सोमवार, 16 जुलाई 2018

श्रीगंगानगर में 12 दिवसीय राष्ट्रीय किन्नर सम्मेलन



श्रीगंगानगर न्यूज -16-7-2018

'राष्ट्रीय किन्नर सम्मेलन में दूसरे दिन भी पहुंचे अलग-अलग राज्यों से किन्नर'

श्रीगंगानगर। पदमपुर रोड स्थित ग्रीन वैली रिसोर्ट में दूसरे दिन भी अखिल

भारतीय राष्ट्रीय सम्मेलन में देशभर से पहुंच रहे किन्नरों का ग्रीन वैली

में स्वागत सत्कार किया गया। हालांकि इस सम्मेलन में देशभर से दो हजार से

अधिक किन्नर समुदायों के पहुचने की संभावना हैं।

वहीं श्रीगंगानगर में जम्मू कश्मीर की हाजी मियां शायरा गद्दीनशीन के

नेतृत्व में हो रहे इस 12 दिवसीय आयोजन में हर दिन अलग-अलग कार्यक्रम

होंगे, जिनमें किन्नरों के साथ-साथ आम जनता की भी सहयोगात्मक भागीदारी

रहेगी। हालांकि सम्मेलन की शुरूआत रविवार को भाजपा नेता जुगल डुमरा ने

रिबन काट कर की। वहीं सम्मेलन की संयोजक हाजी मियां सायरा ने बताया कि 18

जुलाई को भव्य कलश यात्रा किन्नरों द्वारा निकाली जायेगी, जिसमें पूरे

शहर में लोग जगह-जगह इस कलश यात्रा का स्वागत करेंगे। इसके अलावा किन्नर

रामप्यारी की गद्दी पर वारिस के रूप में गद्दीनशीनी का कार्यक्रम भी

होगा। जिसमें श्रीगंगानगर के पप्पू हाजी को गद्दीनशीन किया जायेगा। इस

अवसर पर ग्रीन वैली में 3 बड़े वाटर प्रूफ टेंट लगाये गये हैं इसके अलावा

2 कंडीशन हॉल में भी किन्नरों के ठहरने की शानदार व्यवस्था की गई है।

उन्होंने बताया कि 24 जुलाई को शहरभर के गणमान्य लोगों का इस आयोजन में

सामूहिक भोज का भी कार्यक्रम रखा गया है । देश भर से आये किन्नर

श्रीगंगानगर में हो रहे इस आयोजन को लेकर काफी उत्साहित है और किन्नरों

का लगातार श्रीगंगानगर पहुंचना जारी है।

कार्यक्रम में गौरी माई ने बताया कि दस दिन चलने वाले इस किन्नर सम्मेलन

में किन्नर समाज देश और समाज की खुशहाली के लिए कामना करता है, जिससे देश

के बच्चे स्वस्थ रहें उन्हें रोजगार मिलें और सभी आगे बढ़ें। इस दौरान

विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा तथा किन्नर समाज में फैली

अशिक्षा का कलंक मिटाने पर जोर दिया जायेगा। इस मौके पर महासभा के प्रधान

हाजी मियां सायरा, सुनीता हाजी, सीतो हाजी, गौरी माई व पूजा माई,

प्रवक्ता मनीष गर्ग, मीडिया कोर्डिनेटर लक्ष्मीकान्त शर्मा सहित काफी

संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित रहे। गौरतलब हैं कि ग्रीन वैली रिसोर्ट

से 18 जुलाई को सुबह 9 बजे कलश यात्रा निकाली जायेगी। जो शहर के मुख्य

मुख्य मार्गों व इंद्रा चौक स्थित कमला माई के घर से होते हुए वापस

रिसोर्ट में संपन्न होगी। इसके बाद शाम को विधि-विधान के साथ पूजा होगी।

इसी कड़ी में कमला माई की गद्दी पप्पू माई को सौंपी जायेगी। इसके लिए

समाज की ओर से बड़े स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। महासम्मेलन में

देशभर से 2 हजार से ज्यादा किन्नर शामिल होने के लिए श्रीगंगानगर पहुंच

रहे हैं। इसमें पंजाब, जम्मू, कश्मीर, दिल्ली, हरियाणा सहित अन्य राज्यों

से किन्नरों के आने का सिलसिला जारी है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें