रविवार, 7 जनवरी 2018

सूरतगढ़ के गौरव पथ का जानलेवा गलत निर्माण




- करणीदानसिंह राजपूत-

सूरतगढ़ का गौरव पथ भविष्य में दुर्घटनाओं का कारण बनेगा जिसके फोटो सहित समाचार रिपोर्ट लगातार  प्रकाशित कर रहे है। 

सेठ रामदयाल राठी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के पास जहां गौरव पथ से अंडर ब्रिज जुड़ा हुआ है वहां सड़कों का मिलान बहुत बड़ी त्रुटि से बनाया गया है। सड़कों के नियम है कि इस तरह से बनाई जाए जिनसे वाहन चलाते वक्त कोई दुर्घटना न हो लेकिन यहां पर यह सब अनदेखी कर दी गई है जिसे तुरंत ठीक नहीं किया गया तो जानलेवा दुर्घटनाएं होंगी।

 गौरव पथ और अंडर ब्रिज की सड़क में समतल स्थिति नहीं है गौरव पथ की प्रवेश की सड़क अचानक से करीब 2 फुट ऊंची चढ़ाई की बनाई हुई है मामूली सा तीन फुट काम ढलान दिया गया है। स्पष्ट है कि यहां पर नाले का पाइप लगाने पर यह ऊंचाई हुई। लेकिन बिना लेवल के यह निर्माण किसने करवाया और आदेश किसने दिए? करोड़ों रुपए के निर्माण में यह गंभीर अनियमितता पर संबंधित इंजीनियरों पर कार्यवाही हो और उन्हें दंडित किया जाना चाहिए। सार्वजनिक निर्माण विभाग के इंजीनियर लाखों रुपए में वेतन लेते हैं।


अब दुर्घटनाएं कैसे हो सकती हैं यह भी जानिए।

बाईपास रोड से शहर में घुसने वाला वाहन मामूली सी तेज गति पर होगा तो वह अंडर ब्रिज की सड़क पर आते ही पलटने का खतरा होगा।

शहर की ओर से अंडर ब्रिज में प्रवेश करने वाला वाहन भी एक बार रुकने जैसी स्थिति में आकर के प्रवेश करेगा यहां पर इस हालत के अंदर आवागमन भी बाधित रहेगा और जाम लगते रहेंगे। अभी कुछ दिन पूर्व कांग्रेसी नेताओं नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष इंजीनियर मेघवाल, पूर्व विधायक हरचंद सिंह सिद्धू व कांग्रेस के अन्य नेताओं ने मौके के ऊपर निर्माण गलत बनाए जाने के बारे में सहायक अभियंता तेजपाल गुप्ता को विरोध दर्ज करवाया था कि इस गलत निर्माण का जिम्मेदार कौन है?

इसे तुरंत ही लेवल सही हो के रूप में बनाया जाए।

( विधायक राजेंद्र सिंह भादू के विधायक सेवा केंद्र की ओर से Facebook पर रंगीन इंटरलोकिंग के बारे में लिखा गया है कि यह गौरव पथ सूरतगढ़ के सौंदर्य को बढाएगा) 

विधायक राजेंद्र सिंह भादू को तुरंत ही इस निर्माण को देखना और सही करवाने के बाद ही इसका लोकार्पण करना चाहिए।



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें