शुक्रवार, 15 जून 2018

आतंकियों ने कश्मीर में 1 संपादक और 2 सुरक्षाकर्मियों को गोली से उड़ाया



- श्रीनगर के लाल चौक के पास आतंकियों ने बुखारी पर हमला किया

- बुखारी अपने दफ्तर से इफ्तार पार्टी में शामिल होने जा रहे थे


श्रीनगर.14-6-2018.

राइजिंग कश्मीर अखबार के संपादक शुजात बुखारी की गुरुवार शाम आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी। लाल चौक के पास शाम 7.15 बजे हुए हमले में बुखारी के 2 सुरक्षाकर्मियों की भी जान चली गई। एक नागरिक भी घायल हुआ है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह, जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस घटना पर शोक जाहिर किया है। राजनाथ ने कहा- बुखारी निडर पत्रकार थे, उनकी हत्या कायरता का परिचय है।


बाइक पर आए तीन आतंकियों ने किया हमला


- जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने कहा, "हमला इफ्तार के वक्त हुआ। बुखारी अपने प्रेस एन्क्लेव स्थित दफ्तर से बाहर निकले थे और कार में सवार होने जा रहे थे। इसी दौरान बाइक पर आए 3 आतंकियों ने उन पर और सुरक्षाकर्मियों पर गोलियां बरसानी शुरू कर दीं।" 


ईद से पहले आतंकियों का गंदा चेहरा सामने आया- मुफ्ती

- महबूबा मुफ्ती ने बुखारी के परिजनों से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने कहा, "ईद से एक दिन पहले आतंकियों का गंदा चेहरा सामने आया है। बुखारी की हत्या चौंकाने वाली घटना है। कुछ दिन पहले ही वे मुझसे मिलने आए थे।" 

- नेशनल कॉन्फ्रेंस लीडर उमर अब्दुल्ला ने कहा, "बुखारी ने अपना कर्तव्य निभाते हुए जान दी। उनकी हत्या कायराना हरकत है।" 

बुखारी न्याय और शांति के लिए निडरता से लड़े- राहुल

- राहुल ने ट्वीट किया, "शुजात बुखारी की हत्या की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। वे काफी हिम्मत वाले थे। बुखारी जम्मू-कश्मीर में न्याय और शांति के लिए निडरता से लड़े।"

- केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने ट्वीट किया, "ये शर्मनाक हरकत है। भारत में मीडिया स्वतंत्र है। केंद्र और राज्य सरकार मीडिया की स्वतंत्रता को लेकर प्रतिबद्ध हैं।"


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें