 2019 से पूर्व की जाने वाली तैयारियों को लेकर गुरूवार को राजस्थान सरकार के मुख्य सचिव ने विडियों कांन्फ्रेंसिंग के माध्यम से निर्देश दिये। उन्होंने आईजीएनपी क्षेत्र के समस्त जिलों के जिला कलक्टर व अन्य अधिकारियों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि समय रहते पर्याप्त मात्रा में पेयजल का भंडारण कर लिया जाये। नहरबंदी के दौरान पेयजल की समस्या नही रहनी चाहिए।

उन्होंने निर्देश दिये कि नहरबंदी से पूर्व लाईनिंग वाले क्षेत्रा में सामग्री इत्यादि का स्टॉक कार्यस्थल पर होना चाहिए। मजदूरों, मिस्त्रियों की पर्याप्त व्यवस्था हो। नहर बंदी के बाद निर्माण कार्य शुरू होने में एक भी दिन खराब नही होना चाहिए। 

जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि गंगानगर जिले में अधिकांश क्षेत्र में गंगनहर से पानी उपलब्ध होता है। इंदिरा गांधी नहर परियोजना से अनूपगढ़, सूरतगढ़ क्षेत्र तथा भाखडा नहर से सादुलशहर क्षेत्रा में पानी उपलब्ध होता है।


पेयजल भण्डारण के निर्देश


जिला कलक्टर श्री नकाते ने प्रस्तावित नहरबंदी से पूर्व पेयजल परियोजनाओं में पर्याप्त भण्डारण करने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि जनता जल योजना के अलावा सार्वजनिक डिग्गियों में भी पानी का भंडारण किया जाये। नहरबंदी से पूर्व नहर वितरिकाओं में चल रहे पानी से पेयजल का पर्याप्त स्टॉक सुनिश्चित करना होगा। पेयजल भण्डारण में किसी प्रकार की लापरवाही को गंभीरता से लिया जायेगा। 


विडियों कांन्फ्रेंसिंग में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन श्री नख्तदान बारहठ, जल संसाधन के अधीक्षण अभियंता श्री प्रदीप रूस्तगी, पेयजल, विधुत विभाग के अधीक्षण अभियंता उपस्थित थे। 

--------------




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें