Friday, October 27, 2017

छत्तीसगढ़ के भाजपा मंत्री की सैक्स सीडी है या नहीं? पत्रकार की गिरफ्तारी फिर क्यों? देश में हंगामा

- करणीदानसिंह राजपूत -

छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार के मंत्री राजेश मूणत की सेक्स CD है या नहीं है यह पूरी जांच से मालूम होगा लेकिन वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की सूर्योदय से पूर्व की गई गिरफ्तारी के बाद देशभर में हंगामा मचा हुआ है। पत्रकार का कहना है कि सीडी मंत्री की होने के कारण उसे गिरफ्तार किया गया।  मंत्री का कहना है कि CD देखी है और वह फर्जी है। इसके अलावा उन्होंने कहा है कि उन्हें किसी ने ब्लेकमैल नहीं किया और न फोन किया। तो फिर पत्रकार को गिरफ्तार करने के हालात कैसे हुए और जिस तरीके से छत्तीसगढ़ की पुलिस ने उत्तर प्रदेश की पुलिस से मिलकर पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी की,वह आश्चर्यजनक रही। अनेक पत्रकारों ने इसे प्रेस पर हमला बताया है।


जानिए की यह सब क्या है?


‌सेक्स सीडी मामले में छत्तीसगढ़ के मंत्री राजेश मूणत सामने आये हैं. उन्होंने कहा कि विनोद वर्मा की जिस सेक्स सीडी के मामले में गिरफ्तारी हुई है और जिस कथित सेक्स सीडी के बारे में चर्चा हो रही है, वह पूरी तरह से फर्जी है.

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के एक मंत्री​ की कथित सेक्स सीडी के मामले में पुलिस ने शुक्रवार 27.10.2017 को वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया है. वर्मा ने दावा किया है कि उनके पास छत्तीसगढ़ के एक मंत्री का सेक्स टेप था, जिसके कारण उन्हें गिरफ्तार किया गया है। रायपुर के पंडरी थाने में प्रकाश बजाज नामक एक व्यक्ति ने कल 26.10.2017 को एक रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी कि उन्हें फोन कर उनके आका की एक सेक्स सीडी के नाम पर बदनाम करने की धमकी दी गई है.

इसी मामले में सफाई देने के लिये भाजपा के नेता और मंत्रियों ने रायपुर में प्रेस कांफ्रेस की.

छत्तीसगढ़ में पीडब्‍ल्‍यूडी, आवास एवं पर्यावरण और परिवहन मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि राजनीतिक जीवन के 24 साल हो चुके हैं. छोटे पद से लेकर बड़े पद पर रहा. राजनीति में ऐसी गिरावट मैंने नहीं देखी.

उन्होंने कहा कि किसी की सीडी है तो 500 सीडी बनाने का औचित्य क्या है? मुख्यमंत्री से बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष से इस मामले पर जांच कराने को कहूंगा. मूणत ने कहा कि उनके पास किसी का भी फोन नहीं आया और ना ही उन्हें ब्लैकमेल करने की कोशिश की गई.

रायपुर से विधायक और युवा नेता राजेश मूणत ने कहा कि ये मेरी चरित्र हत्या का प्रयास है. जिस भी एजेंसी से जांच कराना चाहें, वो कर सकते हैं.

मंत्री मूणत ने कहा कि मेरे उपर जो चीज दिखा रहे हैं, घिनौना कृत्य करने की कोशिश की, उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिये. मूणत ने कहा कि पूरी की पूरी सीडी फर्जी है. मैंने सीडी देखी है. देखकर ही कह रहा हूं, सीडी फर्जी है, फर्जी है, फर्जी है.


इधर पत्रकारों ने जब भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक से पूछा कि क्या सीडी कांड की जांच होने तक राजेश मूणत इस्तीफा देंगे तो उन्होंने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की.


रायपुर (छत्तीसगढ़)। सेक्स सीडी मामले पर छत्तीसगढ़ के पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत ने अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा कि जिस सीडी पर विवाद हो रहा वो बिल्कुल फर्जी सीडी है। उन्होंने कहा कि मैंने खुद सीडी देखी है। ये पूरी तरह से फर्जी है। बता दें कि राजेश मूणत पर सेक्स सीडी का आरोप है। मुझे करीब 34 साल राजनीति में हो गए हैं। इस सीडी की जितनी जल्दी हो जांच कराई जाए। इस सीडी का सच सामने आना चाहिए। भारतीय जनता पार्टी को घेरने के लिए जिस तरह से सीडी को लेकर सवाल उठाए गए हैं, इसकी जल्द से जल्द जांच कराई जानी चाहिए। उन्होंने छत्तीसगढ़ के सीएम से इस सीडी की किसी भी एजेंसी से जांच कराने की बात कही है।


बीजेपी ने इस मामले में सीधे तौर पर विनोद वर्मा पर सवाल उठा दिए। बीजेपी विधायक शिवरतन यादव ने कहा कि विनोद वर्मा पत्रकार हैं या कांग्रेस के एजेंट है। बीजेपी विधायक ने कहा कि हम इस मामले की निंदा करते हैं। पूरा मामला ब्लैकमेलिंग का है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने पूरे मामले में मुख्यमंत्री से जांच का आदेश देने की मांग की है। बीजेपी विधायक ने भी कहा कि सीडी बिल्कुल फर्जी है। इसकी प्रामाणिकता की जांच होनी चाहिए।


