Wednesday, November 8, 2017

राजस्थान में चिकित्सा व्यवस्था जल्द बहाल हो , मूक दर्शक ना बने सरकार - डूंगरराम गेदर

 सूरतगढ़ - 8 नवंबर 2017. प्रदेश भर में सेवारत चिकित्सकों की हड़ताल पर जाने के कारण चरमराई स्वास्थ्य सेवा को बहाल करने के लिए जिला परिषद सदस्य डूंगरराम गेदर के नेतृत्व में उप जिला कलेक्टर के मार्फत राज्यपाल के नाम बसपा कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन दिया।  

ज्ञापन में बताया गया कि 6 नवंबर से प्रदेश भर के लगभग 10000 सेवारत चिकित्सक सामूहिक हड़ताल पर चले जाने के कारण प्रदेश भर में लगभग 20,000 से 25,000 भर्ती मरीजों व लाखों OPD मरीजों की जिंदगी दांव पर  लगी है। हड़ताल के मात्र दो ही दिनों में सैकड़ों मरीज इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे हैं । इन दिनों प्रदेश के कई  जिलों में डेंगू, चिकनगुनिया, वायरल बुखार का प्रकोप भी बढ़ता जा रहा है । प्रदेश भर में चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरह से  चरमरा गई है। यह स्थिति दिनों- दिन और बिगड़ती जाएगी। फिर भी सरकार मूक दर्शक बनकर वैकल्पिक व्यवस्था करने का ढोल पीट रही है । अगर जल्दी ही कोई उचित कदम नहीं उठाया गया और हालात यही बने रहे तो प्रदेश की जनता सड़कों पर आ जाएगी । ज्ञापन में राज्यपाल महोदय से निवेदन किया गया है कि आप बिगडी़ चिकित्सा व्यवस्था को बहाल करने के लिए सरकार को निर्देशित कर के सरकार व आंदोलित डॉक्टर्स के बीच वार्ता करवाएं और डॉक्टर्स की उचित मांगों को मानकर ,प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं बहाल करे । ज्ञापन देने में बसपा के नगर अध्यक्ष पवन सोनी, अमित कल्याणा, राकेश मेघवाल ,कुलदीप कुमावत ,लालचंद , सुनाम अली आदि शामिल हुए।

†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ†æ

 

No comments:

Post a Comment

Search This Blog