बुधवार, 12 सितंबर 2018

सडक़ निर्माण व मरम्मत वास्ते तुरंत कार्रवाई करना मुख्यमंत्री की संवेदनशीलता का परिचायक


- भाजपा नेता शिव स्वामी ने जताया मुख्यमंत्री का आभार 


श्रीगंगानगर 12-9-2018.

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे द्वारा गंगानगर प्रवास के दौरान शहर की सडक़ों के निर्माण और मरमत के लिए 60 करोड़ रुपए से अधिक राशि स्वीकृत करने पर भाजपा नेता शिव स्वामी ने मुख्यमंत्री का आभार जताया है। 

श्री स्वामी ने बताया कि गौरव यात्रा के तहत गंगानगर आगमन पर एक युवक द्वारा सडक़ निर्माण-मरम्मत नहीं होने की जानकारी मिलने पर मुख्यमंत्री ने तुरंत प्रभाव से संवेदनशीलता का परिचय देते हुए न केवल स्थानीय अधिकारियों को इसके लिए निर्देशित किया बल्कि स्वायत्त शासन मंत्री श्रीचन्द कृपलानी के नेतृत्व में जनप्रतिनिधियों को रात में ही उक्त समस्या की जानकारी लेने के लिए कहा। इसका परिणाम यह रहा कि रात में मंत्री सहित अन्य अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने सडक़ों व सफाई व्यवस्था संबंधी जानकारी जुटाकर सुबह मुख्यमंत्री को उपलब्ध करवा दी। इस पर मुख्यमंत्री ने तुरंत कार्यवाही करते हुए 20 करोड़ रूपए से अधिक की राशि सडक़ निर्माण-मरमत के लिए स्वीकृत कर दी।

 इससे पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा मार्च में सडक़ निर्माण-मरमत के लिए 22.50 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए थे। इसके अतिरिक्त 17 करोड़ रुपए सार्वजनिक निर्माण विभाग को भी सडक़ों के निर्माण के लिए दिए गए हैं। 

श्री स्वामी ने बताया कि इसके अलावा मुख्यमंत्री ने स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक पवन अरोड़ा और सचिव पवन गोयल को भी गंगानगर बुलाकर यहां की समस्याओं बारे जानकारी जुटाकर आवश्यक कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। इसकी अनुपालना में दोनों अधिकारियों ने दो दिनों तक गंगानगर में रहकर नगर परिषद अध्यक्ष, नगर विकास न्यास अध्यक्ष और पार्षदों से मुलाकात कर आवश्यक जानकारी जुटाई। इन सबसे चर्चा के बाद ही जरुरी टूटी-फूटी सडक़ों के निर्माण के प्रस्ताव जिला कलक्टर के माध्यम से सरकार को भिजवाए गए हैं। श्री स्वामी ने कहा कि संवेदनशील मुख्यमंत्री के तौर पर श्रीमती वसुंधरा राजे ने न सिर्फ गंगानगर के लोगों की पीड़ा को समझा बल्कि इसके समाधान के लिए त्वरित कार्यवाही भी की। मुख्यमंत्री ने जिला कलक्टर को सडक़ों के निर्माण संबंधी जानकारी से प्रति सप्ताह अवगत करवाने के लिए निर्देशित करते हुए कहा है कि दो महीने में उक्त कार्य पूर्ण कर लिए जायें ताकि आमजन को दीपोत्सव पर परेशानियों का सामना न करना पड़े।

इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ने स्वायत्त शासन विभाग के अधिकारियों को सफाई व्यवस्था के संबंध में भी आवश्यक कार्यवाही के लिए निर्देशित किया है और जिला कलक्टर से इस संबंध में भी प्रति सप्ताह प्रगति रिपोर्ट तलब की है। श्री स्वामी ने इसे मुख्यमंत्री की संवेदनशीलता का परिचायक बताते हुए कहा कि इस बारे जानकारी होने के बावजूद क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने कोई कार्यवाही नहीं की जबकि मुख्यमंत्री ने अवगत होने के साथ ही इस संबंध में उचित कार्यवाही करते हुए आमजन को राहत दी।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें