शुक्रवार, 9 फ़रवरी 2018

श्री गंगानगर में पुलिस सब इंस्पेक्टर रिश्वत लेते गिरफ्तार



भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के शिकंजे में 9 फरवरी को श्रीगंगानगर जवाहर नगर पुलिस स्टेशन का एक सब इंस्पेक्टर राधेश्याम सांखला आया।

 सब इंस्पेक्टर 11,000 रू़ की रिश्वत लेते हुए एसीबी के बीकानेर के एडिशनल SP रजनीश पूनिया के  द्वारा रंगे हाथों  गिरफ्तार किया गया।


मामले के अनुसार सब इंस्पेक्टर इंस्पेक्टर ने यह रिश्वत भरत कुमार कुम्हार से प्राप्त की। भरत कुमार श्री गंगानगर के पास के पास  साधुवाली में कृषि यंत्र बनाने का कार्य करता है।

उसने गुमजाल के निवासी रवि सेतिया को खेत के लिए कृषि यंत्र बनाकर दिए। उसने बार बार मांगने के बावजूद पैसे नहीं दिए और पुलिस का रोब दिखाया।

 भरत कुमार पर चोरी का आरोप लगा कर पुलिस थाने में पिटवा भी दिया दिया।

इसके बाद भरत कुमार ने जवाहर नगर थाना अधिकारी शकील और अन्य पुलिसकर्मियों के विरुद्ध अदालत में  इस्तगासा किया।

अदालत ने यह प्रकरण जांच के लिए पुलिस को सौंपा।

जवाहर नगर पुलिस स्टेशन के सब इंस्पेक्टर राधेश्याम सांखला को यह जांच सौंपी गई।

राधेश्याम ने भरत कुमार को परेशान करना शुरू किया।

उसने कहा कि तेरे विरुद्ध चोरी का मुकदमा खत्म कर दूंगा और इस्तगासे वाले मामले को पूरा कर दूंगा और इसके लिए 15000 देने होंगे।

 भरत कुमार को धमकी भी दी गई कि पैसे नहीं दिए तो उसके विरुद्ध चोरी वाला मामला पूरा करके अदालत में दे दूंगा।

भरत कुमार ने तंग आकर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो बीकानेर कार्यालय को लिखित में सूचना दी।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने शिकायत का सत्यापन करवाया तब सब इंस्पेक्टर ₹12000 लेने को राजी हो गया।

इस पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने अपनी कार्यवाही का जाल फैलाया।

 आज दिनांक 9 फरवरी को भरत कुमार ने पुलिस स्टेशन में जाकर सब इंस्पेक्टर राधेश्याम सांखला को रिश्वत के ₹11000 दिए जो उसने अपनी वर्दी की पेंट की जेब में डाल लिए। रुपए लेने का इशारा मिला और एसीबी की टीम ने सब इंस्पेक्टर को दबोच लिया।

 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें