Monday, September 11, 2017

भाजपा महिला विधायक ने सांसद को बाल नोच लेने की धमकी दी


राजस्थान की भाजपा विधायक राजकुमारी जाटव ने सांसद मनोज राजोरिया को गालियां निकाली और बाल नोचने की धमकी भी दे डाली।करौली जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय में 8 सितंबर शाम को  जिले के प्रभारी मंत्री जसवंत यादव की अध्यक्षता में होने वाली समीक्षा बैठक के दौरान यह सब हुआ । बैठक में सांसद और सभी विधायक एवं अधिकारी मौजूद थे। बैठक में सांसद मनोज राजोरिया बिजली विभाग के अधिकारी बी.एस.मीणा के कामकाज की तारीफ कर रहे थे। इसी बीच विधायक राजकुमारी जाटव ने मीणा की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए गलत काम करने और भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। मामला बढ़ता देखकर प्रभारी मंत्री ने बीच में ही बैठक खत्म कर दी। इसके बाद सभी जनप्रतिनिध और वरिष्ठ अधिकारी जिला कलेक्टर के कमरे में  अाकर बैठे गए। इसी दौरान प्रभारी मंत्री ने विधायक राजकुमारी जाटव से कहा कि जब सांसद और अन्य लोग मीणा की तारीफ कर रहे हैं तब तुम क्यों नाराज  हो ? इस पर विधायक उत्तेजित हो गई और सांसद राजोरिया को गंदी-गंदी गालियां देने लगी । उन्होंने सांसद से कहा "तू चोर है,चोरों की दलाली करता है,तू मेरे निर्वाचन क्षेत्र हिंडौन में आना तेरे बाल नोच लूंगी " । उन्होंने सांसद की ओर आगे बढ़ते  हुए कहा-"तू समझता क्या है अपने आप को,मै तूझे ठीक कर दूंगी"। राजोरिया ने भी एक-दो बार विधायक को गाली देने का प्रयास किया लेकिन प्रभारी मंत्री ने उन्हे शांत करा दिया । वहां मौजूद जनप्रतिनिधि और अधिकारी विधायक को समझाते रहे,लेकिन वे सांसद को गालियां देती रही।अंतत: प्रभारी मंत्री और कलेक्टर कमरे से सांसद को बाहर लेकर आए ।इस बारे में सांसद राजोरिया का कहना है कि पूरा घटनाक्रम सभी के सामने हुंआ है,सभी ने देखा है मुझे इस बारे में कुछ भी नहीं कहना। वहीं प्रभारी मंत्री यादव ने कहा कि मै पूरे घटनाक्रम की जानकारी पार्टी नेतृत्व को दूंगा,ऐसा नहीं होना चाहिए था । खास बात यह है कि भाजपा के संगठन महामंत्री रामलाल इन दिनों राजस्थान में दौरा कर पार्टी नेताओं एवं जनप्रतिनिधियों को अनुशासन का पाठ पढ़ा रहे हैं।ऐसा की पाठ उन्होंने शुक्रवार 8 सितंबर को करौली जिले में पार्टी के सांसदों और विधायकों को पढ़ाया। अनुशासन का ज्ञान देकर रामलाल तो करौली से रवाना हुए ही थे कि कुछ घंटों बाद ही यह विधायक सांसद वाली घटना हो गई।

टिप्पणी-भाजपा अनुशासन और संस्कार वाली पार्टी कहलाती है तब विधायक के इतने रोष में आने काम कारण जरूर होगा इसलिए उस कारण को सामने लाना चाहिए। समीक्षा बैठकों में काम की समीक्षा हो किसी भी अधिकारी की व्यक्तिगत​ बड़ाई नहीं होनी चाहिए।


640" />

No comments:

Post a Comment

Search This Blog