मंगलवार, 23 अक्तूबर 2018

अशोक नागपाल को टिकट पक्की का भरोसा,मगर.001 प्रतिशत न मिलने का भी खतरा पक्का


सूरतगढ़ 23 अक्टूबर 2018.

पूर्व विधायक अशोक नागपाल भारतीय जनता पार्टी की सूरतगढ़ सीट से अपनी टिकट पक्की मानकर चल रहे हैं।

 उन्होंने अपने निकटतम जानकारों और कार्यकर्ताओं को मिलकर  प्रसन्न मूड में बातचीत करते हुए चुनाव कार्य के लिए तैयार हो जाने का कहा। 

 नागपाल का हाल ही में रणकपुर के बाद दिल्ली और जयपुर में संपर्क रहा है और वे 22 अक्टूबर को ही सूरतगढ लौटे हैं।


 यह संपर्क भारतीय जनता पार्टी के नेताओं से फिर से हुआ है जो पहले रणकपुर में बातचीत कर चुके थे।

अब व्यक्तिगत संपर्क में बहुत सी बातें हुई है।नागपाल को संदेश देकर दिल्ली बुलाया गया था।

 दिल्ली जयपुर में संपर्क करने के बाद पूर्ण भरोसा मानते हुए नागपाल ने कहा कि .001 प्रतिशत में कोई ऐसा तूफान आ जाए जिससे टिकट नहीं मिल पाए तो वह पार्टी के ऊपर निर्भर है। उन्हें पूरा भरोसा है कि टिकट उनकी पक्की है और उन्होंने उस हिसाब से ही अब संपर्क एकदम से बढ़ा दिया है दिया है।

नागपाल ने सन 2003 में इसी सूरतगढ सीट पर ऐतिहासिक जीत पाई थी। उस समय यह सीट भारत पाक सीमा तक थी। नागपाल ने तब कांग्रेसी नेता श्रीमती  विजयलक्ष्मी बिश्नोई को हराया था जो संसदीय सचिव थी। नागपाल को पार्टी ने 2008 और 2013 में ईशारा नहीं किया सो उन्होंने टिकट नहीं मांगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें