बुधवार, 12 सितंबर 2018

श्रीकरणपुर:सुरेंद्रपालसिंह के आग्रह से सीएम ने तुरंत 16 करोड़ की मंजूरी दिलाई

श्रीगंगानगर, 11 सितम्बर। श्रीकरणपुर विधानसभा क्षेत्र में खान राज्यमंत्री श्री सुरेन्द्र पाल सिंह टीटी के प्रयासों से एवं माननीय मुख्यमंत्री के पदमपुर दौरे से पूरे इलाके को जनता जल योजना में बने वाटर वर्कसों के लिये सुदृढ़ीकरण एवं डिग्गी मरम्मत तथा फिल्टर मरम्मत हेतु सोलह करोड़ रूपये राशि स्वीकृत हुई है।

 जनता जल योजना में बने वाटर वर्क्स जो पूर्णतया जीर्णशीर्ण अवस्था में थे उनका दुबारा सुधार किया जायेगा। श्रीकरणपुर विधानसभा में पेयजल हेतु पूर्व में भी काफी राशि खर्च की गई है। मुख्यमंत्री के दौरे के अनुरूप श्री टीटी ने बताया कि 2 सीसी में 45.12 लाख, 4ईई में 43.07 लाख, 6 डीडी में 22.96 लाख, 12एमएल में 34.67 लाख, 26 बीबी में 52.49 लाख, 27 बीबी में 54.71 लाख, 33 बीबी में 40.82 लाख, 35 बीबी में 36.60 लाख, 35 आरबी में 27.66 लाख, 36 बीबी में 62.70 लाख, 42 एलएनपी-द्वितीय में 19.44 लाख, 50 एलएनपी में 30.84 लाख, 54 एलएनपी में 28.06 लाख, 63 एलएनपी में 20.81 लाख, 6 ओ में 72.20 लाख, 16 एस में 28.41 लाख, 9 ओ में 54.79 लाख, 4 एस में 71.79 लाख, 2 एमएम में 44.08 लाख, 52 जीजी में 25.50 लाख, 13 एच में 60.62 लाख, 10 एफएफ में 89.22 लाख, 39 एच में 80.88 लाख, 27 एफ में 44.90 लाख, 30 एफ में 48.47 लाख, 55 एफ में 60.08 लाख, 17 एस में 42.92 लाख, 1 एक्स में 53.24 लाख, 25 एच में 23.46 लाख, 20 एच में 89.24 लाख, 16-17 एच में 51.66 लाख, 19 एफ-3 टी में 66 लाख और 10 एच में 54.05 लाख कुल 16 करोड़ रूपये की राशि श्रीकरणपुर विधानसभा में वाटर वर्क्सों के सुधार हेतु खर्च होगी। श्री टीटी ने बताया कि जनता की इन वाटर वर्क्सों के सुधार हेतु बार-बार मांग उठ रही थी एवं पेयजल हेतु पाईप लाइनें भी जल्द स्वीकृत की जा रही है। इन वाटर वर्क्सों के सुधार हेतु राशि स्वीकृत कराने के लिये टीटी ने मुख्यमंत्री से बात कर करणपुर की समस्या से अवगत करवाया। माननीया मुख्यमंत्री द्वारा तुरन्त प्रभाव से पी एच डी मंत्री को राशि स्वीकृत करने हेतु कहा गया। परिणामस्वरूप 7 सितम्बर 2018 को टीटी के प्रयासों से यह 16 करोड़ की राशि स्वीकृत हुई। 

श्री टीटी ने अधीक्षण अभियंता से बात कर जल्द ही टेण्डर प्रक्रिया पूरी कर वाटर वर्क्सों के सुद्ढ़ीकरण का कार्य शुरू करने के आदेश दिये। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें