बुधवार, 3 जनवरी 2018

रेलयात्री सावधान-टिकट खरीदने से पहले एक्सप्रेस का मालूम करलें-ट्रेनों का लेट होना:


 - करणीदान सिंह राजपूत -

रेलों के बिना आम आदमी ही नहीं, किसी का भी काम नहीं चल सकता।  रेलों की लेटलतीफी के कारण टिकट लेने के बाद घंटों तक इंतजार करना पड़ता है और दूसरी गाड़ी में भी सवार नहीं हो पाते। टिकट वापस करके दूसरी गाड़ी में सवार होना बहुत ही खर्चीला और मूर्ख बनने जैसा होता है।

 रेल विभाग लेट लतीफ ट्रेनों के बारे में कभी भी सही सूचना प्रसारित नहीं करता।अनाउंसमेंट नहीं होता लेकिन टिकट बेचने का काम शुरू होता है। यात्री टिकट खरीदने के बाद एक्सप्रेस गाड़ी की प्रतीक्षा घंटों तक करता रहता है और बार साधारण गाड़ी पहले रवाना हो जाती है।

 ऐसी स्थिति में अच्छा यही है कि टिकट खरीदने से पहले एक्सप्रेस और साधारण गाड़ियों के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर ली जाए और फिर टिकट खरीदा जाए।

 रेलवे की चतुराई यात्री जानते हैं कि रेल विभाग देरी की सूचना टुकड़ों में देता है।20-30 मिनट लेट होने की पूर्व सूचना देता है और उसके बाद 1 घंटे तक चुप रहता है।उसके बाद फिर सूचना देता है। टुकड़ों में सूचना देकर यात्री को टिकट होते हुए भी घंटो तक बैठाए रखता है। इस लेट लतीफी के कारण यात्री की आगे की गाड़ियां भी छूट जाती है और उसे परेशानी के अलावा बहुत अधिक खर्च करके अपने गंतव्य स्थान को पहुंचना पड़ता है या बीच में कहीं होटल और धर्मशाला  में मजबूरी में रूकना पड़ता है। रेलों का मालूम पहले किया जाए।

( यात्रा पर निकलने से पहले अपना परिचय पत्र ID अवश्य साथ लेकर चलें जितने भी घर के सदस्य हों सभी की अलग अलग ID होने जरूरी है। इसके बिना धर्मशाला होटल आदि में आजकल ठहराना बहुत कठिन होता है)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें