शनिवार, 3 फ़रवरी 2018

घनश्याम तिवाड़ी का सीएम वसुंधरा के विरुद्ध राज्यपाल को ज्ञापन

जयपुर 3-2-2018.

विधानसभा का बजट सत्र शुरू होने से ठीक पहले अपनी ही पार्टी में अलग-थलग पड़े भाजपा विधायक घनश्याम तिवाड़ी की राज्यपाल से मुलाकात के बाद सियासत गरमा गई है। तिवाड़ी ने राज्यपाल को एक ज्ञापन सौंपा है जिसमें उन्होंने सीएम पर गंभीर आरोप लगाए है।  

वरिष्ठ नेता और सांगानेर विधायक एवं दीनदयाल वाहिनी के प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी आज राज्यपाल कल्याण सिंह से मिले और उन्हें पांच सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मौजूदा मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्होनें विधानसभा का दुरुपयोग करते हुए मंत्री वेतन संशोधन विधेयक 2017 पास कर जयपुर के सिविल लाइंस में स्थित 13 नंबर बंगले को आजीवन अपने पास रखने की व्यवस्था कर ली है जो कि अलोकतांत्रिक और सामंती व्यवस्था स्थापित करने का प्रमाण है। 


तिवाड़ी ने राजस्थान संशोधन विधेयक 2017 जिसे भ्रष्टाचारियों को बचाने वाला काला कानून भी कहा जाता है उसे लेकर राज्यपाल से इस बिल पर अपने अभिभाषण के दौरान कड़ी निंदा करने और विधेयक को निरस्त करने की भी अपील की है।

इससे पहले भी तिवाड़ी मुख्यमंत्री के बंगला नंबर 13 के विरोध में एकात्मक सत्याग्रह तक कर चुके हैं। तिवाड़ी ने सीएम के इस ढाई हजार करोड़ के बंगले को खाली नहीं करने पर कई बार मुख्यमंत्री को चेतावनी तक दे डाली थी। सीएम के इस सरकारी बंगले का नाम ‘अनंत विजय’ रखने पर तिवाड़ी ने कहा था कि या तो वो इस बंगले को मुख्यमंत्री आवास नाम दे या फिर इसे खाली कर दे क्योंकि सरकारी बंगलो को कोई निजी नाम नहीं दिया जा सकता है। गौरतलब है कि राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र पांच फरवरी से शुरू हो रहा है। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें