मंगलवार, 12 दिसंबर 2017

राजस्थान में स्कूली शिक्षा में नरेंद्र मोदी को थोपने में शिक्षा विभाग की गलतियां उजागर

राजस्थान में वसुंधरा राजे की भाजपा सरकार स्कूली बच्चों के दिमाग पर नरेंद्र मोदी को थोपना चाहती है,मगर उसमें भी बेशुमार गलतियां।

राष्ट्रीय दैनिक जनसत्ता ने 12 दिसंबर 2017  को महत्वपूर्ण समाचार प्रकाशित किया है जो हमारे ब्लॉग करणी प्रेस इंडिया के पाठकों के सामने प्रस्तुत है।

राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार में दसवीं में पढ़ने वाले बच्चों की अर्द्धवार्षिक परीक्षा में अंग्रेजी के प्रश्न पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक पैसेज ( गद्यांश) दिया गया था और उस पर आधारित कुल सात सवाल पूछे गए थे। जयपुर के स्कूलों में पढ़ने वाले दसवीं के बच्चों को दिए गए इस पैसेज में स्पेलिंग (वर्तनी) की कई गलतियां हैं। उदाहरण के लिए, पैसेज में लिखा है, “MODI SERVED as the Chief Minister of Gujrat for the four terms… As a spoker he is known as a craod-puller. He is the most sovy political leader of India.” आप देख सकते हैं कि इस पैसेज में अंग्रेजी स्पेलिंग की कई गलतियां हैं। जैसे- spoker, craod-puller. इस सवाल ने वसुंधरा सरकार की शिक्षा व्यवस्था और शिक्षा विभाग के अधिकारियों पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

नरेंद्र मोदी के जीवन पर आधारित इस गद्यांश में कई गलतियां हैं। पैसेज में लिखा गया है, “He used to help his father in selling tea”, मोदी के शपथ ग्रहण समारोह पर लिखा है, his swearing-in was a “first of its kind” as he “invited all SAARC leaders”. पैसेज के बाद जो सवाल पूछे गए हैं, उनमें भी गलतियां हैं। जब इस बारे में राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष बी एल चौधरी से बात की गई तो उन्होंने कहा, हमलोग अर्धवार्षिक परीक्षाओं का संचालन नहीं करते हैं। यह जिला शिक्षा प्राधिकरण द्वारा स्वतंत्र रूप से आयोजित होता है।

इंडियन एक्सप्रेस संवाददाता ने जब जयपुर के जिला शिक्षा अधिकारी रतन सिंह यादव से इस बावत पूछा तो उन्होंने कहा, “हम इसकी जांच एक्सपर्ट से कराएंगे।” उन्होंने कहा, “सामान्यत: ऐसे मामलों में प्रिंटिंग एरर होता है लेकिन इस केस में कुछ ज्यादा ही गलतियां हैं। हमारी कोशिश होगी कि बच्चे इसका खामियाजा न भुगतें। हमारे पास गलत सवाल पर बोनस मार्क्स देने की व्यवस्था भी है।”प

इस बीच, विपक्षी कांग्रेस ने पीएम मोदी पर पैसेज देकर शिक्षा विभाग पर बीजेपी के प्रोपेगेंडा को फैलाने का आरोप लगाया है। राज्स्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने आरोप लगाया कि स्कूली सिलेबस में बदलाव करने का मकसद साफ हो गया है, बीजेपी अपनी विचारधारा बच्चों पर थोपना चाहती है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें