शुक्रवार, 9 फ़रवरी 2018

राजस्‍थान उपचुनाव पोस्‍टमॉर्टम: बीजेपी को कहीं 2, 1 तो कहीं 0 वोट मिले:खतरे की घंटी:

*विशेष*

2014 में बीजेपी ने अलवर सीट 2.5 वोटों से जीती थी, लेकिन इस बार पार्टी को लगभग 2 लाख वोटों से हार का सामना करना पड़ा। यानी की पार्टी को लगभग साढ़े चार लाख वोटों का नुकसान हुआ।

राजस्थान उपचुनाव के  नतीजे बीजेपी के लिए किसी बुरे सपने की तरह हैं। पार्टी इससे उबरने की कोशिश कर रही है, लेकिन अलवर, अजमेर और मांडलगढ़ सीट पर हार से जुड़ी हर एक नयी रिपोर्ट पार्टी के लिए नयी चुनौतियां सामने लाती है।

 इन उपचुनाव के नतीजों के पोस्टमार्टम से पता चला है कि कई ऐसे बूथ थे जहां पर बीजेपी उम्मीदवार को मात्र 01 या 02 वोट मिले। यहीं नहीं कुछ बूथ तो ऐसे थे जहां पर बीजेपी को एक भी वोट नहीं मिला है। 

जिस पार्टी की सरकार प्रचंड बहुमत से दिल्ली में और राजस्थान में राज कर रही है, उसी के पार्टी के कैंडिडेट के कुल जमा खाते में 1, 2 या 0 वोट एक बेहद गंभीर खतरे का संकेत हैं। 

यह भी विचारणीय है कि राजस्थान में इसी साल 2018 में कुछ महीने बाद विधानसभा के चुनाव हैं और अगले साल हिन्दुस्तान नया प्रधानमंत्री चुनने वाला है।

 उपचुनाव के विश्लेषण से बीजेपी की सिट्टी-पिट्टी गुम है। 

न्यूज 18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक अजमेर के नसीराबाद विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 223 में बीजेपी को मात्र एक वोट मिला, जबकि यहां कांग्रेस को 582 वोट मिले। बूथ नंबर 224 में बीजेपी को 2 वोट मिले जबकि कांग्रेस यहां 500 वोट हासिल करने में कामयाब रही।

(जनसत्ता)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें