शुक्रवार, 2 फ़रवरी 2018

राजस्थान सरकार की मुखिया और पार्टी मुखिया को बदलने की मांग

कोटा . राज्य में उप चुनावों में भाजपा की करारी हार के बाद पार्टी के अंदर नेतृत्व परिवर्तन की मांग उठने लगी है। भाजपा ओबीसी मोर्चा कोटा शहर जिलाध्यक्ष अशोक चौधरी ने पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर पार्टी और सरकार की हकीकत से रूबरू कराया है।

 उन्होंने सरकार की मुखिया और पार्टी प्रदेशाध्यक्ष को बदलने की मांग उठाई।

चौधरी ने पत्र में लिखा कि राज्य सरकार की कार्य प्रणाली से जनता असंतुष्ट है। इस हार का उन्हें पहले से ही आभास था। उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामीसंगठन को नुकसान पहुंचा रहे हैं जिससे  कार्यकर्ताओं का मनोबल गिर रहा है।


 प्रदेशाध्यक्ष की कार्यशैली से कार्यकर्ता हैरान हैं। 


सरकार ब्यूरोक्रेसी के चक्रव्यूह में फंस ऐसे रास्ते पर चल पड़ी कि हार के सिवाय कुछ हासिल हो भी नहीं सकता।


 संगठन कार्यकर्ताओं में पार्टी और सरकार के प्रति आक्रोश है। प्रदेश में आमजन, कर्मचारी और संपूर्ण वर्ग सरकार से नाराज है।

भाजपा ने ही हराया भाजपा को

पत्र में चौधरी ने लिखा कि भाजपा को राजस्थान में भाजपा ने ही हराया है। कार्यकर्ता अब नेतृत्व परिवर्तन चाहता है। अजमेर , अलवर और मांडलगढ़ में हार के बाद अब सरकार की मुखिया और प्रदेशाध्यक्ष को तत्काल बदल देना चाहिए, ताकि विधानसभा चुनावों का नई ऊर्जा के साथ सामना किया जा सके।

भ्रष्टाचार, अराजकता और सरकारी अकड़ पड़ी भारी

राजस्थान में उपचुनाव परिणामों में। जनता का निर्णय सरकार के अहंकार पर भारी पड़ा। हालात यह रहे कि एक विधानसभा और 2 लोकसभा (17 विधानसभा क्षेत्र) में भाजपा का सफाया हो गया। कारण कई थे लेकिन चौंकाने वाली बात यह रही कि भाजपा का साथ इस बार अपनों ने भी नहीं दिया। भाजपा कुल 2,93,886 वोटों से हारी।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें