Wednesday, January 3, 2018

आम आदमी पार्टी में तूफान- भ्रष्ट हो जाने का भी आरोप

राज्यसभा में दिल्‍ली की तीन सीटों को लेकर घमासान अब सड़क पर आ गया है। आप की पार्लियामेंट्री अफेयर कमेटी की बैठक में जिन तीन नामों को लेकर अंतिम मुहर लगी है उनमें से दो को लेकर हंगामा खड़ा हो गया है। आप नेता संजय सिंह के अलावा चार्टेड अकांउटेंट एनडी गुप्ता और पूर्व कांग्रेस नेता  सुशील गुप्ता को राज्यसभा उम्‍मीदवार बनाने को लेकर केजरीवाल निशाने पर आ गए हैं।

पार्टी के अंदर से जहां कुमार विश्वास जैसे बड़े नेताओं ने उन पर निशाना साधा है वहीं विपक्ष ने भी दोनों नेताओं के बैकग्राउंड को लेकर केजरीवाल पर सवाल उठा दिया है। कांग्रेस के दिल्‍ली प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने ट्वीट कर केजरीवाल की पसंद पर निशाना साधा। 

माकन ने ट्वीट किया, केजरीवाल जी- आप तो राजनीति का रंग बदलने आए थे, AAP पर ही राजनैतिक रंग इतना गाढ़ा चढ़ गया? एक कांग्रेस से, तो एक BJP से पकड़ लाए! जिन एनडी गुप्ता को आप जीएसटी का एक्सपर्ट बता रहे हो, वही मोदी जी के सबसे बड़े जीएसटी समर्थक है! इन्हीं ने, 1 जुलाई को मोदी जी को जीएसटी पर पूर्ण समर्थन का ऐलान करा था!

वहीं इससे पहले उन्होंने दूसरे उम्‍मीदवार सुशील गुप्ता को लेकर भी केजरीवाल पर निशाना साधा जो पूर्व में कांग्रेस सदस्य रहे हैं। माकन ने ट्वीट किया- कि 28 नवंबर को सुशील गुप्ता ने मुझे अपना इस्तीफा सौंपा, मेंने पूछा क्यों?? उन्होंने जवाब दिया- सर, मुझे राज्यसभा भेजने का वायदा करा है। मैंने कहा- संभव नहीं है। वह मुस्कुराए और कहा, "सर आप नहीं जानते"। 40 से भी कम दिनों में जो कहा था उससे ज्यादा हो गया। बहरहाल, सुशील बढ़िया आदमी हैं और अपनी चैरिटी के लिए जाने जाते हैं। माकन के अलावा केजरीवाल के पुराने साथी और विधायक कपिल मिश्रा ने भी केजरीवाल पर निशाना साधा। ट्वीट करते हुए मिश्रा ने लिखा- "गधे हंस रहे हैं, आम आदमी रो रहा है, आप में देखो ये क्या हो रहा है। घोडों को नहीं मिलती घास देखो, गधे खा रहे च्वयनप्राश देखो।"

+

आम आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता और संस्थापक सदस्य रहे मयंक गांधी ने दिल्ली के राज्य सभा चुनाव में सुशील गुप्ता और नवीन एनडी गुप्ता को उम्मीदवार बनाए जाने पर आप और सीएम अरविंद केजरीवाल की आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि आप करप्ट हो गई है। उन्होंने आरोप लगाया है कि अरविंद केजरीवाल ने पैसे लेकर राज्य सभा सदस्यता बेची है, जबकि उनकी पार्टी में कुमार विश्वास, मीरा सांन्याल औक आशुतोष जैसे कई काबिल लोग थे। सोशल मीडिया पर मयंक गांधी ने लिखा है, “सुशील गुप्ता क्यों सेलेक्ट किए गए? अब आर और बीएसपी में कोई अंतर नहीं रह गया। यह नेतृत्व अब समर्थन के लायक नहीं है। आज मैं बिना किसी संदेह के कह सकता हूं कि आप अब करप्ट हो चुकी है। साम्प्रदायिक और जातीय वोट बैंक की राजनीति के बाद हमलोगों ने आखिरी गढ़ भ्रष्टाचार को भी पार कर लिया है।”

अपने दूसरे ट्वीट में मयंक ने लिखा है, “पार्टी में रहते हुए हमने ये सब देखे हैं लेकिन यह बहुत बेशर्म करने वाला है। मैं बहुत शर्मिंन्दा महसूस कर रहा हूं कि मैं भी कभी इसका हिस्सा था।” मयंक ने एक और ट्वीट में लिखा है कि उन्हें इस तरह की कुछ हरकतों के बारे में पहले भी बताया गया था लेकिन मेरी अंतरात्मा यह कबूलने को तैयार नहीं थी कि अरविंद केजरीवाल ऐसा कर सकते हैं? इसके बाद मयंक गांधी ने सुशील गुप्ता द्वारा चलाए जा रहे स्कूल की वेबसाइट का एक स्नैपशॉट भी शेयर किया है, जिसके शुल्क लाखों रुपये हैं। न्यूज 18 से भी बातचीत में मयंक गांधी ने कहा कि यह सोचने वाली बात है कि 35 दिन पहले पार्टी में शामिल होने वाले शख्स को क्यों राज्यसभा भेजा जा रहा है? उन्होंने कहा कि एक आम आदमी भी समझ सकता है कि इसके पीछे पैसे की ताकत छिपी है।

सुशील गुप्ता का नाम बतौर राज्यसभा उम्मीदवार घोषित होने पर कांग्रेस नेता अजय माकन ने भी लिखा है कि पार्टी से इस्तीफा देते समय सुशील गुप्ता ने बताया था कि उन्हें राज्य सभा की सीट देने का वादा किया गया है। उन्होंने भी ट्विटर पर लिखा है, ’28 नवंबर को सुशील गुप्ता मेरे पास अपना इस्तीफा देने आए, मैने पूछा-क्यों?, इसके जवाब में सुशील गुप्ता ने कहा-“सर,मुझे राज्य सभा का वायदा करा है।”

+

राज्यसभा चुनाव में टिकट कटने पर आप नेता कुमार विश्वास ने पार्टी नेतृत्व पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि शहादत स्वीकार करता हूं। मुझे सच बोलने की सजा मिली। 

कुमार विश्वास ने कहा कि राज्यसभा के लिए चुने गए तीनों साथियों को मैं बधाई देता हूं। अरविंद को पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं। शानदार चयन किया गया और कार्यकर्ताओं की बात सुनी गई।

कुमार विश्वास ने कहा, 'अरविंद केजरीवाल ने मुस्कुराते हुए कहा था कि आपको मारेंगे पर शहीद नहीं होने देंगे, मैं उनको बधाई देता हूं और अपनी शहादत स्वीकार करता हूं।' 

विश्वास ने कहा, 'सबको लड़नी है अपनी लड़ाई, सबको लड़ने हैं अपने युद्ध चाहे राजा राम हों या गौतम बुद्ध। हम सबको अपने-अपने संघर्ष लड़ने हैं। आशा करता हूं पार्टी और आंदोलन के आदर्शों को आगे ले जाया जाएगा। 

विश्वास ने कहा, 'मैं जानता हूं कि आपकी (केजरीवाल) इच्छा के बिना हमारे दल में कुछ नहीं होता। आपसे असहमत रहकर वहां जीवित रहना मुश्किल है। मैं आंदोलन का हिस्सा हूं और ये अनुरोध करता हूं कि शहीद तो कर दिया पर शव से छेड़छाड़ न करें।'



No comments:

Post a Comment

Search This Blog