Saturday, September 23, 2017

चीन का सामान बिकेगा: टैक्स चुका कर बेचा जाता है: व्यापारी के बजाय सरकार का विरोध करें


श्रीगंगानगर। श्रीगंगानगर चैम्बर ऑफ कॉमर्स के मुख्य संरक्षक जयदीप बिहाणी ने शनिवार 23 सितंबर को एक प्रैस बयान जारी कर कहा कि इन दिनों शहर में सक्रिय हुए एंटी-चायनीज कैंपेन के स्वयंभू नेता व्यापारियों के हितों पर कुठाराघात कर रहे हैं। लम्बे समय से मंदे की मार झेल रहे स्थानीय व्यापारियों ने त्योहारी सीजन शुरू होने पर अपनी जमा-पूंजी का निवेश कर बाजार में रौनक लौटने की आस लगाई है, ताकि घाटे व नुकसान से उबरा जा सके लेकिन व्यापारियों की उम्मीदों पर पानी फेरने के लिए चीनी सामान के बहिष्कार का राग अलापने वाले सक्रिय हो गए हैं। बिहाणी के अनुसार चायनीज सामान की बिक्री पर रोक लगाने के लिए व्यापारियों का नहीं, बल्कि सरकारों का विरोध होना चाहिए। व्यापारी तो सरकार द्वारा इस सामान पर लगाए जा रहे तमाम तरह के शुल्क व कर चुकाकर स्टॉक भर रहे हैं और इस सामान के विरोध का माहौल बनने से व्यापारी बर्बाद हो जाएंगे।

बिहाणी के अनुसार भारत-चीन के संबंधों में आई खटास एवं सीमा विवाद जैसे राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर महज दीपावली की लडिय़ों व छुटपुट खिलौनों की खरीद नहीं करने से केवल स्थानीय स्तर के छोटे व मध्यम व्यापारियों को नुकसान होता है। इससे उच्च स्तर पर कोई फर्क नहीं पड़ता। इस तरह के मामलों में सरकार की नीतियों पर मंथन किया जाना ज्यादा बेहत्तर है, क्योंकि सरकारें तो बड़ी-बड़ी चायनीज कंपनियों को अरबों-खरबों रुपए के ठेके दे रही हैं और यहां के छुटभैये नेता लडिय़ों-फुलझडिय़ों के विरोध में उतरे हुए हैं। देश के अनेक राज्यों में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट्स के लिए चीनी कंपनियों से करार किए गए हैं, वहीं करोड़ों रुपए की लागत से इंड्रस्ट्रियल पार्क बनाने जैसे काम भी चायनीज फर्मांे को दिए जा रहे हैं। बिहाणी ने कहा कि हैरानीजनक रूप से चीनी सामान का बहिष्कार करने वाले इस बारे में अपनी समझ बढ़ाने की बजाए आमजन को ज्ञान बांटने निकल रहे हैं, जिससे दिग्भ्रमित होकर स्थानीय खरीदार अपने व्यापारी भाइयों को अनजाने में ही नुकसान पहुंचा रहे हैं। स्थानीय व्यापारियों के हितों पर होने वाला यह कुठाराघात श्रीगंगानगर चैम्बर ऑफ कॉमर्स बर्दाश्त नहीं करेगा और ऐसे स्वयंभू नेताओं को व्यापारियों के मामलों से दूर रहने की हिदायत देते हुए आगामी रणनीति बनाई जाएगी। बिहाणी ने कहा कि श्रीगंगानगर चैम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष विजय जिन्दल व महामंत्री तेजेंद्रपालसिंह 'टिम्मा' के नेतृत्व में सभी व्यापारिक संगठन एक मंच पर आकर एंटी-चायनीज लॉबी का विरोध करेंगे, जो सस्ती लोकप्रियता पाने के लिए सैकड़ों व्यापारियों के परिवारों की रोजी-रोटी पर संकट पैदा कर रहे हैं। 

No comments:

Post a Comment

Search This Blog