बुधवार, 23 मई 2018

भाजपा के 2019 में नेताओं पर अनैतिकता भ्रष्टाचार के आरोपों से भारी बदनामी होगी:


* नेताओं की आपस में लड़ाई होगी*

* अकेले दम पर सरकार संभव नहीं*

जालंधर: कर्नाटक में भाजपा द्वारा अपनी सरकार को बचाए रखने में विफलता के बाद अब अगले लोकसभा चुनाव 2019 में केन्द्र में किसकी सरकार बनेगी, इसे लेकर सियासी पटल पर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है। ज्योतिषी भी इस संबंध में भविष्यवाणियां करने में पीछे नहीं हैं। कनाडा के ज्योतिषी प्रो. पवन कुमार शर्मा के अनुसार भाजपा को इस समय सूर्य महादशा में शुक्र की अन्तर्दशा चल रही है, जो 19 जून 2018 तक रहेगी। शुक्र पर नीच राशि के चंद्रमा, नैप्च्यून, यूरेनस तथा शनि की दृष्टि है। 


कुल मिलाकर शुक्र भाजपा की लगन, नवमाश व दशमांश कुंडली में अशुभ ग्रहों से दृष्ट है। शुक्र की अन्तर्दशा में भाजपा को विफलता, आलोचना, आरोपों व हानि के सिवाय कुछ नहीं मिलेगा। भाजपा पर कई प्रकार की अनैतिक गतिविधियों में लिप्त होने के आरोप लगेंगे। भाजपा की जन्मकुंडली में शुक्र व शनि की दृष्टि होने से भाजपा को ऐसी अनैतिक गतिविधियों व कार्य के कारण जनता से दंड मिलेगा। भाजपा के कई नेताओं पर कई आरोप लगेंगे। 

उन्होंने कहा कि भाजपा के कुछ नेताओं को जेल भी हो सकती है व कुछ पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगेंगे। कुल मिलाकर भाजपा का जनाधार घटेगा। जनता में भाजपा की छवि को गहरा आघात लगेगा। किसी महिला नेता के कारण भाजपा को भारी बदनामी का सामना भी करना पड़ेगा, जिससे भाजपा की जनता में साख घटेगी।  उन्होंने कहा कि गोचर में शनि 26 अक्तूबर 2017 से लगन से सातवें, चंद्रमा से दूसरे तथा सूर्य से 10वें स्थान में संचार कर रहा है। शनि की दृष्टि लगन, नौवें व चौथे भाव पर पड़ रही है। 


देश का मीडिया चाहे यह दावा कर रहा है कि 2019 के आम चुनावों में भाजपा को सफलता प्राप्त होगी परन्तु गोचर में शनि जनवरी 2021 तक धनु राशि में चलेगा तथा उसकी दृष्टि चौथे भाव में प्लूटो पर पड़ेगी, जिस कारण 2019 के चुनावों तक भाजपा का जनसमर्थन काफी कम हो जाएगा। भाजपा अगर धार्मिक मुद्दों को उठाएगी तो उसका दाव उलटा हानिकारक होगा। 


19 जून 2018 से 10 वर्षों के लिए भाजपा को चंद्रमा की महादशा शुरू होगी। जन्म कुंडली में चंद्रमा छठे घर में नीच का है। चंद्रमा का समय शुरू होते ही भाजपा में अन्तर्कलह चरम सीमा पर बढ़ेगी, इसके नेता खुलेआम एक-दूसरे के विरुद्ध लड़ेंगे। भाजपा को सूर्य की महादशा अच्छी रही परन्तु चंद्रमा की महादशा में भाजपा केन्द्र में अपने बलबूते पर सरकार बनाने मेें असमर्थ होगी, उसे 2019 में पूर्ण बहुमत हासिल नहीं होगा। चंद्रमा के समय में नौजवानों का समर्थन भाजपा व मोदी सरकार से पीछे हट जाएगा। 

 ( साभार पंजाब केसरी 22-5-2018 )




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें