मंगलवार, 20 फ़रवरी 2018

आरपीएस महिला अधिकारी के घर आगे सगे भाई ने आग लगाई


सूरतगढ़ 20 फरवरी 2018.

शिव प्रकाश ओझा ने आज अपनी सगी बहन पुलिस उपाधीक्षक ममता सारस्वत के निजी आवास के आगे खुद को आग लगा ली। उनकी ईलाज के दौरान शाम को बीकानेर मेंं मृत्यु हो गई।

  घटना के बाद शिव प्रकाश ओझा को गंभीर हालत में चिकित्सालय ले जाया गया जहां से बीकानेर भेजा गया। बताया जाता है कि शिव प्रकाश 70- 80 प्रतिशत  के करीब झुलस गया और बयान देने की स्थिति में नहीं था।

यह घटना सुबह करीब 11:15 के आसपास की बताई जाती है।

घटना का कारण कोई पारिवारिक असंतोष रहा है जिसके कारण उसने अपनी बहन के घर के आगे जाकर आग लगाकर मरने का प्रयास किया।

शिवप्रकाश की बहन ममता सारस्वत पहले महिला बाल विकास अधिकारी के पद पर सूरतगढ़ व अन्य स्थानों पर रह चुकी हैं। राजस्थान प्रशासनिक सेवाओं की परीक्षा में सुधार लाने पर इस बार वे पुलिस उप अधीक्षक रैंक पर पहुंची। प्रशिक्षण के उपरांत अभी बीकानेर पुलिस रेंज में उन्हें दिया गया है और पद स्थापन की प्रतीक्षा में हैं। ममता सारस्वत स्वभाव में शांति स्वभाव की उच्च कोटि की मानी जाती है।

शिव प्रकाश ओझा पूर्व विधायक गंगाजल मील के खास पीए रह चुके हैं। काफी समय तक उनके साथ रहे।

 चुनाव से लेकर और विधायक बनने के बाद तक। उसके बाद ठेकेदारी करने लगे।

 शिव प्रकाश ओझा के पिता वेद प्रकाश ओझा नगरपालिका सूरतगढ़ में नाकेदार के पद से सेवानिवृत्त जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

 शिव प्रकाश ओझा वर्तमान में सूरतगढ़ के वार्ड नंबर 19 में पिता के मकान में रह रहे हैं।

शिव प्रकाश ओझा की बहन ममता सारस्वत अपने अलग हाउसिंग बोर्ड के मकान में निवास कर रही हैं।

 शिव प्रकाश ओझा की एक बड़ी बहन अनूपगढ़ में ब्याही हुई है जिसकी पुत्री की शादी अभी  दो दिन पहले ही हुई है। शिव प्रकाश ओझा उस शादी में शामिल नहीं हुआ।

चर्चा है कि कोई कारण ऐसा हुआ है जिसके कारण उसने आत्महत्या करने की कोशिश की है। लेकिन उसने इस कार्य के लिए यही स्थान क्यों चुना?

 शिव प्रकाश ओझा के बयान देने की स्थिति में होने के बाद ही कारण का पता चल सकेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें