बुधवार, 28 मार्च 2018

शर्मा बाल मंदिर के व्यवस्थापक गोपाल शर्मा के वारंट गिरफ्तारी:

सूरतगढ़ 28 मार्च 2018.

 शर्मा बाल मंदिर के एक नाबालिग छात्र मनोज शर्मा को आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने के आरोप में अदालत ने संचालक श्रीगोपाल शर्मा, स्टाफ की मोनिका शर्मा और राजवीन्दर कौर को प्रथमद्रष्टया आरोपित मान कर गिरफ्तारी वारंट से तलब करने का आदेश दिया है।

पुलिस की अंतिम रिपोर्ट नामंजूर करते हुए संज्ञान लिया है और यह मामला अदालत में चलेगा। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट डा. अजय कुमार गोदारा ने 28 मार्च 2018 को यह आदेश जारी किया है। 

इस मामले की अगली पेशी 3 मई 2018 को होगी।

मृतक मनोज के चाचा पवन शर्मा ने 20-10-2013 को मनोज को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में उसके मित्र अभिषेक मीणा के विरुद्ध दर्ज करवाया था। पुलिस ने इसकी जांच कर अंतिम रिपोर्ट अदालत में पेश की।जिसे पवन शर्मा ने चुनौती दी व अस्वीकार करने की मांग करते हुए न्याय की मांग की।

यह मामला छात्रा पूजा शर्मा से जुड़ा है जो अपने मामा हंसराज के यहां सूरतगढ में रहती हुई पढ रही थी।


*********





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें