गुरुवार, 3 जनवरी 2019

कांग्रेस ने सिख दंगे के आरोपी को दिया मुख्यमंत्री पद का उपहार- पीएम मोदी

पंजाब के गुरदासपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार  3-1-2019 को सिख दंगों का जिक्र कर कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि साढ़े तीन दशक से दंगों के पीड़ित न्याय का इंतजार कर रहे हैं। जिन लोगों का इतिहास हजारों सिख भाई-बहनों की बेरहमी से हत्या का हो और जो लोग आज भी दंगे के आरोपियों को मुख्यमंत्री पद का पुरस्कार दे रहे हों, उन लोगों से पंजाब समेत देशवासियों को सतर्क रहने की जरूरत है। 'प्रधानमंत्री धन्यवाद रैली' में पीएम ने जहां करतारपुर कॉरिडोर बनाने के फैसले पर अपनी सरकार का बखान किया, वहीं 1984 के सिख दंगों के नाम पर कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा।

पीएम ने कहा कि देश उन लोगों से सतर्क रहे जिनका इतिहास राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे में डालने वाला है। वहीं, सिख दंगे की जांच को लेकर पीएम ने कहा कि पहले देश में एक राजनीतिक पार्टी के इशारे पर आरोपियों को 'सज्जन' बताकर फाइलें दबा दी जाती थीं लेकिन वर्तमान की एनडीए सरकार ने सत्ता में आते ही जांच के लिए एसआईटी का गठन कराया और इसका परिणाम आज सबके सामने है।

कर्जमाफी के नाम पर कांग्रेस की आलोचना

कांग्रेस पर झूठ और धोखाधड़ी की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए पीएम ने कहा कि कांग्रेस की वर्षों से मांग थी कि स्वामीनाथन समिति की सिफारिशें लागू की जाएं, लेकिन कांग्रेस ने इसे लागू नहीं किया। बाद में एनडीए की सरकार ने इसे लागू किया और किसानों को समर्थन मूल्य का डेढ़ गुना धन समर्थन मूल्य के रूप में दिया गया। पीएम ने कहा कि जो लोग दशकों तक न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फैसला टालते रहे, वह अब फिर किसानों से झूठे वादे कर रहे हैं।

कांग्रेस ने गिने-चुने लोगों का कर्ज माफ किया: 

पीएम ने आगे कहा कि कांग्रेस ने 2009 में किसानों से झूठा वादा किया और किसानों ने सब जानकर भी कांग्रेस पार्टी पर भरोसा कर लिया। किसानों ने भरोसे से कांग्रेस को वोट दिया, लेकिन इस भरोसे की सजा आज भी देश का किसान भुगत रहा है। पीएम ने कहा कि 2009 में किसानों पर 6 लाख करोड़ का कर्ज था, लेकिन कर्जमाफी के वादे के साथ सरकार में आई कांग्रेस ने गिने-चुने लोगों का कर्ज माफ किया।

पीएम ने कहा कि कहा गया था कि देश की तरह पंजाब में भी किसानों का कर्ज माफ करेंगे, लेकिन डेढ़ साल बाद भी हकीकत क्या है, सब जानते हैं। कांग्रेस ने पूर्व में ऐसे लोगों का कर्ज माफ किया, जो किसान थे ही नहीं। कांग्रेस ने दशकों तक देश को गरीबी हटाओ के नाम पर ठगा और अब कर्जमाफी के नाम पर भी ऐसा ही कर रही है।

गुरदासपुर रैली में दिखी भारी भीड़

'किसान को ताकतवर बनाने के लिए हो रहा काम'

एनडीए सरकार की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा कि वाजपेयी सरकार में गांवों को सड़क से जोड़ने का काम शुरू हुआ था। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार भी एनडीए की सरकार विकास की पंचधारा जन-जन की सुनवाई, बच्चों को पढ़ाई, युवा को कमाई, बुजुर्गों को दवाई, किसान को सिंचाई के लिए काम कर रही है। इसके अलावा 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर काम किया जा रहा है। मोदी ने कहा कि हमारा किसान ताकतवर हो, इसी के लिए सरकार काम कर रही है।

एनडीए सरकार ने कराया करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण

पीएम मोदी ने गुरदासपुर में भाषण की शुरुआत पंजाबी में लोगों के अभिवादन से की। पीएम ने यहां बन रहे करतारपुर कॉरिडोर के नाम पर केंद्र की तारीफ की। पीएम ने भाषण की शुरुआत में कहा कि बंटवारे के समय उस वक्त की सरकार करतारपुर साहिब के पवित्र तीर्थ को भारत के साथ नहीं रख सकी, जिसके कारण लोग इसे दूरबीन से देखने को मजबूर थे।

पीएम ने कहा कि सिखों की भावना को देखते हुए एनडीए सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण शुरू कराया और इसके महत्व को देखते हुए केंद्र के मंत्री भी सीमा पार गए थे। लेकिन पूरा देश इसका गवाह है कि कांग्रेस नेताओं ने कैसे राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस मुद्दे पर पाकिस्तान को मौका दे दिया और इस मामले पर खुद अपने सीएम से कोई राय नहीं ली।

भाषण के बीच में पीएम ने पंजाब में चलाई जा रही केंद्र की तमाम योजनाओं का जिक्र किया और बठिंडा में एम्स समेत तमाम विकास योजनाओं को पंजाब को आगे बढ़ाने में सहायक भी बताया। अपने भाषण में पीएम ने गुरदासपुर से बीजेपी के सांसद रहे विनोद खन्ना को श्रद्धांजलि भी दी। इस रैली से पहले पीएम जालंधर में भारतीय विज्ञान कांग्रेस के उद्घाटन समारोह में भी पहुंचे, वहां उन्होंने छात्रों को संबोधित किया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें