बुधवार, 29 अगस्त 2018

सूरतगढ़ थर्मल:तकनीकी कर्मचारियों ने इंटक के नेतृत्व में काली पट्टी बांधकर किया विरोध प्रदर्शन।


सूरतगढ़ तापीय परियोजना में करीब 18 वर्षो से कार्यरत तकनीकी कर्मचारियों को एसीपी पर 3600 ग्रेड पे का लाभ देने एवम रिस्ट्रक्चरिंग(पुनःसर्जन)के तहत बढ़े हुए तकनीकी कर्मचारियों के पदों पर पदोन्नति करने की मांग को लेकर इंटक के नेतृत्व में सूरतगढ़ थर्मल के तकनीकी कर्मचारियों ने दोनों थर्मल में एक से आठ नम्बर इकाई तक काली पट्टी बांध कर विरोध प्रकट किया।

सूरतगढ़ विद्युत उत्पादन मजदूर यूनियन के महामंत्री नरेंद्र सिंह सिसोदिया ने बताया कि 18 वर्ष की सेवा पूर्ण कर चुके सैकड़ो तकनीकी कर्मचारियों को 9 वर्ष के अंतराल के बाद मिलने वाला दूसरा एसीपी लाभ 2800 के हिसाब से ग्रेड पे 10 ए पर ही दिया जा रहा है। जबकि ये 3600 हिसाब से  हमे ग्रेड पे 11 पर में फिक्स किया जाना चाहिए। इसके अलावा चार माह पूर्व विभाग द्वारा सृजित वरिष्ठ तकनीकी कर्मचारी द्वितीय के पदों पर भी आज तक पदोन्नति नही की गई है। इसी के विरोध में इंटक संगठन द्वारा बुधवार से काली पट्टी बांध कर लगातार विरोध प्रकट जायेगा। इसके अलावा आगामी 31 अगस्त को परियोजना मुख्य द्वार पर सुबह 8 बजे से 10:30 बजे तक विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। इसी कड़ी में 4 सितम्बर को सभी तकनीकी कर्मचारियों के साथ इंटक परियोजना मुख्य द्वार पर एक दिन का धरना प्रदर्शन करेगी।

 इंटक अध्यक्ष श्याम सुंदर शर्मा ने बताया कि इसके साथ साथ सभी तकनीकी कर्मचारियों द्वारा मुख्यमंत्री व श्रीमान डी सी सामंत अध्यक्ष वेतन विसंगति कमेटी राजस्थान सरकार  को पोस्ट कार्डअभियान चलाकर इस सम्बन्ध में अवगत कराया जायेगा। जिसके तहत लगातार पोस्टकार्ड मुख्यमंत्री के नाम पोस्ट किए जा चुके है। उन्होंने बताया कि आगामी 6 सितम्बर को बीकानेर संभाग में शुरू हो रही गौरव यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री के गंगानगर प्रवास के दौरान उत्पादन निगम के सीएमडी द्वारा श्रमिक संगठनों के साथ संवादहीनता की भी शिकायत की जाएगी।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें