शुक्रवार, 26 जनवरी 2018

श्रीगंगानगर के हिंदुमलकोट के पास पंजाब पुलिस ने गैंगस्टर विक्की गौंडर व 2 अन्य को मार गिराया

नाभा जेल ब्रेक कांड का मुख्य आरोपी विक्की गौंडर शुक्रवार 26-1-2018 की शाम पुलिस मुठभेड़ में ढेर हो गया। पंजाब- राजस्थान बार्डर पर हुई इस मुठभेड़ में विक्की के साथ उसका दोस्त गैंगेस्टर प्रेमा लाहौरिया भी मारा गया है। जबकि एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया।  पुलिस घायल को सरकारी अस्पताल ले गई जहां उसने भी दम तोड़ दिया। उक्त तीसरे की पहचान नहीं हो पाई है।


इस मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए है। पंजाब के डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने इस बात की पुष्टी की है। पंजाब के डीजी इंटेलिजेंस के बयान के अनुसार विक्की गौंडर गंगानगर जा रहा था।

 चंडीगढ़ से आर्गेनाईज्ड क्राइम कंट्रोल यूनिट ने यह एंकाउंटर किया है। इस टीम की तरफ से पिछले 5 दिनों से विक्की गौंडर को ट्रेस किया जा रहा था परन्तु आज जब यह टीम विक्की गौंडर का पीछा करती हुई  राजस्थान के श्री गंगानगर जिले के  थाना हिंदू मलकोट के पास एक ढाणी पर पहुंची तो वहां इनके बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में विक्की गौंडर मारा गया। मौके पर एसएसपी फाजिल्का भी पहुंच चुके हैं। शवों को पुलिस ने कब्जे में ले लिया है, जिनको अबोहर के सिविल अस्पताल में पहुंचाया गया है। 

गौंडर पंजाब में आतंक का पर्याय बन गया था। नाभा जेल कांड के बाद वह चर्चा में आया। उसका लूटपाट सहित कई हत्याओं और मादक पदार्थ की तस्करी में हाथ था। उस पर दस लाख रुपए का इनाम घोषित था। प्रेम लाहौरिया पर पांच लाख रुपए का इनाम था। इस गिरोह का पंजाब में काफी आतंक था।

 पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने आज गैंगस्टर विक्की गौंडर और उसके साथी की मौत पर पंजाब पुलिस को बधाई दी है। पंजाब पुलिस की तरफ से आज गैंगस्टर विक्की गौंडर और प्रेमा लाहौरिया को मौत के घाट उतार दिया गया।

कैप्टन ने कहा कि इन खतरनाक गैंगस्टर को मौत के घाट उतार कर डी.जी.पी. सुरेश अरोड़ा और ओ.सी.सी.यू. की टीम ने शानदार काम किया है। इस टीम में ए.आई.जी. गुरमीत सिंह और इंस्पेक्टर विक्रम बराड़ भी शामिल हैं। कैप्टन ने पंजाब पुलिस को बधाई देते हुए कहा कि मुझे आपके ऊपर मान है। विक्की गोंडर और प्रेम लाहोरिया के शवों का पोस्टमार्टम श्री गंगानगर के चिकित्सालय में किया गया है। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें