गुरुवार, 4 अक्तूबर 2018

राजवीर गंगानगर जयपुर में गिरफ्तार:नौकरी दिलाने के नाम लाखों की धोखाधड़ी




चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी व सेना में भर्ती करवाने का झांसा देकर बेरोजगारों से

करीब 90 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में राजवीर गंगानगर को झोटवाड़ा थाना पुलिस ने बुधवार 3-10-2018 को पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया।

झोटवाड़ा थाना प्रभारी प्रदीप चारण के अनुसार श्रीगंगानगर जिले के ठाकरांवाली गांव निवासी राजवीर गंगानगर वर्तमान में जयपुर के झोटवाड़ा इलाके में रहता है। उसने करीब 50 अभ्यार्थियों को सचिवालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी व सेना में भर्ती करवाने का झांसा दिया। इसके बदले में अभ्यार्थियों से 90 लाख रुपए प्राप्त कर लिए। नौकरी नहीं लगने पर बेरोजगारों ने राजवीर गंगानगर से रुपए वापिस मांगे,तो उसने आयकर विभाग के फर्जी नोटिस जारी करके बेरोजगारों से जवाब मांगा, कि राजवीर गंगानगर को दी गई रकम कहां से आई। फर्जी नोटिस से कई अभ्यार्थी डर गये और उन्होंने राजवीर गंगानगर से रुपये मांगना बंद कर दिया।

थाना प्रभारी ने बताया कि कई बेरोजगार युवाओं ने हिम्मत नहीं हारी

और आखिरकार थाने में पहुंच कर मुकदमा दर्ज करवा दिया। युवाओं ने

राजवीर गंगानगर को रुपए देने के सबूत भी दिए।

इस मुकदमे की जांच के बाद पुलिस ने बुधवार को राजवीर

गंगानगर को गिरफ्तार कर लिया। रुपयों की बरामदगी और

ठगी करने में शामिल अन्य लोगों के बारे में पूछताछ करने के लिए आरोपी राजवीर गंगानगर को अदालत मेंघतत पेश करके रिमांड मांगा जा रहा है।  शाही ठाठ-बाठ से रहता है ठगी का आरोपी कभी करणी

सेना बीकाणा का झण्डा उठाक्षकर राजनीति में पांव जमाने की

जुगत भिड़ाने वाला राजवीर गंगानगर शाही ठाठ-बाठ से

रहता है। जयपुर के झोटवाड़ा इलाके व श्रीगंगानगर के

ठाकरांवाली में आलीशान मकान में रहने वाला आरोपी

महंगी लग्जरी कारों का भी शौंकिन हैं।

( समाचार सांध्य बोर्डर में भी है)


पूरे अनुसंधान से सही स्थिति का मालूम चल पाएगा।




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें