Thursday, October 26, 2017

सेवानिवृत्त नायबतहसीलदार किशनलाल पारीक का देहांत: सुभाष चंद्र बोस संघ के अध्यक्ष रहे:


- करणीदानसिंह राजपूत -

किशनलाल पारीक जी का  70 वर्ष की आयु पूर्ण होते निधन हो गया और 26 अक्टूबर 2017 को उनका अंतिम संस्कार किया गया।

 पारीक राज्यसेवा में पटवारी से नायब तहसीलदार पद तक पहुंचकर सेवानिवृत्त हुए। राज्य कर्मचारी संगठन के सूरतगढ़ में अध्यक्ष भी रहे।अध्यक्ष उनके  अध्यक्ष काल के दौरान काफी लंबी हड़ताल भी चली थी। उन्होंने राज्य सरकार की सेवा से पूर्व एक व्यवसायिक के यहां भी कार्य किया।

समाज सेवा में अग्रणीय रहे। ब्राह्मण धर्मशाला के निर्माण में उनका बड़ा योगदान रहा।  

सूरतगढ़ में नेताजी सुभाष चंद्र बोस संघ के अध्यक्ष भी रहे। नेताजी की जयंती पर सुभाष चौक पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा के पास में मनाए जाने वाले समारोहों में शामिल होते रहे और संदेश भी देते रहे थे। नेताजी सुभाष चंद्र बोस संघ उत्साही नौजवानों का संघ था। (मैं भी संघ का अध्यक्ष रहा था। मेरे अध्यक्षीय कार्यकाल में सन 1972 में पाकिस्तान ने युद्ध थोपा था। श्रीकरणपुर सीमा के परिवार सूरतगढ़ आए,तब उनके रहने खाने आदि की सूचनाएं देने में संघ की भूमिका प्रमुख थी। मुझे अध्यक्ष पद किशनलाल पारीक ने सौंपा था। मेरे बाद में भी अन्य अध्यक्ष रहे)

स्व. किशनलाल पारीक के  कार्य काफी हैं। 

उनके दो पुत्र हैं कन्हैयालाल पारीक और मुरलीधर पारीक। दोनों व्यावसायिक क्षेत्र में हैं। मुरलीधर पारीक  शिक्षण संस्थान चलाते हैं और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं में प्रमुख हैसियत रखते हैं।

स्व.पारीक ने दीपावली 2017 की रामरमी पर  20.10.2017 को मित्रों के साथ फोटो खिंचवाई,जो यहां दी गई है।


No comments:

Post a Comment

Search This Blog