सोमवार, 11 फ़रवरी 2019

श्रीगंगानगर रेल मैकेनाईज्ड लांडरी: शुरू 12 फरवरी से.सासद निहाल चंद द्वारा

श्रीगंगानगर, रेलवे स्टेशन पर नव स्थापित मेकेनाईज्ड लॉंडरी का मंगलवार को सायं 6 बजे सांसदटं एवं पूर्व केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री निहालचंद शुभारंभ करेगें।

महाप्रबंधक श्री राजेश नायर ने बताया कि मेकेनाईज्ड लॉडरी में 90 किलोग्राम क्षमता के तीन वाशर लगाये गये है। इस लॉंडरी में 270 किलोग्राम प्रतिघंटा लगभग 600 चद्दरे प्रतिघंटा धुलाई होगी। मेकेनाईज्ड लॉंडरी में 150 किलोग्राम के दो ड्रायर लगाये गये है। इस प्रोजेक्ट में लगाया गया आयरन प्रति घंटा एक हजार चद्दरों की प्रेस करता है। इस प्रकार पूरे दिन में 7 से 7.50 टन तक चदद्रे, तकियां, कम्बल इत्यादि की धुलाई की जाती है। इस प्रोजेक्ट में चद्दरे तकिया की धुलाई के बाद श्रीगंगानगर, बीकानेर, हिंसार, भिवानी तक आपूर्ति की जायेगी। इस प्रोजेक्ट में लगभग 50 से 55 युवाओं को रोजगार दिया गया है।

उन्होंने बताया कि यात्रियों को दी जाने वाली चद्दर तकिया इत्यादि एक यूनिट का वजन लगभग 1 किलोग्राम होता है। उन्हांने बताया कि वाशिंग लाईन बनने से नई गाड़ियां आने की संभावना बढ़ गई है तथा इस लॉंडरी से हिंसार, बीकानेर, भिवानी तक धुली हुई चद्दरें जायेगी। इस प्रोजेक्ट की कीमत लगभग साढे़ इक्कीस करोड़ रूपये है। जयपुर के बाद राजस्थान में यह दूसरा प्रोजेक्ट है तथा देश भर में इस प्रकार के 12-13 प्लांट संचालित है। 







कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें