शुक्रवार, 15 जून 2018

आदर्श क्रेडिट सोसायटी और बैंक से करोड़ों की निकासी।

* आयकर विभाग की जांच में चैंकाने वाले तथ्य सामने आए। *

* हथियार लाइसेंस में भी उलझा है मोदी परिवार। *

12 जून को मंदिर में चढ़ाया था 1 किलो सोना।

====

15 जून 2018 को भी लगातार दूसरे दिन राजस्थान की मशहूर आदर्श क्रेडिट सोसायटी एवं बैंक के मालिक मुकेश मोदी के अनेक ठिकानों पर आयकर विभाग की जांच का काम जारी रहा। करीब सौ अफसरों के 6 जांच दल विभाग के संयुक्त निदेशक एम रघुवीर के नेतृत्व में जांच का कार्य कर रहे हैं। जांच 15 जून को देर रात तक जारी रहने की उम्मीद है। बताया जा रहा है कि मोदी परिवार ने पिछले दिनों अपनी अनेक कम्पनियों के लिए आदर्श क्रेडिट सोसायटी और बैंक से करोड़ों रुपए निकाले हैं। सोसायटी में आम उपभोक्ताओं की राशि जमा होती है। हालांकि आदर्श बैंक का संचालन रिजर्व बैंक के दिशा निर्देशों के अनुरूप होता हैं, लेकिन जांच में लगे अधिकारियों को आश्चर्य है कि सोसायटी की विभिन्न शाखाओं में से कंपनियों के लिए करोड़ों रुपए निकाले गए। ऐसी सभी कंपनियों के मालिक भी मुकेश मोदी और उसके परिवार के सदस्य ही हैं। जांच में कंपनियों के काम काज की भी जानकारी ली जा रही है। मुकेश मोदी, रोहित मोदी और अन्य परिजन से यह जानने की कोशिश की जा रही है कि सोसायटी के खातों से कंपनियों में राशि स्थानांतरित क्यों की गई। हालांकि अभी नोटबंदी के दौरान जमा करोड़ों रुपए की राशि को जांच के दायरे में शामिल नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि आगे चल कर आयकर विभाग उन व्यक्तियों की जांच करेगा, जिन्होंने नोटबंदी के दौरान राशि जमा कराई है। आयकर विभाग की ताजा कार्यवाही से आदर्श क्रेडिट सोसायटी और बैंक में खलबली मच गई है। जांच का कार्य उदयपुर, सिरोही, जयपुर, जोधपुर, बीकानेर आदि शहरों में कड़ी सुरक्षा के बीच हो रहा है।

हथियार लाइसेंस में भी उलझेः

सोसायटी और बैंक के मालिक मुकेश मोदी और उनका पुत्र रोहित मोदी देश के बहुचर्चित हथियार लाइसेंस के मामले में भी उलझे हुए हैं। गिरफ्तारी से बचने के लिए पिता पुत्र ने अदालत से अग्रिम जमानत करवा रखी हैं। हालांकि इस मामले में अधिकांश धनाढ्य व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है, लेकिन मुकेश मोदी और रोहित मोदी अभी तक बचे हुए हैं। आरोप है कि पिता-पुत्र ने फर्जी दस्तावेज प्रस्तुत कर कश्मीर से रिवाल्वर का लाइसेंस हासिल किया। हालांकि अब राजस्थान की एटीएस कश्मीर से जारी लाइसेंसों की भी जांच कर रही है। इस बीच इस गंभीर मामले की जांच सीबीआई से कराने की घोषणा की गई है। फर्जी दस्तावेज से हथियार लाइसेंस पूर्वोत्तर राज्यों से भी जारी करवाए गए हैं। 

मंदिर में एक किलो सोना चढ़ायाः

इसे एक संयोग ही कहेंगे कि मुकेश मोदी ने 12 जून को अपने परिवार के साथ गुजरात स्थित अंबाजी मंदिर में एक किलो सोना अर्पित किया और 14 जून को आयकर विभाग की जांच शुरू हो गई। मालूम हो कि आदर्श क्रेडिट सोसायटी की विभिन्न शाखाओं में लाखों लोगों की राशि जमा हैं। सोसायटी में जमाओं पर अन्य बैंकों से ज्यादा ब्याज मिलता है।

एस.पी.मित्तल) (15-06-18)


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें