Monday, February 12, 2018

पूजा छाबड़ा का विधानसभा पर शराबबंदी अनशन:पुलिस ने रात को जंगल में छोड़ा

प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की मांग को लेकर विधानसभा के पास आमरण अनशन कर रहे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने देर शाम जबरन हटा दिया। पुलिस ने पहले इन्हें हिरासत में लिया और फिर रात को शहर से दूर ले जाकर छोड़ दिया।  


शराबबंदी आंदोलन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा छाबड़ा तथा कार्यकर्ता जयपुर में राजस्थान विधानसभा के पास धरना दे रहे थे। इस दौरान इन्होंने जमकर नोरबाजी की। पूजा छाबड़ा का आरोप है कि सरकार शराबबंदी के वादे से मुकर रही है।


प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए ज्योतिनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। उन्हें वहां से हटाने के लिए समझाइश की, लेकिन वे नहीं मानें। इस पर पुलिस ने जबरन पूजा छाबड़ा और उनके समर्थकों को हिरासत में ले लिया। गौरतलब है कि सोमवार को राज्य का बजट पेश होगा। इसके मद्देनजर पुलिस यहां विशेष सावधानी बरत रही है। 


देर रात शहर से दूर छोड़ा


पुलिस प्रदर्शनकारियों को जयपुर से करीब 50 किलोमीटर दूर चाकसू ले गई। वहां इन्हें छोड़ दिया। इस दौरान बस में भी ये नारेबाजी करते रहे। देर रात तक पुलिस पूजा और उसके समर्थकों की गतिविधियों की निगरानी करती रही। 


वहीं, इस मामले में पूजा छाबड़ा के संगठन से जुड़े अधिवक्ता पूनमचंद भंडारी का आरोप है कि पुलिस ने पूजा और अन्य लोगों को चाकसू के जंगल मे उतार दिया। भंडारी का आरोप है कि इस दौरान पुलिस ने एक कार्यकर्ता की पिटाई भी कर दी। जिसे इलाज के लिए सवाई मानसिंह अस्पताल में लाया गया है। 


+


जयपुर | संपूर्ण शराबबंदी, सशक्त लोकायुक्त कानून औ स्व. गुरुशरण छाबड़ा को शहीद का दर्जा देने की मांग को लेकर रविवार को जनक्रांति मंच की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा छाबड़ा के नेतृत्व में विधानसभा पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद छाबड़ा आमरण अनशन बैठ गई, जिन्हें रात को पुलिस ने हिरासत में लेकर चाकसू ले जाकर छोड़ दिया। हिरासत में लेने पर कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हाथ पाई हुई। छाबड़ा प्रदर्शन के लिए सुबह 10 बजे विधानसभा पहुंची। यहां पर सरकार के खिलाफ वादाखिलाफी को लेकर नारेबाजी की। इसके बाद धरना पर बैठ गई। पुलिस की ओर से दिन भी उन्हें समझाया गया, लेकिन नहीं मानने पर शाम 8 बजे हिरासत में लिया गया। छाबड़ा ने बताया कि विधायक स्व. गुरुशरण छाबड़ा ने प्रदर्शन में आम आदमी पार्टी, राजस्थान होमगार्ड संघ, मुस्लिम संघ,गुलाबी टीम सहित कई संगठनों के पदाधिकारियों ने पूजा छाबड़ा के आमरण अनशन का समर्थन दिया। उधर, जस्टिस फॉर छाबड़ा जी संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबड़ा का कहना है कि प्रदेश में शराब पर बंदी नहीं होने से अपराध निरंतर बढ़ते जा रहे हैं। शराब के बढ़ते अवैध कारोबार की वजह से प्रदेश में सुख अमन चैन सब संकट में है। अाए दिन पूरे प्रदेश में आपराधिक घटनाओं को बढ़ता ग्राफ। छाबड़ा रविवार को टोंक रोड में गुरुकृपा कॉम्प्लेक्स में संपूर्ण शराब बंदी को लेकर बैठक की। उन्होंने कहा कि सरकार ने जल्द मांगे नहीं मानी तो विधानसभा पर प्रदर्शन किया जाएगा। 


जयपुर | संपूर्ण शराबबंदी, सशक्त लोकायुक्त कानून औ स्व. गुरुशरण छाबड़ा को शहीद का दर्जा देने की मांग को लेकर रविवार को जनक्रांति मंच की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूजा छाबड़ा के नेतृत्व में विधानसभा पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद छाबड़ा आमरण अनशन बैठ गई, जिन्हें रात को पुलिस ने हिरासत में लेकर चाकसू ले जाकर छोड़ दिया। हिरासत में लेने पर कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हाथ पाई हुई। छाबड़ा प्रदर्शन के लिए सुबह 10 बजे विधानसभा पहुंची। यहां पर सरकार के खिलाफ वादाखिलाफी को लेकर नारेबाजी की। इसके बाद धरना पर बैठ गई। पुलिस की ओर से दिन भी उन्हें समझाया गया, लेकिन नहीं मानने पर शाम 8 बजे हिरासत में लिया गया। छाबड़ा ने बताया कि विधायक स्व. गुरुशरण छाबड़ा ने प्रदर्शन में आम आदमी पार्टी, राजस्थान होमगार्ड संघ, मुस्लिम संघ,गुलाबी टीम सहित कई संगठनों के पदाधिकारियों ने पूजा छाबड़ा के आमरण अनशन का समर्थन दिया। उधर, जस्टिस फॉर छाबड़ा जी संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबड़ा का कहना है कि प्रदेश में शराब पर बंदी नहीं होने से अपराध निरंतर बढ़ते जा रहे हैं। शराब के बढ़ते अवैध कारोबार की वजह से प्रदेश में सुख अमन चैन सब संकट में है। अाए दिन पूरे प्रदेश में आपराधिक घटनाओं को बढ़ता ग्राफ। छाबड़ा रविवार को टोंक रोड में गुरुकृपा कॉम्प्लेक्स में संपूर्ण शराब बंदी को लेकर बैठक की। उन्होंने कहा कि सरकार ने जल्द मांगे नहीं मानी तो विधानसभा पर प्रदर्शन किया जाएगा।



 



No comments:

Post a Comment

Search This Blog