इससे पहले पत्रकार विनोद वर्मा ने अपनी गिरफ्तारी के बाद पहली प्रतिक्रिया दी थी कि मेरे पास मंत्री की सेक्स सीडी थी, इसलिए मुझे निशाना बनाया गया। विनोद वर्मा ने कहा कि मुझे फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार मुझसे खुश नहीं है मेरे पास एक पेन ड्राइव है, सीडी के साथ मेरा कोई लेना देना नहीं है। मुझे फंसाया जा रहा है। वर्मा ने कहा कि मेरे पास राज्य के पीडब्ल्यूडी मंत्री राजेश मूणत की सेक्स सीडी थी जिसके चलते सरकार खुश नहीं थी। वर्मा ने कहा कि उनके पास बहुत बड़ा मामला है जिसे दबाने के लिए उन्हें गिरफ्तार किया गया। सीडी सार्वजनिक तौर पर मौजूद है।

++++++

नई दिल्ली

जाने-माने पत्रकार विनोद वर्मा को छत्तीसगढ़ पुलिस ने उनके गाजियाबाद के इंदिरापुरम इलाके में स्थित घर से गिरफ्तार किया है। रायुपर पुलिस की एक टीम ने वर्मा को ब्लैकमेलिंग और उगाही के केस में गिरफ्तार किया है।  विनोद वर्मा वरिष्ठ पत्रकार हैं और बीबीसी के लिए काम कर चुके हैं। फिलहाल वह छत्तीसगढ़ कांग्रेस से जुड़े हुए हैं। 

अपनी गिरफ्तारी के बाद विनोद वर्मा ने हमारे सहयोगी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ के साथ बातचीत में दावा किया कि उनके पास छत्तीसगढ़ सरकार में मंत्री राजेश मूणत की सेक्स सीडी है इसलिए सरकार उन्हें फंसा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि यह सीडी पहले से ही पब्लिक डोमेन में है और उनका इससे कुछ लेना-देना नहीं है।

दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ के लोक निर्माण मंत्री मंत्री राजेश मूणत ने विनोद वर्मा के दावों को खारिज किया है। मूणत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि उन्हें सोशल मीडिया के जरिए सीडी के बारे में जानकारी मिली और सीडी पूरी तरह फर्जी है। मंत्री ने कहा कि जिस भी एजेंसी से जांच करानी हो जांच हो जाए, वह जांच के लिए तैयार हैं। छत्तीसगढ़ बीजेपी ने पत्रकार विनोद वर्मा पर सवाल उठाते हुए पूछा है कि वर्मा पत्रकार हैं या कांग्रेस के एजेंट। 


जब मूणत से यह पूछा गया कि क्या वह उसी तरह इस्तीफा देंगे जिस तरह दिल्ली सरकार में मंत्री रहे संदीप कुमार ने सेक्स स्कैंडल के बाद इस्तीफा दिया तो उन्होंने कहा कि संदीप कुमार के खिलाफ बीजेपी ने पुख्ता तथ्य रखे थे। मूणत ने छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रमुख भूपेश बघेल को चुनौती दी कि दम हो तो वह उनके खिलाफ पुख्ता तथ्य रखें।

वर्मा के खिलाफ छत्तीसगढ़ के पंडरि थाने में आईपीसी की धारा 384, 506 और आईटी ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है, जिसके आधार पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया। उन पर एक नेता को ब्लैकमेल करके अवैध उगाही करने का आरोप है। पुलिस को वर्मा के घर से करीब 500 सीडी मिली हैं जिन्हें जब्त कर लिया गया है। इसके अलावा पुलिस ने 2 लाख रुपये कैश भी जब्त किया है। पुलिस ने एक लैपटॉप और डायरी भी अपने कब्जे में लिया है।

वर्मा को गिरफ्तार करने वाली रायपुर पुलिस टीम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि प्रकाश बजाज नाम के एक शख्स की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि बजाज ने अपनी शिकायत में कहा है कि खुद को विनोद वर्मा बताने वाले एक शख्स ने उसे फोन पर धमकी दी और किसी अश्लील सीडी का हवाला देकर ब्लैकमेल करने की कोशिश की। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में कहा है कि फोन करनेवाले शख्स ने उससे कहा कि उनके पास उसके आका की सीडी है और अगर मांगें नहीं मानी गई तो वह उन सीडी को बांट देगा। 

++++++

रायपुर पुलिस ने बताया कि विनोद वर्मा के बारे में सुराग एक सीडी बनानेवाले से मिला। पुलिस का दावा है कि सीडी बनानेवाले ने ही उसे विनोद वर्मा का नंबर दिया और बताया कि उन्होंने सेक्स सीडी की 1000 प्रतियां बनवाई हैं। रायपुर पुलिस ने बताया कि वर्मा के पास से 500 सीडी बरामद हुई है और ये एक ही की कॉपी थी।

ऐसा आरोप है कि वर्मा सेक्स सीडी के जरिए नेता को ब्लैकमेल कर रहे थे और उनसे अवैध उगाही की कोशिश में थे। कांग्रेस ने वर्मा की गिरफ्तारी का तीखा विरोध किया है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने भी आरोप लगाया है कि वर्मा की गिरफ्तारी के पीछे मंत्री के सेक्स स्कैंडल का मामला है। वहीं, बीजेपी ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज किया

+++++++

 वर्मा इडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के सदस्य भी हैं. वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश उर्मिल ने भी फेसबुक पोस्ट के जरिए वर्मा की गिरफ्तारी की जानकारी दी है. उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 384 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

++++++

विनोद इन दिनों छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के सोशल मीडिया प्रभारी हैं.

+++++++

विनोद वर्मा की गिरफ्तारी की निंदा आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने भी की है. उन्होंने ट्वीट किया, सुबह के 3.30 बजे रहस्यमयी परिस्थितियों में बीबीसी और अमर उजाला से जुड़े रहे पत्रकार विनोद वर्मा को गिरफ्तार किया गया है. यह प्रेस पर हमला है।


पत्रकार विनोद वर्मा

No comments:

Post a Comment

Search This Blog