Wednesday, December 20, 2017

बिहार में नक्सलियों का तांडव: मधुसूदन स्टेशन को आग लगाई: कर्मचारियों का अपहरण


बिहार के भागलपुर में मंगलवार रात नक्सलियों बड़ा हमला किया। बिहार और झारखंड में बंदी शुरू होने के साथ ही नक्सलियों का तांडव शुरू हो गया। जमालपुर-किऊल रेलखंड के मधुसूदन स्टेशन पर हमला किया और 5 रेलकर्मियों को अगवा कर लिया। स्टेशन मास्टर और पोर्टर, गया-जमालपुर पैसेंजर ट्रेन के चालक, सहायक चालक और गार्ड को अगवा कर सिग्नलिंग पैनल फूंक दिया। घटना के बाद से भागलपुर-किऊल रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया है। नक्सलियों ने धमकी दी है कि आज पूरे दिन रेल परिचालन अगर बंद रहा तो पोर्टर को छोड़ दिया जाएगा।


दहशत भरी रही सुबह


सुबह दो ट्रेनें गुजारी गई थी, लेकिन उसके बाद नक्सलियों ने लखीसराय डीएम के मोबाइल पर धमकी भरा मैसेज भेजा। साथ ही मालदा डीआरएम मोहित सिन्हा को भी फोन पर धमकी दी कि यदि परिचालन चालू कराया तो एएसएम और पोर्टर की हत्या कर देंगे। इसके बाद से परिचालन रोक दिया गया है।


इधर जमालपुर रेल एसपी शंकर झा, आरपीएफ कमांडेंट, लखीसराय एएसपी अभियान पीके उपाध्याय, एसडीपीओ पंकज कुमार मौके पर पहुंच कर रणनीति बना रहे हैं।  पटना की ओर से भागलपुर से आगे जाने वाली लंबी दूरी की ट्रेनों को जमालपुर की बजाय झाझा होकर मेनलाइन से निकाला जा रहा है। वहीं भागलपुर से आनंद विहार जाने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस जमालपुर से वाया मुंगेर-खगड़िया-बरौनी-पटना होते हुए जाएगी

नक्सली तांडव: बिहार-झारखंड में रेलवे पर हुए कई। बड़े हमले


घटना रात लगभग 12 बजे की बतायी जा रही है। उस वक्त गया- जमालपुर सवारी गाड़ी किऊल से जमालपुर की ओर आ रही थी। अभयपुर स्टेशन से यह ट्रेन 11.22 बजे रात में खुली लेकिन रात के दो बजे तक ट्रेन कहां खड़ी थी और किस स्थिति में थी, इसका कोई पता नहीं चल पा रहा था। घटना की सूचना मिलने के बाद जमालपुर के स्टेशन अधीक्षक सुधीर कुमार, आरपीएफ इंस्पेक्टर परवेज खान, जीआरपी थानाध्यक्ष कृपासागर एवं टीआई दिलीप कुमार सभी जमालपुर स्टेशन पर कैंप कर रहे हैं। बड़ी संख्या में जमालपुर स्टेशन पर पुलिस बलों को इकट्ठा किया जा रहा।

जमालपुर स्टेशन अधीक्षक ने मधुसूदन स्टेशन के रेलकर्मियों के लापता होने की पुष्टि की है। हालांकि गया-जमालपुर ट्रेन कहां खड़ी है, इसकी जानकारी जमालपुर कंट्रोल को नहीं मिल पा रही थी। अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल (अप एंड डाउन) ट्रेन ऑपरेशन को रोक दिया गया है। अंधेरा कम होने के बाद स्थानीय पुलिस प्रशासन के साथ मधुसूदन स्टेशन की तरफ सुरक्षाकर्मी सर्च ऑपरेशन चलाएंगे। इस बीच भागलपुर से रात 12 बजे खुली फरक्का एक्सप्रेस भी सुल्तानगंज स्टेशन पर रोक दी गई है।


डाउन ब्रह्मपुत्र मेल को भी किऊल से पहले ही किसी स्टेशन पर रोके जाने की सूचना है। जीआरपी मुख्यालय से रात में ही जिले के सभी जीआरपी थानों को इस घटना की सूचना दी गई है और पूरी संख्या में पुलिसकर्मियों के साथ स्टेशन पर मौजूद रहने का निर्देश दिया गया है।

20.12.2017.
(संकलन)

No comments:

Post a Comment

Search This Blog