गुरुवार, 23 अगस्त 2018

उत्तर पश्चिम रेलवे -केरल बाढ़ पीडितों की राहत हेतु योगदान


श्रीगंगानगर, 23 अगस्त। गम्भीर प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे केरल प्रदेश में हजारों लोग बारिश और बाढ के कारण बेघर हो गये है, जिससे जानमाल को काफी क्षति हुई है तथा केरल वासियों को पशुधन तथा सम्पत्ति का नुकसान हुआ है। ऐसी कठिन परिस्थिति में केरल वासियों की आर्थिक सहायता करने के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे भी इस संकट की घडी में केरल के लोगों की इस आपदा के समय हर संभव मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है। केरल में अतिवृष्टि के कारण बाढ़ आ जाने से विपत्तिग्रस्त निवासियों को त्वरित सहायता की आवश्यकता है। भारतीय रेल राज्य सरकार की एजेन्सियों, सार्वजनिक क्षेत्रा उपक्रम तथा अन्य सरकारी एजेन्सियों के माध्यम से केरल के लिए निःशुल्क राहत सामग्री का परिवहन कर रही है। 

उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री तरूण जैन ने बताया कि केरल के निवासियों की मदद के लिए उत्तर पश्चिम रेलवे के कर्मचारी व अधिकारी प्रधानमंत्रा राष्ट्रीय राहत कोष में अपनी एक दिन का वेतन प्रदान कर बाढ पीडितों की मदद में योगदान प्रदान करेगे। इसके अतिरिक्त उल्लेखनीय है कि उत्तर पश्चिम रेलवे पर केरल में स्थित किसी भी स्टेशन को भेजे जाने वाले राहत सामग्री के परिवहन के लिए कोई भाड़ा नहीं लिया जा रहा है। यह सुविधा मालगाड़ी के साथ-साथ पार्सल वहन पर भी लागू है। सभी सरकारी संगठन तथा मण्डल रेल प्रबन्धक द्वारा अनुमोदित अन्य संगठन राहत सामग्री केरल के लिए निःशुल्क बुक कर सकते है। 

उन्होने बताया कि 24 अगस्त 2018 को गाडी संख्या 12988 अजमेर-एर्नाकूलम मरूसागर एक्सप्रेस में केरल बाढ पीडितों की मदद के लिये 8 टन राहत सामग्री का परिवहन रेलवे द्वारा किया जा रहा है। इसमें माई एफएम तथा विभिन्न एनजीओ द्वारा इस रेलसेवा से राहत सामग्री भेजी जा रही है।  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें