Friday, October 20, 2017

पुलिस कर्मियों की जांच होगी जो श्रीगंगानगर जोधपुर में अचानक छुट्टी पर गए थे

जयपुर

राजस्थान पुलिस ने एक साथ छुट्टी पर जाने वाले  250 पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए हैं। यह जांच आदेश मंगलवार 17 अक्टूबर 2017 को जारी किए गए।

इसी के साथ गृहमंत्री राजनाथ सिंह को सलामी देने के लिए नियुक्त किये गये कॉन्स्टेबल की भी पहचान की जाएगी। बता दें कि सैलरी में कटौती के एक फर्जी वॉट्सऐप मेसेज के चलते करीब 250 सिपाही सोमवार 16 अक्टूबर 2017 को अचानक छुट्टी पर चले गए थे।

कहा जा रहा है कि इनमें से कुछ लोगों को गृहमंत्री राजनाथ सिंह के जोधपुर दौरे पर गार्ड ऑफ ऑनर के लिए उपस्थित होना था। सिपाहियों की इस अचानक छुट्टी के बाद प्रशासन ने आनन-फानन में दूसरे पुलिसकर्मियों को गार्ड ऑफ ऑनर की जिम्मेदारी सौंपी। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, 'जोधपुर और श्रीगंगानगर में कई पुलिसकर्मी बिना मंजूरी मिले ही छुट्टी पर चले गए,जो कि मंगलवार को वापस ड्यूटी पर आ गये हैं।' अपने प्रदर्शन को जारी रखते हुए 23 पुलिसकर्मियों ने भरतपुर में अपने सिर भी मुंडवा लिया है।

राजस्थान पुलिस हेडक्वार्टर ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को प्रदर्शन कर रहे कॉन्स्टेबल से बात करने के लिए कहा था। एडिशनल डीजीपी एनआरके रेड्डी ने बताया कि जोधपुर में छुट्टी पर गये सभी कॉन्स्टेबल वापस ड्यूटी पर आ गये। वहीं श्रीगंगानगर में भी अधिकतर पुलिसकर्मी ड्यूटी पर लौट आये हैं। 

डीजीपी अजीत सिंह ने सोमवार को पत्र जारी कर सैलरी कटौती की अफवाह को नजरअंदाज करने को कहा था। अजीत सिंह द्वारा जारी पत्र में लिखा था, 'पिछले कुछ दिनों से सैलरी कटौती को लेकर अफवाहें फैलायी जा रही हैं। पुलिस हेडक्वार्टर ने राज्य सरकार के सामने इस मामले को उठाया। मैं सभी को निश्चित कर देना चाहता हूं कि सरकार द्वारा इस पर नजर बनाई जा रही है।'नो

पुलिसकर्मियों को समझाने की कोशिश

सूत्रों ने बताया कि कुछ गैर विभागीय लोगों ने ये अफवाह फैलाई हैं। डीजीपी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस हेडक्वार्टर सभी जिलों के दोषी पुलिसकर्मियों की सूची तैयार कर रहा है। एक अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में बताया कि प्रदर्शन जोधपुर और श्रीगंगानगर जैसे इलाकों में सीमित है, हम उनसे समझाने की कोशिश कर रहे हैं और बाकी जगह स्थिति कंट्रोल में है।

(नवभारत टाइम्स)

No comments:

Post a Comment

Search This Blog