Thursday, August 24, 2017

हरियाणा के सिरसा में कर्फ्यू: घरों से बाहर न निकलें: सेना को पत्र

सिरसा 24अगस्त2017. डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर साध्वियों से बलात्कार के मामले में 25 अगस्त (शुक्रवार) को पंचकुला सीबीआई कोर्ट का फ़ैसला आना है. लेकिन दो दिन पहले से ही उनके अनुयायी बड़ी संख्या में चंडीगढ़ से लेकर पंचकुला तक इकट्ठा हो गए हैं. इसे देखते हुए सरकार ने सिरसा में रात 10 बजे से कर्फ्यू लगाने के आदेश जारी कर दिए हैं। जिलाधिकारी प्रभजोत सिंह, पुलिस अधीक्षक अश्विन शैणवी ने यह आदेश जारी किए. प्रशासन पूरी तरह से हाईअलर्ट पर है और हरियाणा-पंजाब के अन्य कई जगहों पर कर्फ्यू जैसे हालात हैं. 

कानून व्यवस्था की स्थिति का जायजा लेने के बाद अधिकारियों ने लिया फैसला. सिरसा शहर व नजदीकी गांव बाजेकां, शाहपुर बेगु तथा नेजियाखेड़ा में कर्फ्यू लगाने के आदेश दिये. आज 24 अगस्त को रात्रि के 10 बजे के बाद उपरोक्त गांवों व सिरसा शहर में कोई भी व्यक्ति घर से बाहर न निकले. कानून व्यवस्था की स्थिति को मद्देनजर रखते हुए सेना को बुला लिया गया है. आदेशों की कड़ाई से पालना करने के निर्देश दिए.

हरियाणा और पंजाब सरकार ने सेना को चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी में संभावित खतरे को लेकर सेना को जानकारी दी गई है. इस चिट्ठी में कहा गया है कि  ज़रूरत पड़ने पर सेना को बुलाया जा सकता है. दोनों ही राज्य सरकारों द्वारा इस चिट्ठी में कहा गया है कि शांति ब्यवस्था बनाये रखने के लिये वह सेना से अपील कर सकते हैं. सूत्रों का कहना है कि फिलहाल सेना बुलाने पर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है. उधर, चिट्ठी के बाद स्थानीय प्रशासन सेना के संपर्क में है. हर घटना का अपडेट दे रही है. स्थानीय प्रशासन अभी हालात का जायजा ले रहा है. 


चंडीगढ़, हरियाणा और पंजाब में पैरामिलिट्री फॉर्सेज की 167 कंपनिया तैनात हैं और 10 की और मांग की गई है. एक कंपनी में 100 जवान और अफसर हैं. 

सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए पंजाब और हरियाणा सरकार ने संयुक्त फैसले में 72 घंटे के लिए मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद कर दी है. दरअसल, अफवाहों के कारण भी स्थिति खराब हो जाती है, जिसके चलते दोनों राज्यों की सरकारों ने यह फैसला किया है.

No comments:

Post a Comment

Search This Blog