शुक्रवार, 29 दिसंबर 2017

अतिक्रमण चिन्हिकरण व हटाने की कार्यवाही निरन्तर होः- जिला कलक्टर


श्रीगंगानगर, 29 दिसम्बर। जिला कलक्टर श्री ज्ञानाराम ने कहा कि  अतिक्रमण चिन्हित करने एवं हटाने की प्रक्रिया निरन्तर जारी रहनी चाहिए। 

यह भी सुनिश्चित किया जाये कि अतिक्रमण हटाने के बाद पुनः अतिक्रमण न हों। 

जिला कलक्टर शुक्रवार  29.12.2017 को कलेक्ट्रेट सभाहॉल में अतिक्रमण हटाने संबंधी बैठक में आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि नगरपरिषद व नगरविकास न्यास अपने-अपने क्षेत्र में अतिक्रमणों को चिन्हित करें तथा यह सुनिश्चित करें कि वाकई​ ही अतिक्रमण है। इसके पश्चात संबंधित को नोटिस तामिल करवाकर नियमानुसार अतिक्रमण हटाये जायें। अतिक्रमण हटाने में किसी प्रकार का व्यावधान न हो, इसके लिये पुलिस जाब्ता व मजिस्ट्रेट भी मौके पर होने चाहिए। 

उन्होंने कहा कि माननीय न्यायालय के निर्देशों की पालना सुनिश्चित की जाये। अतिक्रमण चिन्हिकरण के साथ-साथ अस्थाई अतिक्रमणों को तत्काल हटाना चाहिए। शहर साफ सुथरा हो, इसके लिये होर्डिग्स, पोस्टर, बैनर इत्यादि अनावश्यक रूप से नहीं लगे होने चाहिए। बैठक में बताया गया कि नगरपरिषद द्वारा 103 अतिक्रमण चिन्हित किये गये हैं  जिन्हें हटाने की कार्यवाही की जायेगी। 

नगरविकास न्यास द्वारा सूरतगढ़ मार्ग से चिन्हित किये गये अस्थाई अतिक्रमण हटाये गये। 

बैठक में एडीएम सर्तकता श्री वीरेन्द्र कुमार वर्मा, नगरपरिषद आयुक्त सुनीता चौधरी, न्यास सचिव श्री कैलाशचंद शर्मा, सीओसीटी श्री तुलसीदास पुरोहित सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

**********

सूरतगढ़ भी इसी जिले का हिस्सा है मगर यहां प्रशासन की जानबूझ कर ढील चल रही है।

*************


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह ब्लॉग खोजें