मंगलवार, 6 फ़रवरी 2018

वसुंधरा राजे के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ा जाएगा-अशोक परनामी


राजस्थान में वसुंधरा राजे के नेतृत्व में ही विधानसभा का चुनाव लड़ा जाएगा। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने कहा है कि आगामी राजस्थान  विधानसभा चुनाव वसुंधरा राजे के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा।

 पहले वसुंधरा राजे ने भी कुछ महीनों पहले घोषणा की थी कि अगला विधानसभा चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ा जाएगा।

 अब राजस्थान में दो लोकसभा और एक विधानसभा के उपचुनाव में बुरी तरह हार के बाद भी अशोक परनामी ने   6 फरवरी 2018  को जयपुर में मीडिया से कहा कि नवम्बर में होने वाले विधानसभा के चुनाव मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व में लड़े जाएंगे। हालांकि अभी उनका प्रदेशाध्यक्ष पद पर बने रहना तय नहीं है।

उन्होंने कहा कि उपचुनाव की हार अपनी जगह है, लेकिन आदरणीय वसुंधरा राजे ने राजस्थान का चहुंमुखी विकास करवाया है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन की अटकले बेकार हैं। जहां तक संगठन में समीक्षा का सवाल है तो ऐसी समीक्षा हार पर ही नहीं बल्कि जीत पर भी होती है। उन्होंने कहा कि भाजपा के सभी विधायकों का विश्वास वसुंधरा राजे के प्रति बना हुआ है।


परनामी को हटाने की चर्चाः



अशोक परनामी अपनी वसुंधरा राजे के प्रति वफादारी दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। लेकिन भाजपा के राजनीतिक क्षेत्रों मे ंचर्चा है कि उपचुनावों में हार की जिम्मेदारी भाजपा संगठन पर डालते हुए परनामी को बली का बकरा बनाया जाएगा। असल में परनामी सीएम राजे की मेहरबानी से ही भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बने हुए हैं। प्रदेश अध्यक्ष की हैसियत से परनामी ने वही किया जो सीएम राजे ने चाहा। परनामी अपने भाषण की शुरुआत ही यशस्वी, आदरणीय मुख्यमंत्री के शब्दों के साथ ही करते रहे। यही वजह है कि अब जब परनामी को हटाने की चर्चा जोरों पर है। तो सीएम वसुंधरा राजे परनामी को राज्य सभा में भेजने की तैयारी कर रही हैं ताकि परनामी का राजनीतिक भविष्य 6 वर्षों के लिए सुरक्षित हो सके।




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें