Friday, October 13, 2017

निरवाना ( सूरतगढ) में नशा मुक्ति कार्यशाला


सूरतगढ/श्रीगंगानगर, 13 अक्टूबर। जिला पुलिस अधीक्षक श्री हरेन्द्र महावर के निर्देशानुसार पुलिस थाना सूरतगढ़ द्वारा गांव निरवाना में नशा मुक्ति जनजाग्रति कार्यशाला एवं निशुल्क नशामुक्ति परामर्श शिविर का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में निरवानाके अटल सेवा केन्द्र में ग्रामीणों ने भाग लिया। कार्यशाला के मुख्य वक्ता नशामुक्ति विशेषज्ञ श्री रविकांत गोयल ने इस अवसर पर कहा कि नशे में खुशियां तलाशना अपने विनाश को आह्वान देना है। जीवन में बढ़ते तनाव निराशाओं और भौतिक संसाधन जुटाने की अंधी दौड़ में असफल रहने पर जो लोग नशे की चपेट में आ चुके है, वे अपने परिवार और समाज के लोगों की सलाह पर नशा छोड़े/दृढ संकल्प से बिना कोई नुकसान नशा छोड़ा जा सकता है। सामाजिक कार्यकर्ता श्री बनवारी लाल शर्मा ने विशिष्ठ अतिथि के रूप में संबोंधित करते हुए कहा कि जो लोग समय बिताने के लिये गलत संगत में पड़ कर नशा करते है, वे सामाजिक कार्य में जुटकर अपना कीमती समय समाज के विकास में लगाये ताकि एक स्वच्छ भारत का निर्माण किया जा सकें। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए थाना सदर सूरतगढ़ से जगमोहन ने कहा कि नशे को रोकने के लिये पुलिस का सहयोग करें व घर-घर में फेले नशे को जड़ से खत्म करें। समाज सेवी श्री विजय किरोड़ीवाल ने राजस्थान पुलिस द्वारा चलाये जा रहे हेलमेट अभियान के बारे में जागरूक किया। 


डॉ. राकेश ने नशे से शरीर के अंदर पन्प रही तरह-तरह की बिमारियों के बारे में अवगत करवाया व जिस घर में नशा है, वह मानसिक, शारीरिक व आर्थिक संकट से गुजरना पड़ता है। इस कार्यशाला में समाज सेवक मक्खन सिंह, डॉ. पुर्णमल, महिलाये एवं युवा उपस्थित रहें। कार्यक्रम के अंत में डॉ. रविकान्त गायेल ने भविष्य में नशा न करने की सभी को शपथ दिलायी व रोगियों की जांच कर उचित परामर्श दिया।

No comments:

Post a Comment

Search This Blog