गुरुवार, 22 मार्च 2018

सूरतगढ़ मिलिट्री स्टेशन की बड़ी ठेकेदार कंपनी के विरुद्ध धरना शुरू किया



सूरतगढ़ 22 मार्च 2018 .

मिलिट्री स्टेशन सूरतगढ़ में काम करने वाली बड़ी ठेकेदार कंपनी क्रिस्टल विजन प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड हैदराबाद की ओर से छोटे ठेकेदारों को करोड़ों रुपया नहीं चुकाने पर आज 22 मार्च से संबंधित ठेकेदारों की ओर से राजस्थान सरकार के उपखंड कार्यालय सूरतगढ़ पर धरना शुरू किया गया.

प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन पेश किया गया है जिसमें आरोप लगाया गया है कि उक्त ठेकेदार कंपनी सूरतगढ़ में सन 2009 में आई स्थानीय ठेकेदारों और सप्लायरों का 2012 से इस बड़ी कंपनी से छोटे-मोटे कार्यों के लिए अनुबंध हुआ।

इस बड़ी कंपनी ने 31 मार्च 2016 से पहले का भुगतान किया और कुछ भुगतान रख लिया इसके बाद इसके अधिकारी यहां से चले गए।

नए अधिकारी आ गए और करोड़ों रुपए का भुगतान रुक गया।

स्थानीय ठेकेदारों ने अपनी गुहार कश्मीर हाउस दिल्ली के संबंधित सेना अधिकारियों तक पहुंचाई खुद जाकर के मिले। उन्हें आश्वासन दिया गया कि 1 माह में भुगतान करवा दिया जाएगा मगर 1 साल बीत जाने के बावजूद भी करोड़ों रुपए का भुगतान नहीं हुआ। स्थानीय ठेकेदारों ने अपनी पहचान के ऊपर बाजार से माल खरीदा था उन्हें बाजार का पैसा चुकाना है इसलिए  बहुत परेशान हो गए जब सुनवाई नहीं हुई ठेकेदार कंपनी से वार्ता का कोई नतीजा नहीं निकला तो उन्होंने उपखंड अधिकारी के आगे धरना शुरू किया है।  स्थानीय ठेकेदार एवं सप्लायर जगमोहन गुंबर ,हरदेव सिंह ,कालूराम,मदनलाल, राजेंद्र कुमार,शिवनारायण, राजूराम, सुनील कुमार, पालाराम 

,धर्मपाल,राकेश,कमल कोठारी,अविनाश प्रधान, जसकरण सिंह,गुरसिमरन, राहुल बाबा, इंद्र कोठारी,गौरव नागपाल, संजय गुप्ता,प्रवीण धानुका और मुकेश कुमावत आदि ने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें