सोमवार, 22 जनवरी 2018

अलवर:भाजपा सभा मेंं महिला को 1 हजार रू देने का मामला:

अलवर में भाजपा की सभा के दौरान एक कार्यकर्ता द्वारा महिला को पैसे देने के मामले में आचार संहिता प्रभारी ने महिला से स्पष्टीकरण मांगा है।

आदर्श आचार संहिता के प्रभारी अधिकारी ने एनईबी निवासी लीलावती देवी पत्नी मानसिंह से आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर स्पष्टीकरण मांगा है। प्रभारी अधिकारी ने बताया कि 17 जनवरी को पेंशन के नाम पर एक हजार रुपए थमाने का मामला सामने आया। जिसके बारे में उससे जवाब मांगा गया। बुजुर्ग महिला के भेजे जवाब में प्रथम दृष्टया यह कृत्य आचार संहिता के प्रतिकूल प्रतीत होता है। इसलिए बुजुर्ग महिला से 22 जनवरी को शाम 6 बजे तक प्रतिउत्तर मांगा गया है। गौरतलब है कि 17 जनवरी के अंक में राजस्थान पत्रिका ने 'ये लो पेंशन... बुजुर्ग महिला को थमाए एक हजार रुपए शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर लोकसभा उपचुनाव को लेकर आयोजित एक सभा में बुजुर्ग महिला को पेंशन मांगने पर एक हजार रुपए थमाने का खुलासा किया था। मामले में प्रभारी अधिकारी ने महिला से प्रतिउत्तर मांगा है।

 

निर्धारित समय तक जवाब नहीं दिया तो एक पक्षीय निर्णय संभव


लोकसभा उपचुनाव में प्रभारी अधिकारी आदर्श आचार संहिता प्रकोष्ठ ने कैलाश कॉलोनी अलवर निवासी देवेन्द्र छाबडा से स्पष्टीकरण मांगा है। उन्होंने छाबड़ा की ओर से राजस्थान पत्रिका में गत 17 जनवरी को प्रकाशित ये लो पेंशन....बुजुर्ग महिला को थमाए एक हजार रुपए शीर्षक से प्रकाशित समाचार के सदंर्भ प्रस्तुत जवाब एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी एसीईएम मुख्यालय अलवर के पत्र से प्रथम दृष्टया यह कार्य आचार संहिता के प्रतिकूल प्रतीत होता है। इस कारण मामले में नोटिस जारी कर 22 जनवरी शाम 6 बजे तक जवाब मांगा गया है। निर्धारित समय तक जवाब नहीं मिलने पर प्रकरण में एक पक्षीय निर्णय किया जा सकेगा।

यह था मामला

अलवर में भाजपा की सभा के दौरान प्रदेश प्रभारी की मौजूदगी में भाजपा कार्यकर्ता ने विधायक के पास पेंशन की समस्या को लेकर आई महिला को एक हजार रुपए दिए थे। महिला ने कहा था कि उसकी जो पेंशन आती थी जो कि अब रुक गई है, तो इस बात पर भाजपा कार्यकर्ता ने महिला की समस्या सुनकर उसे एक हजार रुपए पकड़ा दिए थे।




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें